अपना शहर चुनें

States

जब राहुल द्रविड़ ने अपने ही गेंदबाज के खिलाफ दिए थे विरोधी बल्लेबाज को टिप्स, जानें क्या है मामला

जब राहुल द्रविड़ ने जिंब्बावे के ततेंदा तायबू की मदद अनिल कुंबले के खिलाफ की थी, (PIC : PTI)
जब राहुल द्रविड़ ने जिंब्बावे के ततेंदा तायबू की मदद अनिल कुंबले के खिलाफ की थी, (PIC : PTI)

केविन पीटरसन के इस ट्वीट पर जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ततेंदा तायबू (Tatenda Taibu) ने पुरानी यादों को ताजा करते हुए बताया कि किस तरह राहुल द्रविड़ ने भारत के दौरै पर उनकी मदद की थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 26, 2021, 3:14 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया की सरजमीं पर लगातार दूसरी बार बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी (Border Gavaskar Trophy) जीतने के बाद दिग्गज बल्लेबाज और पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) को सोशल मीडिया पर इस ऐतिहासिक जीत के लिए खूब बधाइयां मिलीं. 'जेंटलमैन गेम' के आइकन की शुभमन गिल, ऋषभ पंत, पृथ्वी शॉ और वाशिंगटन सुंदर जैसे युवाओं को तैयार करने के लिए खूब प्रशंसा हुई. युवा खिलाड़ियों ने विराट कोहली की अनुपस्थिति में भारत की जीत सुनिश्चित की. सोशल मीडिया पर राहुल चर्चा का केंद्र बन गए. इस बीच इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन (Kevin Pietersen) ने राहुल द्रविड़ की पुरानी ईमेल शेयर की, जब उन्होंने पूर्व इंग्लिश खिलाड़ी को स्पिन खेलने के तरीके समझाए थे.

केविन पीटरसन ने डॉम सिब्ले और जैक क्राउले के लिए एक ट्वीट किया था, जो श्रीलंका दौरे पर था. पीटरसन ने ट्वीट करते हुए कहा था कि उन्हें उस ईमेल को खोजना चाहिए, जो उन्हें राहुल द्रविड़ ने किया था और जिसमें स्पिन खेलने के तरीके बताए थे. इसके बाद पीटरसन ने अपनी आत्मकथा- केपी द ऑटोबायोग्राफी के वे पन्ने भी शेयर किए, जिनमें इन ईमेल्स का जिक्र किया गया है.

इंग्‍लैंड को पूर्व कप्‍तान की सलाह, कड़ी चुनौती के लिए तैयार रहें, हार न मानने वाले भारत से है मुकाबला



पीटरसन के इस ट्वीट पर जिंबाब्वे के पूर्व कप्तान ततेंदा तायबू (Tatenda Taibu) ने पुरानी यादों को ताजा करते हुए बताया कि किस तरह राहुल द्रविड़ ने भारत के दौरै पर उनकी मदद की थी. तायबू ने बताया कि जब भारत और जिंबाब्वे के बीच 2002 में दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जा रही थी, तब राहुल द्रविड़ ने उन्हें बताया था कि अनिल कुंबले के खिलाफ कैसे खेलना है.
उस सीरीज में ततेंदा तायबू दोनों मैचों को मिलाकर कुल 24 रन ही बना पाए थे. अनिल कुंबले ने तीन बार उन्हें आउट किया था. इसके बाद राहुल द्रविड़ ने उन्हें बैटिंग के कुछ टिप्स दिए थे. द्रविड़ ने संघर्ष कर रहे जिंबाब्वे के बल्लेबाज को यह सलाह दी थी कि वे गेंद को पैड पर खेलें.

दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्‍टेडियम में देवदत्‍त पडिक्‍कल का कमाल, 11 रन बनाकर भी नाम किया खास रिकॉर्ड

ततेंदा तायबू ने केविन पीटरसन के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए बताया, ''अनिल कुंबले ने मुझे 4 में से 3 बार आउट किया. भारत में खेले ये पहले दो टेस्ट थे. तब मुझे द्रविड़ ने मैच ड्रिंक्स के बाद सलाह दी कि मैं उन्हें मीडियम पेसर की तरह खेलूं, लेकिन बल्ले को पैड के सामने रखूं और सबसे जरूरी है कि मैं गेंद को अंतिम समय तक देखूं. ये एक ऐसी चीज है, जो काफी आसानी से सीखी जा सकती है.''

केविन पीटरसन ट्वीट


ततेंदा तायबू ट्वीट


तायबू ने 18 साल की उम्र में ही जिंबाब्वे के लिए 2001 में अपना डेब्यू किया था. उन्होंने कुल 28 टेस्ट मैच खेले और 30.31 की औसत से 1546 रन बनाए. उनके नाम एक टेस्ट शतक दर्ज है. वहीं, केविन पीटरसन ने बताया कि उनके बल्ले में स्क्रैच पड़ गए थे, तब मैं राहुल द्रविड़ की सलाह लेने गया. द्रविड़ ने मुझे बहुत से टिप्स दिए कि कैसे स्पिनरों को खेलना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज