IND VS ENG: क्या रोहित शर्मा की जगह वनडे टीम में शामिल होगा विराट का ये चहेता खिलाड़ी ?

रोहित शर्मा को इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में आराम देने की सूरत में विराट कोहली के चहेते बल्लेबाज को मौका मिल सकता है.

रोहित शर्मा को इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में आराम देने की सूरत में विराट कोहली के चहेते बल्लेबाज को मौका मिल सकता है.

रोहित शर्मा ( Rohit Sharma) को अगर वर्कलोड के चलते इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे की सीरीज में आराम दिया जाता है तो उनकी जगह आईपीएल में विराट कोहली (Virat Kohli) की टीम से खेलने वाले एक खिलाड़ी को मौका मिल सकता है.

  • Share this:
नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट की सीरीज के बाद भारत को मेहमान टीम के खिलाफ पांच टी20 और तीन वनडे की सीरीज ( IND VS ENG) भी खेलनी है. टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो चुका है. इसमें रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को भी जगह मिली है. लेकिन ऐसी खबरें भी आ रही हैं कि उपकप्तान रोहित को वनडे सीरीज के लिए आराम दिया जा सकता है, क्योंकि वो पिछले साल कोरोना की वजह से क्रिकेट पर रोक लगने से पहले से ही खेल रहे हैं. इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू वनडे सीरीज, न्यूजीलैंड दौरे पर 5 टी20 की सीरीज और सितंबर-अक्टूबर में आईपीएल भी खेला था. वो इंग्लैंड के खिलाफ चार टेस्ट की सीरीज में भी खेल रहे हैं. इतने वक्त तक बायो बबल में रहना मानसिक तौर पर काफी थका देने वाला होता है. इसलिए उन्हें वनडे सीरीज में आराम दिया जा सकता है. हालांकि, उस सूरत में ये सवाल खड़ा होता है कि उनकी जगह इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में दूसरे ओपनर के रूप में किसे मौका मिलेगा. क्योंकि एक ओपनर के तौर पर शिखर धवन का नाम लगभग तय है.

अगर हालिया रिकॉर्ड देखें तो कर्नाटक के सलामी बल्लेबाज देवदत पडिक्कल का इस रोल में फिट होने का दावा मजबूत नजर आ रहा है. पडिक्कल पिछले दो सालों से घरेलू क्रिकेट में अच्छा खेल रहे हैं. वनडे, टेस्ट और टी20 तीनों ही फॉर्मेट में ये बल्लेबाज जमकर रन बना रहा है. वे इस साल भी अच्छे फॉर्म में हैं. अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि वो घरेलू वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में पहले नंबर पर हैं. वो अब तक 5 मैच में 190 से ज्यादा की औसत से 572 रन बना चुके हैं.

फर्स्ट स्लिप में खड़े फील्डर ने हवा में उड़कर पकड़ा हैरान करने वाला कैच, देखें VIDEO



उन्होंने हर मैच में पचास या उससे ज्यादा रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने सबसे ज्यादा तीन शतक भी लगाए हैं. रन बनाने वाले टॉप-5 बल्लेबाजों में पडिक्कल ने ही सबसे ज्यादा 18 छक्के लगाए हैं. पडिक्कल ने इसी टूर्नामेंट में ओडिशा के खिलाफ अपने करियर की सबसे बड़ी 152 रन की भी पारी खेली थी. ऐसे में रोहित की जगह दूसरे ओपनर के तौर पर उन्हें मौका मिल सकता है. हालांकि, ये तो वनडे सीरीज की टीम सेलेक्शन के बाद ही साफ होगा.
विराट की कप्तानी में आईपीएल खेले हैं पडिक्कल
पडिक्कल का दावा इसलिए भी मजबूत नजर आता है कि क्योंकि वो आईपीएल में विराट कोहली की कप्तानी वाली आरसीबी की ओर से खेलते हैं. ऐसे में कोहली उन्हें और उनके खेल को अच्छे से जानते हैं. पडिक्कल ने पिछले आईपीएल में इसे साबित भी किया है. जब आरसीबी के लिए अपने पहले सीजन में उन्होंने एरोन फिंच के साथ ओपनिंग की और टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने 15 मैच में 473 रन बनाए. पडिक्कल की बल्लेबाजी की बदौलत ही आरसीबी पिछले साल आईपीएल का क्वालिफायर खेली थी. इस सीजन में भी फिंच को रिलीज करने के बाद वो कप्तान कोहली के साथ पारी की शुरुआत कर सकते हैं. ऐसे में कप्तान कोहली भी आईपीएल से पहले ये चाहेंगे कि आरसीबी का ये बल्लेबाज फॉर्म में ही रहे. ऐसे में इंग्लैंड के खिलाफ 3 वनडे की सीरीज में धवन के जोड़ीदार के रूप में अगर पडिक्कल को मौका मिले, तो किसी को हैरानी नहीं होगी. क्योंकि पहले भी युवा खिलाड़ियों को मौके दे चुके हैं.

IND vs ENG: शोएब अख्तर ने साधा भारत पर निशाना, बोले- डरी हुई थी टीम इंडिया इसलिए टर्निंग ट्रैक बनाया

पडिक्कल दो साल पहले भी विजय हजारे ट्रॉफी में टॉप स्कोकर थे
ऐसा नहीं है कि सिर्फ भारतीय टीम के कप्तान कोहली की आरसीबी में खेलने की वजह से ही पडिक्कल को मौका मिलेगा. वो दो साल से घरेलू सर्किट में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं. विजय हजारे ट्रॉफी के 2019/20 सीजन में भी वो सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. तब उन्होंने 11 मैच में 609 रन बनाए थे. इस दौरान पांच अर्धशतक और दो शतक भी लगाए थे. तब पडिक्कल की बल्लेबाजी के दम पर ही कर्नाटक ने तमिलनाडु को हराकर टूर्नामेंट जीता था. उसी साल घरेलू टी20 सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट का चैम्पियन भी कर्नाटक बना था. उसमें भी पडिक्कल का रोल अहम था. तब भी इस बाएं हाथ के ओपनर ने 12 मैच में 64.44 की औसत से सबसे ज्यादा 580 रन बनाए थे. उन्होंने टूर्नामेंट में 1 शतक और पांच अर्धशतक भी लगाया था. सबसे ज्यादा 33 छक्के भी इसी बल्लेबाज ने जड़े थे. इस साल हुए सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में भी पडिक्कल कर्नाटक की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उन्होंने 6 मैच में 43.60 की औसत से 218 रन बनाए थे. इस टूर्नामेंट के फॉर्म को उन्होंने विजय हजारे ट्रॉफी में भी बरकरार रखा और अपनी टीम कर्नाटक को नॉक स्टेज में पहुंचाया.

पडिक्कल 2 साल पहले रणजी ट्रॉफी में कर्नाटक के लिए सबसे ज्यादा रन चुके हैं
ऐसा नहीं है कि ये बल्लेबाज केवल वनडे और टी20 फॉर्मेट में ही रन बना रहा है. वो लंबे फॉर्मेट में भी रन बना रहा है. रणजी ट्रॉफी के 2019-20 सीजन में भी पडिक्कल कर्नाटक की तरफ से सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उन्होंने 10 मैच में 40 से ज्यादा की औसत से 649 रन बनाए थे. इस दौरान 7 बार पचास या उससे ज्यादा रन बनाए थे. उस सीजन में कर्नाटक सेमीफाइनल खेली थी. ऐसे में अगर टीम इंडिया में सेलेक्शन के लिए घरेलू क्रिकेट के प्रदर्शन को पैमाना बनाया जाए तो कर्नाटक के इस बाएं हाथ के बल्लेबाज को टीम इंडिया में मौका मिलना बनता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज