WTC Final: आईपीएल की एक टीम के मुनाफे से भी कम है न्यूजीलैंड बोर्ड का रेवेन्यू, फिर भी टीम नंबर-1

न्यूजीलैंड को इंग्लैंड में तीसरी बार टेस्ट सीरीज में जीत मिली.(BLACKCAPS Twitter)

न्यूजीलैंड टेस्ट की नंबर-1 टीम है. फाइनल (WTC Final) में उसे टीम इंडिया से भिड़ना है. यह मुकाबला 18 से 22 जून तक इंग्लैंड के साउथम्प्टन मैदान पर होना है. केन विलियमसन अपनी कप्तानी में पहली आईसीसी ट्रॉफी जीतना चाहेंगे. 

  • Share this:
    साउथम्पटन. न्यूजीलैंड की टीम टेस्ट रैंकिंग में टॉप पर है. आईसीसी टूर्नामेंट में उसका प्रदर्शन शानदार रहा है. टीम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया से भिड़ने जा रही है. फाइनल मैच 18 से 22 जून तक होना है. न्यूजीलैंड की टीम इससे पहले 2015 और 2019 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में भी पहुंची थी. हालांकि दोनों बार उसे हार मिली. ऐसे में कप्तान केन विलियमसन का लक्ष्य होगा फाइनल जीतना. टीम ने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज 1-0 से जीती है. ऐसे में उसके हौसले बुलंद होंगे.

    न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड के रेवेन्यू की बात करें तो यह एक आईपीएल के हर साल होने वाले मुनाफ से भी कम है. न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार, पिछले साल उसका कुल रेवेन्यू 285 करोड़ रुपए का था. टेस्ट खेलने वाले देशों में न्यूजीलैंड सबसे छोटा देश भी है, लेकिन यहां के खिलाड़ियों ने कमाल का प्रदर्शन करके वर्ल्ड क्रिकेट को अपनी ताकत का एहसास करा दिया है.

    6 खिलाड़ी बाहर हुए, फिर भी मिली जीत

    इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट में न्यूजीलैंड की टीम में 6 बदलाव किया गया था. केन विलियमसन और टिम साउदी जैसे दिग्गज खिलाड़ी नहीं खेल रहे थे. इसके बाद भी उसके इंग्लैंड को उसके घर में हराया. न्यूजीलैंड की टीम जब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंची थी, तब कहा जा रहा था कि उसने अधिकतर मैच घर में खेले हैं. लेकिन इंग्लैंड में जीत हासिल करके उसने खुद को साबित कर दिया है. इतना ही नहीं टीम ने पाकिस्तान को यूएई में भी हराया था.

    पिछले 7 में से 4 मैच में न्यूजीलैंड जीता

    न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के बीच अंतिम 7 टेस्ट की बात करें तो रिकॉर्ड बेहद चौंकाने वाले हैं. न्यूजीलैंड ने 4 मैच जीते जबकि 3 मैच ड्रॉ रहे. यानी इंग्लिश टीम को पिछले 7 टेस्ट से एक भी जीत नहीं मिली है. जबकि इंग्लैंड बोर्ड का रेवेन्यू लगभग 2800 करोड़ का है. यानी न्यूजीलैंड से 10 गुना अधिक. ऐसे में फाइनल में कीवी टीम भारत के लिए बड़ी परेशानी बन सकती है.

    डेवॉन कॉनवे जैसे युवा बल्लेबाजों पर जिम्मेदारी

    न्यूजीलैंड के पास कभी भी टेस्ट में वीरेंद्र सहवाग और एडम गिलक्रिस्ट जैसे आक्रामक बल्लेबाज नहीं रहे. लेकिन टीम ने अपना प्रदर्शन बनाए रखा. डेवॉन कॉनवे जैसे युवा खिलाड़ी टीम को मिला है. उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में भी दोहरा शतक लगाकर खुद को साबित किया. अब यदि वे फाइनल में इस तरह का प्रदर्शन करते हैं तो वे खुद को बड़े खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल कर लेंगे. इतना ही नहीं टीम अपनी शानदार फील्डिंग से भी विरोधी टीम को परेशान करती है. 2019 से टीम ने स्लिप में सबसे ज्यादा 91 फीसदी कैच पकड़े हैं.

    टीम के पास युवा के बजाए अनुभवी खिलाड़ी

    ऐसा नहीं है कि न्यूजीलैंड टीम युवा खिलाड़ियों के दम पर यहां तक पहुंची है. डेब्यू टेस्ट में लॉर्ड्स पर दोहरा शतक लगाने वाले डेवॉन कॉनवे 29 साल के हैं. दूसरी ओर दूसरे टेस्ट में 82 रन की पारी खेलने वाले विल यंग 28 साल के हैं. यह उनका तीसरा ही टेस्ट था. टॉम ब्लंडेल और डेर्ली मिचेल भी 30 की उम्र के आस-पास के हैं. ब्लंडेल ने 27 की उम्र में डेब्यू किया और पहले ही टेस्ट में शतक जड़ा.

    घर में सभी मैच जीतने वाली इकलौती टीम

    वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में सभी टीम को तीन सीरीज घर पर जबकि तीन सीरीज घर के बाहर खेलनी थी. लेकिन कोरोना के कारण कई सीरीज को स्थगित करना पड़ा था. इस दौरान न्यूजीलैंड की टीम घर में सभी मैच जीतने वाली इकलौती टीम रही. टीम ने सभी 6 मैच जीते. दूसरी ओर टीम इंडिया ने 9 में से 8 मैच में जीत दर्ज की जबकि एक में उसे हार मिली. ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 9 में से 6 मैच जीते, दो में हार मिली.

    कोहली और विलियमसन का रिकॉर्ड लगभग बराबर

    विराट कोहली ने टेस्ट में बतौर कप्तान 60 मैच खेले गए हैं. 36 में जीत मिली है जबकि 14 मुकाबलों में हार मिली. दूसरी ओर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने 36 मैच में कप्तानी की है और 21 मैच जीते हैं. 8 में हार मिली थी. यानी दोनों का जीत का प्रतिशत रिकॉर्ड लगभग बराबर है. विराेधी टीम के मैदान पर बतौर कप्तान विराट कोहली ने 30 मैच में से 13 जीते हैं, 12 हारे हैं. वहीं विलियमसन ने 11 में से 3 जीते हैं जबकि 6 में हार मिली है. यानी विदेशी मैदान पर जीत के मामले में कोहली का रिकॉर्ड अच्छा है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.