• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • क्रिकेट के मैदान के साथ ही बड़े पर्दे के भी नायक हैं सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्‍कर सहित ये दिग्‍गज क्रिकेटर्स

क्रिकेट के मैदान के साथ ही बड़े पर्दे के भी नायक हैं सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्‍कर सहित ये दिग्‍गज क्रिकेटर्स

सचिन तेंदुलकर और संदीप पाटिल की पहली मुलाकता शूटिंग के दौरान ही हुई थी (फाइल फोटो)

सचिन तेंदुलकर और संदीप पाटिल की पहली मुलाकता शूटिंग के दौरान ही हुई थी (फाइल फोटो)

सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) कॉलेज बंक करके शूटिंग करने गए थे तो संदीप पाटिल की सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से पहली मुलाकात फिल्‍म की शूटिंग के दौरान ही हुई थी.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. बड़े पर्दे पर खेल से जुड़ी फिल्‍में ज्‍यादातर धमाल मचाती हैं. खिलाड़ियों की जिंदगी पर बनी फिल्‍मों को देखने के लिए लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं. एमएस धोनी, मैरीकॉम, सूरमा उन फिल्‍मों में से कुछ चुनिंदा ऐसी फिल्‍में हैं, जिसने बॉक्‍स ऑफिस पर धमाल मचा दिया था. क्रिकेट से जुड़ी एक और फिल्‍म बड़े पर्दे पर आने के लिए तैयार है, जो भारत के ऐतिहासिक पल को हर देशवासी के दिलों में एक बार फिर जीवित कर देगी. फिल्‍म 83 भारत के पहले विश्‍व कप खिताब पर आधारित है, जिसका फैन इंतजार कर रहे है. हालांकि कोरोना वायरस के कारण इसकी रिलीजिंग डेट को आगे की ओर खिसका दिया गया है. फैंस इस फिल्‍म का इसलिए भी इंतजार कर रहे है, क्‍योंकि फिल्‍म में उस टीम के दिग्‍गज क्रिकेटर्स के रोल उनके बेटे निभाने रहे हैं. जो अपने पिता के जमाने में हर किसी को ले जाने के लिए तैयार हैं. क्रिकेट और क्रिकेटर्स पर आध‍ारित फिल्‍मों के जरिए फैंस अपने दिग्‍गजों को तो जान गए. मगर क्‍या किसी फिल्‍म में अपने इन दिग्‍गजों को पहचान पाए. कई भारतीय क्रिकेटर्स बड़े पर्दे पर भी अपना दम दिखा चुके हैं. यहां तक कि सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) भी फिल्‍मों में नजर आ चुके हैं. इनमें से कई क्रिकेटर्स के तो बड़े पर्दे से जुड़े किस्‍से भी मशूहर हैं.

    ऐसे बने सलीम दुर्रानी हीरो

    एक जमाने में अपनी नीली आंखों से लोगों को दीवाना बनाने वाले दिग्‍गज क्रिकेटर सलीम दुर्रानी कभी भी एक्‍टर नहीं बनना चाहते थे. मगर उनकी किस्‍मत में मैदान का नायक बनने के साथ ही पर्दे का भी नायक बनना लिखा था. जिस समय दुर्रानी अपने क्रिकेट करियर के शिखर पर थे, उसी समय निर्देशक बाबूरामजी इशारा फिल्‍म का ऑफर लेकर उनके पास आए थे. दुर्रानी तो सिर्फ मैदान पर भी माहिर थे, एक्टिंग से उनका दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं था. ऑफर मिलने के बाद उन्‍हें समझ नहीं आ रहा था कि वे कैसे मना करें. एक बार एक अखबार को दिए इंटरव्‍यू में दुर्रानी ने कहा कि वो फिल्‍म में काम करने से बचना चाहते थे, इसीलिए उन्‍होंने धमकाने वाले लहजे में निर्देशक को कहा कि वे उन्‍हें लेकर कमजोर फिल्‍म बना रहे हैं, मगर निर्देशक ने भी ठान ली थी. बाबूरामजी उन्‍हें और परवीन बॉबी को लेकर फिल्‍म बना चाहते थे. निर्देशक के आगे दुर्रानी को झुकना पड़ा, क्‍योंकि बाबूरामजी पाखंड और पाखंडियों से नफरत करते थे और वो सिर्फ अपने काम के लिए जाने जाते थे. तभी तो एक नए चेहरे को लेकर आ रहे थे. परवीन बॉबी ने भी इसी फिल्‍म के डेब्‍यू किया था. इस फिल्‍म में दुर्रानी ने अमीर व्‍यक्ति की भूमिका निभाई थी.

