Home /News /sports /

ग्रेग चैपल बोले-भारत के युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई यंग प्लेयर अभी भी प्राइमरी स्कूल में

ग्रेग चैपल बोले-भारत के युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई यंग प्लेयर अभी भी प्राइमरी स्कूल में

ग्रेग चैपल ने ऑस्ट्रेलिया को भारत से सीख लेने की सलाह दी है.

ग्रेग चैपल ने ऑस्ट्रेलिया को भारत से सीख लेने की सलाह दी है.

ऑस्ट्रेलिया (Australia) के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ग्रेग चैपल (Greg Chappell) अपने देश के युवा खिलाड़ियों से निराश हैं.

    नई दिल्ली. ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ग्रेग चैपल (Greg Chappell) ने कंगारू टीम के युवा खिलाड़ियों को फटकार लगाई है. चैपल ने कहा कि भारतीय युवा खिलाड़ियों की तुलना में ऑस्ट्रेलियाई यंग प्लेयर अभी भी 'प्राइमरी स्कूल' में हैं. भारत ने स्टार खिलाड़ियों के बिना भी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी (Border-Gavaskar Trophy) में ऑस्ट्रेलिया को उसी की सरमजीं पर 2-1 से मात दी है. चैपल का मानना है कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के मजबूत घरेलू ढांचे की वजह से ऐसा संभव हो सका.

    चैपल ने सिडनी मार्निंग हेराल्ड में लिखे अपने कॉलम में कहा, "भारत के युवा क्रिकेटरों के मुकाबले हमारे यंग क्रिकेटर्स कमजोर योद्धा साबित हुए. ये वो खिलाड़ी हैं, जिन्हें अंडर 16 से ही मुश्किल हालातों से जूझना सिखाया जाता है. विल पुकोवस्की और कैमरन ग्रीन अनुभव के मामले में अभी भी प्राइमरी स्कूल में हैं." हालांकि टेस्ट सीरीज की शुरुआत से पहले चैपल ने युवा क्रिकेटर कैमरन ग्रीन की प्रशंसा करते हुए उन्हें रिकी पोंटिंग के बाद सबसे प्रतिभाशाली क्रिकेटर बताया था. ग्रीन ने भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैचों में एक अर्धशतक की बदौलत 236 रन बनाए थे. हालांकि लंबे कद के इस गेंदबाज को एक भी विकेट नहीं मिला था. वहीं चोट की वजह से पुकोवस्की सिर्फ एक टेस्ट मैच खेल सके. उन्होंने सिडनी टेस्ट की पहली पारी में 62 जबकि दूसरी पारी में 10 रन बनाए थे.

    यह भी पढ़ें:

    शाकिब का शानदार प्रदर्शन, बांग्‍लादेश ने वेस्‍टइंडीज के खिलाफ जीती सीरीज

    शार्दुल ठाकुर बोले- लोकल ट्रेन में सीट मिलना मुश्किल, तेज गेंदबाजों का सामना करना आसान!

    चैपल ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया पर भी निशाना साधा. उन्होंने बीसीसीआई से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की तुलना करते हुए कहा कि इलेक्ट्रीक कार के जमाने में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया अब भी 1960 का मॉडल ही तैयार कर रहा है. बीसीसीआई जहां अपने खिलाड़ियों पर करोड़ों डॉलर खर्च करती है वहीं शेफील्ड शील्ड के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का योगदान 44 मिलियन डॉलर का ही है. चैपल ने सलाह दी कि अगर टेस्ट क्रिकेट में आगे रहना है तो क्रिकेट बोर्ड को ऐसे फासले कम करने होंगे.

    चैपल ने आगे कहा कि भारत की युवा टीमों का स्किल लेवल ऑस्ट्रेलिया के फर्स्ट क्लास टीमों को भी शर्मिंदा करेगा. उन्होंने कहा कि भारत के पास 38 फर्स्ट क्लास टीम हैं. इसके आपको उनके टैलेंट्स की गहराइयों का पता चलता है.undefined

    Tags: Cameron Green, Cricket news, Greg Chappell, India vs Australia, Indian Cricket Team

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर