WTC Final 2021: चेतेश्वर पुजारा की उलटी गिनती शुरू? इंग्लैंड दौरा हो सकता है आखिरी मौका!

चेतेश्वर पुजारा के बल्‍ले से पिछले काफी समय से रन नहीं निकल रहे हैं (PIC:AP)

भारत के टेस्‍ट स्‍पेशलिस्‍ट माने जाने वाले चेतेश्‍वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप (WTC Final) फाइनल में महज 8 रन बनाए. उन्‍होंने 36वीं गेंद पर अपना खाता खोला.

  • Share this:
    नई दिल्‍ली. वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप फाइनल (WTC Final 2021) में न्‍यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में चेतेश्‍वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) महज 8 रन ही बना पाए. उन्‍होंने 36वीं गेंद पर अपना खाता खोला था, जिसके बाद से ही वह बुरी तरह से ट्रोल हो रहे हैं. हालांकि अपनी धीमी शुरुआत को भी वह ज्‍यादा आगे नहीं बढ़ा पाए और ट्रेंट बोल्‍ट की गेंद पर एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हो गए. पुजारा के इस प्रदर्शन के बाद से कहा जा रहा है कि उनका करियर खत्‍म होने के कगार पर है.

    2010 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ टेस्‍ट क्रिकेट में डेब्‍यू करने वाले पुजारा ने 85 मैचों की 142 पारी में 6 हजार 244 रन बनाए. उनकी सबसे बड़ी टेस्‍ट पारी नाबाद 206 रन की रही. पुजारा के नाम 18 टेस्‍ट शतक और 29 टेस्‍ट अर्धशतक है. मगर अब उनके सामने करियर को लंबा खींचने के लिए इंग्‍लैंड दौरे पर कुछ यादगार पारी खेलने की चुनौती खड़ी हो गई है. इंग्‍लैंड दौरे को उनके करियर का आखिरी मौका माना जा रहा है.

    2019 से महज 818 रन ही बना पाए पुजारा
    टीम इंडिया का नंबर 3 बल्‍लेबाज पुजारा पिछले काफी समय से रनों के सूखे से जूझ रहे हैं. अगस्‍त 2019 से उन्‍होंने 17 टेस्‍ट मैचों में 29.21 की औसत से महज 818 रन ही बनाए. इस दौरान वह एक भी शतक नहीं लगा पाए और 28 पारियों में सिर्फ 9 बार ही 50 रन तक पहुंचे. वहीं इंग्‍लैंड में पुजारा ने 9 टेस्‍ट मैचों में 29.41 की औसत से 500 रन बनाए. फाइनल में 36वीं गेंद पर खाता खोलने के बाद पुजारा ने दो चौके लगाए और इसके बाद कई गेंद डॉट खेली और फिर बोल्‍ट के शिकार हो गए. इस दौरान वह स्‍ट्राइक रोटेट नहीं कर पाए.

    यह भी पढ़ें : 

    वनडे डेब्यू के चार साल बाद मिला टेस्ट में मौका, सौरव गांगुली ने पहले ही टेस्ट मैच में जड़ा था शतक

    On This Day: भारत ने 1983 वर्ल्ड कप के फाइनल में रखा था कदम, जानिए कौन था जीत का हीरो?

    पिछली दो सीरीज में ऐसा रहा पुजारा का प्रदर्शन
    टीम इंडिया के बल्‍लेबाजी कोच विक्रम राठौर का कहना है कि पुजारा को अपनी शुरुआत को बड़े स्‍कोर में बदलने की जरूरत है. इस फाइनल से पहले पुजारा का इंग्‍लैंड के खिलाफ प्रदर्शन देखें तो उन्‍होंने चार मैचों की 6 पारियों में 73, 15, 21, 7 , 0 और 17 रन बनाए. इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 4 मैचों की 8 पारियों में 43, 0, 17,3, 50, 77, 25, 56 रन बनाए. ऐसे में पुजारा के पास टीम में अपनी अहमियत साबित करने के लिए इंग्‍लैंड दौरा आखिरी मौका है. फाइनल के बाद टीम इंडिया मेजबान इंग्‍लैंड के खिलाफ पांच टेस्‍ट मैचों की सीरीज खेलेगी और पुजारा के लिए यह वापसी करने का आखिरी मौका साबित हो सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.