लाइव टीवी

136 साल पहले स्वामी विवेकानंद ने ईडन गार्डंस पर उड़ा दिए थे अंग्रेजों के छक्के, 7 विकेट लेकर मचाया था धमाल

News18Hindi
Updated: February 7, 2020, 3:03 PM IST
136 साल पहले स्वामी विवेकानंद ने ईडन गार्डंस पर उड़ा दिए थे अंग्रेजों के छक्के, 7 विकेट लेकर मचाया था धमाल
स्वामी विवेकानंद की फुटबॉल और बॉक्सिंग में भी दिलचस्पी थी. (फाइल फोटो)

ये मुकाबला अंग्रेजों द्वारा स्‍थापित कलकत्ता क्रिकेट क्लब (Calcutta Cricket Club) और तत्कालीन गणितज्ञ सरदरंजन रे (Saradaranjan Ray) की टीम टाउन क्लब (Town Club) के बीच खेला गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2020, 3:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) को दुनिया महान विचारक, हिंदू धर्म उपदेशक और चिंतक के तौर पर जानती है. मानवता के प्रचार-प्रसार में उनके योगदान को कभी भी कम करके नहीं आंका जा सकता, लेकिन क्या आपको पता है कि क्रिकेट के मैदान पर भी उन्होंने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिए थे. जी हां, वो भी कोलकाता (Kolkata) के ऐतिहासिक ईडन गार्डेंस (Eden Gardens) के स्टेडियम पर. कोलकाता में करीब 136 साल पहले खेले गए इस मैच में स्वामी विवेकानंद ने अंग्रेजों के खिलाफ सात विकेट लेकर धमाल मचा दिया था. क्रिकेट ही नहीं, उनकी फुटबॉल, बॉक्सिंग और तलवारबाजी में भी खासी दिलचस्पी थी.

स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) शानदार शख्सियत के मालिक थे. उन्होंने युवाओं को शारीरिक गतिविधियां करने के लिए प्रेरित किया. वह खुद भी जनरल असेंबली इंस्टीट्यूशन के स्टूडेंट थे, जहां कई खेल गतिविधियों में हिस्सा लेते थे. साल 1980 में अंग्रेजों द्वारा खेलों को नेशनल टाइमपास कहा जाता था. खासकर क्रिकेट इसका एक अच्छा जरिया माना जाता था. ये बात देशभर में बड़ी तेजी से फैल रही थी. इसके बाद देशभर के अन्य हिस्सों की तरह कलकत्ता में भी कई क्लब खुल गए, जिन्होंने युवाओं को आकर्षित किया और वो खेलों को गंभीरता से लेने लगे.

Swami Vivekananda, seven wicket haul, Eden Gardens, cricket news, kolkata, क्रिकेट न्यूज, खेल, कोलकाता, ईडन गार्डेंस, इंडियन क्रिकेट टीम, सात विकेट, स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद युवाओं को शारीरिक गतिविधियों के लिए प्रेरित करते थे. (फाइल फोटो)


टाऊन क्लब और कलकत्ता क्रिकेट क्लब के बीच हुआ था मुकाबला

दरअसल, 1792 में अंग्रेजों ने कलकत्ता क्रिकेट क्लब की स्‍थापना की थी. उसके बाद दूसरा प्रसिद्ध क्रिकेट क्लब 1884 में बना, जिसकी स्‍थापना तत्कालीन गणितज्ञ सरदरंजन रे ने स्‍थापित किया था. उनके क्लब का नाम टाऊन क्लब था और उसका लक्ष्य अंग्रेजों को उन्हीं के खेल में कड़ी टक्कर देने का था. द ब्रिज की रिपोर्ट के मुताबिक, एक औपचारिक बातचीत में भारतीय स्वतंत्रता सेनानी हेम चंद्र घोष ने स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) से पूछा कि क्या वे क्रिकेट में हाथ आजमाना चाहेंगे. विवेकानंद खुश हुए और उन्होंने कहा कि उन्हें टीम का हिस्सा बनकर बेहद खुशी होगी. इसके बाद घोष ने स्वामी विवेकानंद को गाइड किया और वे एक प्रभावशाली गेंदबाज के रूप में सामने आए.

Swami Vivekananda, seven wicket haul, Eden Gardens, cricket news, kolkata, क्रिकेट न्यूज, खेल, कोलकाता, ईडन गार्डेंस, इंडियन क्रिकेट टीम, सात विकेट, स्वामी विवेकानंद
ईडन गार्डेंस दुनिया के सबसे बड़े मैदानों में से एक है. (फाइल फोटो)


स्कोर बोर्ड पर थे 20 रन, और सात विकेट ले चुके थे विवेकानंदकरीब 136 साल पहले ईडन गार्डेंस (Eden Gardens) पर खेले गए उस ऐतिहासिक मैच में स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) टाऊन क्लब टीम के लिए कलकत्ता क्रिकेट क्लब के खिलाफ मैदान पर उतरे. मैच के दौरान घोष ने विवेकानंद से कहा कि भावनाओं में न बहें और अपनी गेंदबाजी पर ही ध्यान दें. इसके बाद तो मैच में जैसे स्वामी विवेकानंद का ही जादू चला और उन्होंने एक के बाद एक सात विकेट ले लिए. दिलचस्प बात है कि तब तक अंग्रेज स्कोरबोर्ड पर महज 20 ही रन बना सके थे.

Swami Vivekananda, seven wicket haul, Eden Gardens, cricket news, kolkata, क्रिकेट न्यूज, खेल, कोलकाता, ईडन गार्डेंस, इंडियन क्रिकेट टीम, सात विकेट, स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद ने कोलकाता में खेले गए मैच में बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए सात विकेट लिए थे. (फाइल फोटो)


युवा आज भी करते हैं आदर्शों का पालन
इस बात में कोई संदेह नहीं है कि स्वामी विवेकानंद (Swami Vivekananda) देश के लिए एक आदर्श व्यक्तित्व थे और अब भी हैं.  युवा वर्ग आज भी अपनी जिंदगी में सहजता लाने के लिए उनके आदर्शों का पालन करता है. स्वामी विवेकानंद किसी ऑलराउंडर से कम नहीं थे. विभिन्न खेलों में दिलचस्पी रखने वाले स्वामी विवेकानंद एक महान विचारक थे, जिन्होंने दुनियाभर में मानवीयता का संदेश दिया और उसके प्रचार-प्रसार में दिन-रात एक कर दिया.

लचर प्रदर्शन से भड़के टीम इंडिया के कोच, कहा-चार महीने से हो रही खराब फील्डिंग

फाइनल में आसान नहीं होगी भारत की राह, बांग्लादेश ने 77 रनों पर समेट दिया था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 3:03 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर