वर्ल्ड कप: इंग्लैंड में विराट कोहली क्यों नहीं लगा पा रहे हैं शतक?

आखिर क्या वजह है कि मौजूदा दौर का ये सबसे बड़ा बल्लेबाज़ इंग्लैंड में हाफ सेंचुरी को सेंचुरी में नहीं बदल पा रहा है?

News18Hindi
Updated: June 26, 2019, 9:32 AM IST
News18Hindi
Updated: June 26, 2019, 9:32 AM IST
विराट कोहली जहां भी जाते हैं वो रनों की झड़ी लगा देते हैं. अब तक वनडे में 41 शतक लगा चुके विराट ने दुनिया के लगभग हर देश में शतकों का अंबार लगाया है, लेकिन इंग्लैंड ही क्रिकेट के लिहाज से एक ऐसा बड़ा देश है जहां विराट के बल्ले से सिर्फ एक शतक निकला है. आखिर क्या वजह है कि मौजूदा दौर का ये सबसे बड़ा बल्लेबाज़ इंग्लैंड में हाफ सेंचुरी को सेंचुरी में नहीं बदल पा रहा है?

इंग्लैंड में विराट
इंगैंड में विराट कोहली ने ग्यारह सौ से ज्यादा रन बनाए हैं, लेकिन इस दौरान उनके बल्ले से सिर्फ एक सेंचुरी निकली है. इस बार वर्ल्ड कप में विराट कोहली ने चार मैचों में तीन हाफ सेंचुरी लगाई है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 82 रन बनाने के बाद भी वो शतक से दूर रह गए. इसके अलावा पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने 77 रनों की पारी खेली. जबकि अफगानिस्तान के खिलाफ 67 रन बना कर वो आउट हो गए.



50 को 100 में बदलना

वर्ल्ड कप से पहले तक विराट कोहली का वनडे में शतक बनाने के मामले कनवर्जन रेट सबसे ज्यादा था. यानी 50 को सौ में बदलने की रफ्तार उनकी सबसे ज्यादा थी. लेकिन वर्ल्ड कप में दो शतक लगाने के बाद ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर ने विराट कोहली को पीछे छोड़ दिया. विराट का वनडे में कनवर्जन रेट 44.09 है. जबकि 45.71 कनवर्जन रेट के साथ वॉर्नर फिलहाल टॉप पर है.

ये आंकड़े वर्ल्ड कप में इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के मैच से पहले तक के हैं

Loading...

इंग्लैंड में क्या हो जाता है विराट को?

इंग्लैंड में विराट कोहली ने 11 बार 50 का आंकड़ा पार किया है. लेकिन वो सिर्फ एक बार 50 के आंकड़ें को सौ में बदलने में कामयाब रहे हैं. विराट का वनडे में कनवर्जन रेट 44.09 है. लेकिन इंग्लैंड में ये गिर कर महज 9.09 पर पहुंच जाता है.



वर्ल्ड कप में अभी टीम इंडिया को सेमीफाइनल में पहले चार मैच और खेलने हैं. विराट कोहली बड़े मैच के बड़े खिलाड़ी है ऐसे में वो बड़ी पारियां जरूर खेलेंगे. इसे खराब किस्मत ही कहा जाए कि वो इंग्लैंड में अभी तक सिर्फ एक शतक ही लगा सके हैं.
First published: June 26, 2019, 9:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...