लाइव टीवी

टी20 वर्ल्‍ड कप में क्‍या विराट कोहली की ये गलती टीम इंडिया को पड़ेगी भारी?

News18Hindi
Updated: January 21, 2020, 8:52 AM IST
टी20 वर्ल्‍ड कप में क्‍या विराट कोहली की ये गलती टीम इंडिया को पड़ेगी भारी?
टीम इंडिया हार्दिक पंड्या का कोई विकल्प नहीं खोज पाई

टीम में उपयोगी ऑलराउंडर न होने की वजह से टीम का संतुलन बिगड़ता है. टी20 वर्ल्‍ड कप के साल में विजय शंकर (Vijay Shankar) और शिवम दुबे जैसे ऑलराउंडर प्‍लेयर्स पर भरोसे की कमी भारत को महंगी पड़ सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2020, 8:52 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली: क्रिकेट में ऑलराउंडर की भूमिका काफी अहम होती है, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम को लंबे समय से ऐसे खिलाड़ी की जरूरत है. भारत को ऐसे खिलाड़ी की जरूरत है जो सीम गेंदबाजी के साथ ही उपयोगी बल्‍लेबाजी भी कर सके. ऐसा लग रहा था कि हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) के रूप में उसकी तलाश पूरी हो गई, लेकिन टीम इंडिया उनका बैकअप नहीं ढूंढ पाई. इस वजह से ऐसा हुआ कि हार्दिक के चोटिल होने के बाद भारत के पास उनके विकल्‍प के रूप में कोई था ही नहीं. हार्दिक की तरह भारत ने विजय शंकर और शिवम दुबे को आजमाया, लेकिन कप्‍तान विराट कोहली (Virat Kohli) और टीम मैनेजमेंट ने उन पर पूरा भरोसा नहीं जताया. उपयोगी ऑलराउंडर न होने की वजह से टीम का संतुलन बिगड़ता है. टी20 वर्ल्‍ड कप के साल में इस तरह ऑलराउंडर प्‍लेयर्स पर भरोसे की कमी भारत को महंगी पड़ सकती है. बता दें कि टी20 वर्ल्‍ड कप ऑस्‍ट्रेलिया में खेला जाना है जहां पिचों में काफी उछाल होता है.

हार्दिक पंड्या कमर की चोट से जूझ रहे हैं


भारतीय पिचों पर ऐसे खिलाड़ी से काम चल जाता है जो पार्ट टाइम स्पिन डालता है, लेकिन ऑस्‍ट्रेलिया जैसी पिचों पर टीम को मीडियम पेसर चाहिए. हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) ने इस भूमिका को अच्‍छे से निभाया. वे एक उपयोगी बल्‍लेबाज हैं और ठीकठाक गेंदबाजी कर लेते हैं. इस वजह से वह भारतीय टीम के लिए तीनों फॉर्मेट में खेलने लगे. वे निचले क्रम में कमाल के बल्‍लेबाज हैं. वे काफी क्‍लीन हिटिंग करते हैं और तेजी से रन बनाने में माहिर हैं. शुरुआत में जब वह आए थे तो उनकी गेंदबाजी थोड़ी कमजोर थी और आसानी से रन निकल जाते थे, लेकिन उन्‍होंने इस डिपार्टमेंट में सुधार किया.

विजय शंकर को बुलाने का इंतजार

हार्दिक पंड्या (Hardik Pandya) के अलावा टीम इंडिया के पास विजय शंकर का ऑप्‍शन भी है. ये दोनों वर्ल्‍ड कप 2019 में साथ खेले थे. विजय शंकर को टीम इंडिया में नंबर 4 के बल्‍लेबाज के लिए तैयार करने की कोशिश की गई. उनकी बल्‍लेबाजी तकनीक काफी अच्‍छी है जो ऊपर खेलने के मुफीद हैं. साथ ही उनकी गेंदबाजी भी ठीक है और उन्‍हें शुरुआत में विकेट मिलते हैं. लेकिन उनकी रफ्तार पंड्या से कम है. शंकर भी चोट के चलते बाहर हो गए. हालांकि ठीक होने के बाद उन्‍होंने घरेलू क्रिकेट में अच्‍छा खेल दिखाया है, लेकिन उन्‍हें दोबारा बुलावा नहीं भेजा गया.

india vs new zealand, vijay shankar, cricket, sports news, team india, bcci
विजय शंकर वर्ल्‍ड कप 2019 के दौरान चोट के चलते टीम इंडिया से बाहर हो गए थे.


अच्छे प्रदर्शन के बावजूद शिवम दुबे बाहरबांग्‍लादेश के खिलाफ सीरीज में मुंबई के ऑलराउंडर शिवम दुबे (Shivam Dubey) को आजमाया गया. वे बाएं हाथ के आतिशी बल्‍लेबाज हैं और मिलिट्री मीडियम पेस से गेंद डालते हैं. वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज में जब उन्‍हें नंबर 3 पर उतारा गया तो उन्‍होंने तेजतर्रार अर्धशतक भी लगाया. गेंदबाजी में भी उन्‍होंने बांग्‍लादेश के खिलाफ अच्‍छा प्रदर्शन किया था. एक मैच में तो उन्‍होंने एक ही ओवर में 2 विकेट सहित कुल  विकेट निकाले थे. लेकिन श्रीलंका के खिलाफ आखिरी टी20 मैच में उन्‍हें बाहर बैठाया गया. इसके बाद ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ उन्‍हें प्‍लेइंग इलेवन में जगह ही नहीं मिली. ऐसे में यह बात समझ से बाहर थी कि उन्‍हें स्‍क्‍वॉड में क्‍यों लिया गया.

शिवम दुबे ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तेजतर्रार अर्धशतक भी जड़ा तो गेंदबजी में भी उन्होंने प्रभावित किया


भारत को अब न्‍यूजीलैंड में टी20 और वनडे सीरीज खेलनी हैं. टी20 सीरीज के लिए शिवम दुबे को चुना गया है. हार्दिक का टीम में आना तय था लेकिन वे चोट के चलते बाहर रहे. अब देखना होगा कि विराट कोहली न्‍यूजीलैंड दौरे पर शिवम दुबे पर कितना भरोसा जताते हैं. ऑस्‍ट्रेलिया (Australia) में होने वाले टी20 वर्ल्‍ड कप से पहले यह काफी अहम सीरीज है.

कोहली पर भड़के सहवाग, कहा- वे प्‍लेयर्स पर भरोसा नहीं करते, धोनी की बात अलग

स्‍टीव स्मिथ नहीं विराट कोहली दुनिया के बेस्‍ट बल्‍लेबाज: माइकल वॉन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 7:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर