जब युवराज सिंह ने सचिन तेंदुलकर के साथ बैठने से किया था इनकार, ऑलराउंडर ने सुनाया किस्सा

युवराज सिंह ने बताया, सचिन तेंदुलकर से पहली बार मिलने का अनुभव कैसा था.
युवराज सिंह ने बताया, सचिन तेंदुलकर से पहली बार मिलने का अनुभव कैसा था.

हाल ही में एक शो के दौरान युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने इस बात का खुलासा किया कि इन दिग्गजों के साथ खेलने और ड्रेसिंग रूम शेयर करने का उनका अनुभव कैसा रहा था. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने बताया कि महान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से पहली बार मिलने पर उनका रिएक्शन कैसा रहा था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2020, 7:53 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने जब इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा, तब उन्हें भारतीय क्रिकेट के लीजेंड सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों के साथ खेलने का मौका मिला. युवराज ने 2000 में आईसीसी नॉकआउट ट्रॉफी में भारतीय क्रिकेट टीम में अपना डेब्यू किया था. हाल ही में एक शो के दौरान युवराज सिंह ने इस बात का खुलासा किया कि इन दिग्गजों के साथ खेलने और ड्रेसिंग रूम शेयर करने का उनका अनुभव कैसा रहा था. पूर्व भारतीय ऑलराउंडर ने बताया कि महान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) से पहली बार मिलने पर उनका रिएक्शन कैसा रहा था.

मोहम्मद कैफ की कप्तानी में अंडर 19 वर्ल्ड कप 2020 के विजेता टीम के सदस्य युवराज सिंह ने अचानक अपने आदर्श क्रिकेटरों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर करने का गौरव हासिल किया. युवराज सिंह ने बताया कि भारतीय क्रिकेट टीम में उनके शुरुआती दिन कैसे रहे और किस तरह उन्होंने सचिन तेंदुलकर के साथ खाली सीट पर बैठने से मना किया था.

IPL 2021 के लिए मेगा ऑक्शन पर कब होगा फैसला? BCCI ने टीमों को दी जानकारी



युवराज सिंह ने नेटफ्लिक्स के शो 'स्टोरी बिहाइंड द स्टोरी' में बताया, ''मैं नहीं बता सकता कि अपने बचपन के हीरो से मिलने का अनुभव कैसा था. कैंप शुरू होने से पहले मैं ड्रेसिंग रूम में गया था.' युवराज ने यह भी बताया कि किस तरह से सचिन ने उनसे, जहीर खान और विजय दहिया के साथ हाथ मिलाया. युवी ने बताया कि सचिन से हाथ मिलाने के बाद मैंने उस हाथ को अपने पूरे शरीर पर मला. मैं नहाना नहीं चाहता था, क्योंकि सचिन से हाथ मिलाया था.
युवराज ने बताया, 'टीम बस में मेरे लिए सिर्फ एक ही सीट थी, जो तेंदुलकर के बराबर वाली थी. मैंने मैनेजर से कहा कि मुझे नहीं लगता कि मैं इस सीट पर बैठ सकता हूं. तो उन्होंने मुझसे कहा कि नहीं... अब वह आपके टीममैट हैं. आपको उनसे बात करनी होगी. इसके बाद में धीरे से वहां गया. मैंने उन्हें ऊपर से नीचे देखा और मुझे लगा था कि वाऊ यह वाकई वह हैं.''

WBBL 2020: नेट सिवर ने पकड़ा हैरतअंगेज कैच, नहीं आएगा आंखों पर यकीन-Video

युवराज सिंह ने यह भी बताया कि उनके किट बैग में सचिन तेंदुलकर की तस्वीर देखकर मास्टर ब्लास्टर ने किस तरह से रिएक्ट किया था. उन्होंने बताया, 'मैंने अपना किट बैग खोला और उसमें सचिन की तस्वीर थी. उन्होंने अपनी तस्वीर देखकर कहा- नाइस पिक्चर! यह बैट्समैन कौन है? इसके बाद वह हंसने लगे. मुझे लगता है कि इसी के साथ हमारी बातचीत शुरू हुई और उन्होंने मुझे सहज करने की कोशिश की.'



युवराज सिंह और सचिन तेंदुलकर ने 2012 तक एक साथ भारत के लिए क्रिकेट खेला. 2012 में सचिन तेंदुलकर ने वनडे क्रिकेट से संन्यास लिया. आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2011 में सचिन तेंदुलकर 482 रन के साथ भारत के लिए इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे. यह सचिन तेंदुलकर का छठा वर्ल्ड कप था. युवराज सिंह इस वर्ल्ड कप में 'प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट' रहे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज