लाइव टीवी

बजरंग पूनिया ने किया सवाल, किसने कहा मैंने कोच को हटा दिया?

News18Hindi
Updated: October 19, 2019, 8:49 AM IST
बजरंग पूनिया ने किया सवाल, किसने कहा मैंने कोच को हटा दिया?
बजरंग पूनिया और उनके कोच शोको बेनतिनिडिस.

बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) कोहनी की चोट के लिये रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजर रहे हैं और जल्द ही शाको (Shako Bentinidis) के साथ ट्रेनिंग शुरू करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 8:49 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. स्टार पहलवान बजरंग पूनिया(Bajrang Punia)  ने शुक्रवार को निजी कोच शाको बेनटीनिडिस (Shako Bentinidis) को हटाने संबंधित खबरों को खारिज करते हुए कहा कि यह जार्जियाई कोच अब भी उनकी टीम में शामिल है और सहयोगी स्टाफ को बदलने की उनकी कोई योजना नहीं है.

खबरों में आया कि बजरंग (Bajrang Punia) ने कोच से नाता तोड़ दिया है तो इस पर बजरंग ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा, ‘मुझे समझ नहीं आ रहा कि किसने यह कहा और क्यों? शाको मेरे कोच हैं और मुझे इस बारे में बात करनी चाहिए थी. इस तरह की खबरें पढ़कर मुझे सचमुच बुरा महसूस हो रहा है. इनमें कोई सच्चाई नहीं है. ’

बजरंग ने कहा कोच बदलने की जरूरत नहीं है

दुनिया के 65 किग्रा में नंबर एक पहलवान रह चुके बजरंग ने कहा, ‘वह मेरे निजी कोच हैं जिन्हें जेएसडब्ल्यू ने मुहैया कराया है. यह मेरी समझ से बाहर है कि ऐसा क्यों कहा गया कि मैंने उनसे रिश्ता तोड़ दिया है. कौन यह कह रहा है और क्यों? मुझे कोच बदलने की जरूरत नहीं है. ’ जब जेएसडब्ल्यू से संपर्क किया गया तो उसने कहा कि न तो वे और न ही बजरंग कभी भी शाको को छोड़ना चाहते हैं.

SPORTS DAYS, SPORTS DAY AWSRDS, , BAJRAN PUNIA
भारतीय स्टार रेसलर बजरंग पुनिया को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए राजीव गांधी खेल अवॉर्ड दिया गया है


जेएसडब्ल्यू की ‘स्पोर्ट्स एक्सीलेंस एंड स्काउटिंग’ प्रमुख मनीषा मल्होत्रा ने कहा, ‘हमें यह बहुत अच्छी तरह पता है कि अगर बजरंग शाको के साथ ट्रेनिंग नहीं करना चाहते हैं तो हम उन्हें नहीं रखेंगे. लेकिन न तो बजरंग और न ही डब्ल्यूएफआई ने हमें शाको को हटाने के लिये कहा है. विश्व चैम्पियनशिप को खत्म हुए एक महीने का समय हो चुका है, अगर यह कदम उठाना होता तो हम इसके बाद ही ऐसा कर देते. ’

शाको ने बजरंग को बनाया है नंबर वन
Loading...

डब्ल्यूएफआई हालांकि विश्व चैम्पियनशिप में सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान कजाखस्तान के दौलत नियाजबेकोव को रैफरी द्वारा चार अंक प्रदान किये जाने के बाद शाको के विरोध दर्ज कराने से खुश नहीं था. इससे बजरंग ने एक अतिरिक्त अंक गंवा दिया और डब्ल्यूएफआई को लगता है कि इस यह भारतीय फाइनल में पहुंचने से चूक गया और उसे लगता है कि बजरंग का पैर से डिफेंस अब भी कमजोर है.

मनीषा ने कहा, ‘मैं जानती हूं कि महासंघ उसके विरोध दर्ज कराने से खुश नहीं था. लेकिन पूरी तस्वीर देखिये. शाको ने बजरंग को दुनिया के नंबर एक स्थान पर पहुंचा दिया. अभी बजरंग पर ओलिंपिक में पदक जीतने का दबाव है और ओलिंपिक के करीब कोच बदलने का कदम रणनीतिक तौर पर अच्छा नहीं दिखता इसलिये फिलहाल ऐसी कोई योजना नहीं है.’

भारतीय कुश्ती महासंघ ने हालांकि कहा कि उसे इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है. बजरंग कोहनी की चोट के लिये रिहैबिलिटेशन प्रक्रिया से गुजर रहे हैं और जल्द ही शाको के साथ ट्रेनिंग शुरू करेंगे.

तीसरे टेस्ट से पहले टीम इंडिया में बदलाव, कुलदीप यादव की जगह लेगा ये खिलाड़ी

मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में जाने वाले फुटओवर ब्रिज गिराएगी वेस्टर्न रेलवे!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 8:49 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...