WTC Final: चेतेश्वर पुजारा टीम के लिए वर्ल्ड कप जीतना चाहते हैं, लेकिन कौन सा?

चेतेश्वर पुजारा का इंग्लैंड में प्रदर्शन अच्छा रहा है. (AFP)

चेतेश्वर पुजारा का इंग्लैंड में प्रदर्शन अच्छा रहा है. (AFP)

टीम इंडिया (Team India) को अगले महीने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (World Test Championship) के फाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ना है. टीम 2 जून को रवाना होगी. फाइनल मुकाबला 18 से 22 जून तक साउथम्प्टन में होना है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टीम इंडिया 2 जून को इंग्लैंड रवाना हो रही है. टीम को वहां न्यूजीलैंड के साथ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलना है. यह मैच इंग्लैंड के साउथम्पटन में 18 से 22 जून के बीच होना है. टीम इंडिया ने प्वाइंट टेबल में शीर्ष स्थान हासिल किया था. इसके बाद टीम को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है. टीम इंडिया के टेस्ट विशेषज्ञ चेतेश्वर पुजारा हर हाल में वर्ल्ड चैंपियनशिप का फाइनल जीतना चाहते हैं.

चेतेश्वर पुजारा ने क्रिकेट डॉट कॉम ने बात करते हुए कहा कि यह हम सभी के लिए एक सपना है, क्योंकि वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप वास्तव में टेस्ट फॉर्मेट का वर्ल्ड कप है. उन्होंने कहा, ‘कोई भी ऑस्ट्रेलिया का दौरा हमेशा ही बड़ा चुनौतीपूर्ण होता है और हमारे लिए बेहद महत्वपूर्ण भी. इस लिहाज से जो 2018 में हमें जीत मिली थी, वो सबसे ज्यादा खास रही. हां इसके बाद पिछली सीरीज जो हमने जीती वो तो और भी खास थी, क्योंकि हमारी टीम पहले कुछ कमजोर थी, कुछ खिलाड़ी चोटिल थे.’

नई चुनौतियों के लिए तैयार रहना होगा   

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया सीरीज के दौरान हमारे कई अहम खिलाड़ी चोटिल हो गए थे. ऐसे में जीत हासिल करना हमारे लिए बहुत ही बड़ी सफलता है और निजी तौर पर यह बेहद संतुष्टी देने वाला भी है. चेतेश्वर पुजारा ने कहा, ‘मेरे लिए सौभाग्य की बात है. मैंने जब कभी भी उन दौरों के लेकर कुछ योजना बनाई है, तो वह सभी सफल रही हैं. ऑस्ट्रेलिया दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक है. उनकी गेंदबाजी आक्रमण को वर्ल्ड क्रिकेट में सबसे बेहतरीन माना जाता है और उनको खिलाफ अच्छा करना आपको बेहद गर्व महसूस कराता है. लेकिन आप पिछली लड़ाई को लेकर नहीं बैठ सकते हैं. आपको नई चुनौतियों के लिए एक नई शुरुआत करनी होती है.’
यह भी पढ़ें: मोहम्मद आमिर ने एक और टी20 लीग से किया करार, आईपीएल को लेकर कही थी बड़ी बात

विराट कोहली की होनी है परीक्षा

टीम इंडिया की कमान विराट कोहली के पास है. बतौर कप्तान विराट कोहली अब तक एक भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सके हैं. ऐसे में वे वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में बल्ले के अलावा बतौर कप्तान भी अपनी छाप छोड़ना चाहेंगे. इंग्लैंड की पिच तेज गेंदबाजों के अनुकूल मानी जाती हैं. पिछले दो साल में टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों ने घर और घर के बाहर दोनों जगह शानदार प्रदर्शन किया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज