पाकिस्‍तानी क्रिकेटर बोला- मैं काला जादू का शिकार, टीम का साथ छोड़ घर लौटा

पाकिस्तानी क्रिकेटर हैरिस सोहेल के काले जादू के चर्चे आजकल जमकर हो रहे हैं.

रवि प्रताप दुबे | News18Hindi
Updated: January 10, 2019, 7:00 PM IST
पाकिस्‍तानी क्रिकेटर बोला- मैं काला जादू का शिकार, टीम का साथ छोड़ घर लौटा
पाकिस्तानी क्रिकेटर हैरिस सोहेल के काले जादू के चर्चे आजकल जमकर हो रहे हैं.
रवि प्रताप दुबे | News18Hindi
Updated: January 10, 2019, 7:00 PM IST
पाकिस्तानी बल्लेबाज हैरिस सोहेल दक्षिण अफ्रीका दौरे को बीच में छोड़कर अपने घर सियालकोट वापस चले गए हैं. हैरिस ने यह दौरा छोड़ने से पहले टीम प्रबंधक को बताया कि वह काले जादू की गिरफ्त में हैं और इस वजह से वह दौरा बीच में छोड़ रहे हैं. हालांकि इससे पहले सोहेल के पहले टेस्ट के बाद वापस लौटने की वजह उनके घुटने की चोट की खराब स्थिति को बताया गया था. बताया गया कि टीम प्रबंधन ने सोहेल के दावे के बारे में कोई जानकारी नहीं देने का फैसला किया क्योंकि वह काफी मानसिक तनाव से गुजर रहे थे.

हालांकि हैरिस सोहेल के साथ ये कोई पहला वाकया नहीं है, इससे पहले साल 2015 में पाकिस्तानी टीम के न्यूजीलैंड दौरे पर भी सोहेल ने दावा किया था कि जादुई ताकतों ने उन्हें घेर लिया था. हाल ये रहा कि सोहेल ने होटल का कमरा भी इसी वजह से बदल लिया और कुछ वक़्त बाद परेशान होकर सोहेल को बीच से दौरा छोड़ वापस लौटना पड़ा था.

क्रिकेट में टोने टोटके के चर्चे तो हमेशा से रहे हैं. कोई अपना बायां पैड पहले पहनता है तो कोई ख़ास ग्लव्स पर काला जादू की बातें भी, ये कोई नयी बात नहीं है. इससे पहले 2017 में श्रीलंका के कप्तान चांडीमल ने खुद दावा किया था कि उनकी टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ यूएई में हुए दो टेस्ट मैचों की सीरीज को जादू-टोने की मदद से जीता था.



मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिनेश चांडीमल अपने दोस्त की मां गंगा जोजिया की जादू-टोने वाली मदद लेते रहे हैं. खुद महिला तांत्रिक ने भी ये दावा किया था कि श्रीलंकाई टेस्ट कप्तान दिनेश चांडीमल पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने के लिए उनके पास आए और पाक टीम पर जादू कराया था.

जोजिया ने चांदीमल को उनके पास भेजने के लिए श्रीलंका सरकार में तत्कालीन मंत्री दयासिरी जयासेकारा को भी धन्यवाद दिया था. हालांकि बाद में मंत्री ने तांत्रिक के इस दावे को सिरे से नकार दिया. जबकि चांडीमल ने इस पर जवाब देते हुए कहा “मैं किसी से भी आशीर्वाद लेने के लिए हमेशा तैयार रहता हूं, चाहे वे तांत्रिक हों या पादरी. आप कितने भी प्रतिभावान हों लेकिन आगे बढ़ने के लिए दुआओं की ज़रूरत होती ही है."

ये भी पढ़ें: फरवरी में भारत का दौरा करेगी ऑस्ट्रेलिया, शेड्यूल हुआ घोषित

वैसे पकिस्तान क्रिकेट में काले जादू के चर्चे हमेशा से रहे हैं. इस मामले में सबसे बड़ा खुलासा Tiger Pataudi Memorial Lecture 2012 में बोलते हुए पाकिस्तान के आज के प्रधानमंत्री इमरान खान ने किया था. इमरान ने 1979 का वो किस्सा सुनाया जब पाकिस्तान ने भारत का दौरा किया. ज़हीर अब्बास जिन्हें एशिया का ब्रेडमैन भी कहते थे वो अपनी प्राइम फॉर्म में थे, लेकिन पहले मैच में वो 40 रन पर आउट हो गए जो ज़हीर अब्बास के स्तर के हिसाब से असफलता थी. इमरान उस वक़्त उनके रूम पार्टनर थे.
Loading...

इमरान ने बताया कि ज़हीर शाम को घंटों  शीशे के सामने खड़े रहे और अपनी नाकामी को लेकर सोचते रहे. फिर वो दूसरे मैच में फेल हुए और तीसरे मैच में भी. तब उन्होंने इमरान खान को बताया कि उन पर काला जादू हुआ है. हालांकि कुछ ही दिन पहले इमरान खान की पूर्व पत्नी रेहम खान ने अपनी किताब में दावा किया कि 65 वर्षीय इमरान खान खुद भी काले जादू पर विश्वास करते हैं.

दरअसल इस तरह की बातें कई बार आपकी मानसिक मजबूती और विश्वास को दिखाती है. अपनी असफलताओं से घबरा कर कई बार खिलाड़ी असल मुद्दे से भटक जाता है. इंग्लैंड के ओपनर मार्कस ट्रेस्कोथिक शानदार फॉर्म में थे लेकिन 2006 में इंग्लैंड के भारत तथा ऑस्ट्रेलिया दौरे से हट गए और उसकी वजह उन्होंने मानसिक तनाव को बताया.

आज हैरिस सोहेल अपने मानसिक तनाव का कारण काले जादू को बता रहे हैं. ऐसे में सबसे बड़ी भूमिका पेशेवर बोर्ड की बनती है जो खिलाड़ी को अपनी टेंशन से मुक्त होने में मदद करे. देखते है कि पाकिस्तान बोर्ड अपने खिलाडियों की सालों से चली आ रही तकलीफ को कैसे दूर करता है.
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...