    कॉलेज बंक करके शूटिंग पर जाते थे सुनील गावस्‍कर

    दिग्‍गज बल्‍लेबाज सुनील गावस्‍कर (Sunil Gavaskar) ने भी एक्टिंग में हाथ आजमाया था. शुरुआती दिनों में उन्‍होंने एक्‍टर बनने की कोशिश भी की थी. गावस्‍कर के साथ पढ़ने वाले उनके एक दोस्‍त ने एक कार्यक्रम में इसका खुलासा किया था. दोस्‍त के अनुसार 1971 में सेंट जेवियर कॉलेज में पढ़ाई के दौरान एक दिन देव आनंद उनके कॉलेज आए थे और बताया कि उन्‍हें एक फिल्‍म के गाने की शूटिंग के लिए भीड़ करने के लिए लोगों की जरूरत है. इसके बाद गावस्‍कर कॉलेज बंक करके फिल्‍म हरे रामा हरे कृष्‍णा फिल्‍म के गाने दम मारो दम की शूटिंग में पहुंच गए. उनके दोस्‍त के अनुसार इस शूटिंग के लिए गावस्‍कर ने 30 रुपये में टी शर्ट खरीदी थी, जिसमें से 15 रुपये उन्‍होंने उनसे लिए. इसके अलावा गावस्‍कर मराठी फिल्‍म प्रेमली सावाची में भी काम किया. 1974 में अंपायर पीलू रिपोर्टर ने गावस्‍कर को अपनी बहन मधुमति के साथ अभिनय करने के लिए मनाया था.

    शूटिंग के दौरान तेंदुलकर से मिले पाटिल

    भारत को 1983 में वर्ल्‍ड कप का दिलाने वाली टीम का हिस्‍सा रहे संदीप पाटिल 'कभी अजनबी थे' में नजर आए. यह फिल्‍म उनके लिए काफी खास थी, क्‍योंकि इसी फिल्‍म की शूटिंग के दौरान पहली बार उनकी मुलाकात 10 साल के सचिन तेंदुलकर से हुई थी. एक इंटरव्‍यू में संदीप पाटिल ने बताया था कि फिल्‍म में क्रिकेट सीन को शूट करने के लिए यूनिट को 21 बच्‍चों की जरूरत थी. उन्हीं बच्‍चों में एक सचिन भी थे. संदीप पाटिल ने जब युवा सचिन के पैरों में उछाल को देखा तो उन्‍होंने बच्‍चों को लाने वाले दीपक मुरारकर से उस बच्‍चे के बारे में पूछा. दीपक ने सचिन के बारे में बताने के साथ ही पाटिल को कहा कि उन्‍हें इस बच्‍चे का खेल देखना च‍ाहिए.

    सलीम दुर्रानी, संदीप पाटिल, सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्‍कर के अलावा ऐसे कई नाम है, जो फिल्‍मों में नजर आए.

    कपिल देव: इकबाल, आर्यन, चैन खुली की मैन खुली,स्‍टंप्‍ड, मुझसे शादी करोगी
    सुनील गावस्‍कर: प्रेमली सावाची, मालामाल
    अजय जडेजा : खेल, पल पल दिल के साथ, झलक दिखला जा,
    विनोद कांबली: अनर्थ, पल पल दिल के साथ, बेट्टानगेरे, टीवी सीरियल मिस इंडिया, शो बिग बॉस 3
    अनिल कुंबले: मीराबाई नॉट आउट
    मोहसिन खान:  बंटवारा, साथी, फतह, मैडम एक्‍स, लाट साहब, महानता, प्रतिकार, गुनहगार कौन, त्‍यागी,
    युवराज सिंह: मेंहदी शगना दी
    हरभजन सिंह: विक्‍ट्री, मुझसे शादी करोगी, डिक्किलूना,
    इरफान पठान:  विक्रम 56, मुझसे शादी करोगी
    सैयद किरमानी: कभी अजनबी थे
    योगराज सिंह: तीन थे भाई, सिंह इज ब्लिंग, अरदास करां सहित कई फिल्‍म
    श्रीसंत: अक्‍सर 2, टीम 5
    ब्रेट ली: अनइंडियन

    लॉर्ड्स के मैदान पर खेले एक शॉट ने बदल दी थी एबी डिविलियर्स की जिंदगी

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज