जब राहुल द्रविड़ ने गेंद से बरपाया कहर, सबसे ज्यादा विकेट लेकर रखी टीम इंडिया की जीत की नींव

राहुल द्रविड़ ने कुल 509 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. इसमें उन्होंने 5 विकेट हासिल किए थे. (Rahul Dravid Twitter)

राहुल द्रविड़ ने कुल 509 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले. इसमें उन्होंने 5 विकेट हासिल किए थे. (Rahul Dravid Twitter)

राहुल द्रविड़ ने अपने 16 साल लंबे अंतरराष्ट्रीय करियर में 509 मैच खेले. लेकिन 51 ओवर ही गेंदबाजी की. उनके खाते में सिर्फ पांच विकेट हैं. लेकिन उन्होंने साल 2000 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एक मैच में गेंदबाजी से कमाल दिखाया था.

  • Share this:

नई दिल्ली. राहुल द्रविड़ की पहचान एक मजबूत बल्लेबाज और अच्छे विकेटकीपर के रूप में रही है. बेमिसाल तकनीक के कारण ही द्रविड़ को टीम इंडिया की 'दीवार' कहा जाता था. अंतरराष्ट्रीय़ करियर में कभी भी द्रविड़ को उनकी गेंदबाजी की वजह से नहीं जाना गया. द्रविड़ ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में टेस्ट, वनडे और टी20 मिलाकर कुल 509 मैच खेले थे. इसमें उन्होंने 51 ओवर गेंदबाजी की और वो पांच विकेट हासिल कर पाए. द्रविड़ ने ये सभी विकेट 2001 से पहले लिए. क्योंकि उसके बाद उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में गेंदबाजी नहीं की.

द्रविड़ के16 साल लंबे करियर में एक मैच है, जिसमें उन्होंने बल्लेबाजी नहीं, बल्कि गेंदबाजी के दम पर टीम की जीत की नींव रखी थी. ये मुकाबला साल 2000 में दक्षिण अफ्रीका के भारत दौरे पर खेला गया था. कोच्चि में हुए इस वनडे में द्रविड़ ने 43वें ओवर में गेंदबाजी की थी. उन्होंने इस ओवर में दक्षिण अफ्रीका के दो विकेट झटके थे. उनकी गेंदबाजी के बदौलत ही भारत बड़े स्कोर की तरफ बढ़ रहे दक्षिण अफ्रीका को 301 रन के स्कोर पर रोक पाया और बाद में टीम इंडिया ने जीत के लक्ष्य को दो गेंद रहते पूरा कर लिया.

द्रविड़ ने मैच में दो विकेट लिए

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच साल 2000 में पांच वनडे की सीरीज खेली थी. पहला वनडे कोच्चि में था. पहले बल्लेबाजी करते हुए गैरी कर्स्टन और हर्शल गिब्स की सलामी जोड़ी ने दक्षिण अफ्रीका को धमाकेदार शुरुआत दिलाई. दोनों ने पहले विकेट के लिए 235 रन जोड़ लिए थे. इसी स्कोर पर सुनील जोशी ने गिब्स को आउट कर खतरनाक दिख रही इस जोड़ी को तोड़ा. गिब्स 111 रन बनाकर पवेलियन लौटे. हालांकि, एक विकेट से बात नहीं बननी थी. टीम इंडिया को मैच में वापसी के लिए दो-तीन विकेट और चाहिए थे. ऐसे में कप्तान सौरव गांगुली ने बड़ा दांव खेलते हुए गेंद राहुल द्रविड़ को थमा दी.
विराट की बेटी वामिका की फोटो क्लिक करने पर भड़के फैंस, बोले- बच्चे का दम घुट रहा होगा

युजवेंद्र चहल की पत्नी ने साड़ी पहन कर किया ऐसा डांस, दीवाने हुए फैन्स- VIDEO

द्रविड़ ने एक ओवर मेडन भी फेंका था



द्रविड़ दक्षिण अफ्रीका की पारी का 43वां ओवर फेंकने आए. उन्होंने ओवर की दूसरी गेंद पर कर्स्टन (115) और फिर आखिरी गेंद पर लांस क्लूजनर(0) को पवेलियन की राह दिखाई. दो महत्वपूर्ण विकेट ने भारत की मैच में वापसी कराई और टीम इंडिया मेहमान टीम को 301 रन के स्कोर पर रोकने में सफल रही. बाद में भारत ने 49.4 ओवर के भीतर जीत का लक्ष्य हासिल कर लिया. मैच में द्रविड़ ने 9 ओवर में 43 रन देकर दो विकेट लिए. उन्होंने एक ओवर मेडन भी फेंका था. मैच में दक्षिण अफ्रीका के तीन ही विकेट गिरे थे. इसमें से दो द्रविड़ के खाते में गए थे. उन्होंने मैच में 17 रन भी बनाए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज