WTC Final: न्यूजीलैंड की टीम खिलाड़ियों पर करती है अधिक भरोसा, इस कारण मिल रही जीत

इंग्लैंड के खिलाफ न्यूजीलैंड ने टेस्ट सीरीज 1-0 से जीती. (AFP)

न्यूजीलैंड टीम को पिछले दोनों वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल में हार मिली. टीम अब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC Final) के फाइनल के लिए तैयार है. फाइनल मैच 18 से 22 जून तक भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथैम्पटन में होना है. पहली बार दोनों टीमें न्यट्रल वेन्यू पर टेस्ट खेलेंगी.

  • Share this:
    साउथैम्पटन. न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन 2019 वनडे वर्ल्ड कप के फाइनल की हार भूले नहीं होंगे. मैच टाई होने के बाद बाउंड्री काउंट नियम से टीम इंग्लैंड से हार गई. 2015 वर्ल्ड कप के फाइनल में उसे ऑस्ट्रेलिया से हार मिली थी. टीम अब वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल खेलने जा रही है. यह मुकाबला 18 से 22 जून तक भारत और न्यूजीलैंड के बीच साउथैम्पटन में होना है. पहली बार दोनों टीमें न्यूट्रल वेन्यू पर टेस्ट खेलेंगी.

    न्यूजीलैंड की टीम का प्रदर्शन लगातार सुधर रहा है. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण उसका खिलाड़ियों पर विश्वास है. पिछले सात साल यानी 1 जनवरी 2014 से टेस्ट के रिकॉर्ड को देखें तो सभी देशों में न्यूजीलैंड ने सबसे कम खिलाड़ियाें को उतारा है. यानी उसने अपने खिलाड़ियों पर सबसे अधिक भरोसा दिखाया है. न्यूजीलैंड ने इस दौरान 59 टेस्ट खेले और 35 खिलाड़ियों को मौका दिया. इसका फर्क रिजल्ट पर भी दिखा. टीम ने इसमें से 32 टेस्ट जीते जबकि 17 में हार मिली. टीम आज टेस्ट की नंबर-1 टीम है.

    टीम इंडिया ने 45 खिलाड़ियों को मौका दिया

    इस दौरान टीम इंडिया ने 74 टेस्ट में 45 खिलाड़ियों को मौका दिया. वहीं ऑस्ट्रेलिया ने 46 और इंग्लैंड ने 59 खिलाड़ियों को टेस्ट में उतारा. इंग्लिश टीम ने सबसे अधिक प्रयोग किए. इसका उसे नुकसान भी हुए. पिछले दिनों उसे घर में न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में 0-1 से हार मिली. न्यूजीलैंड की टीम 22 साल बाद इंग्लैंड में टेस्ट जीतने में सफल हुई है. ऑस्ट्रेलिया को भी घर में टीम इंडिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-2 से हार झेलनी पड़ी थी.

    यह भी पढ़ें: WTC Final: टीम इंडिया ने टेस्ट क्रिकेट की शुरुआत इंग्लैंड से की थी, अब फाइनल भी यहीं खेलेगी

    अधिक खिलाड़ी उतारे तो अधिक हार भी मिली

    न्यूजीलैंड की टीम ने 2007 से 2013 के बीच 57 टेस्ट खेले और सिर्फ 12 में जीत हासिल कर सकी. 27 में उसे हार मिली. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण अधिक खिलाड़ियों को उतारना था. इस दौरान टीम ने टेस्ट में 46 खिलाड़ियों को मौका दिया था. 2014 से न्यूजीलैंड की ओर से केन विलिसमसन ने सबसे अधिक रन बनाए हैं. उन्होंने 55 मैच में 64 की औसत से 5335 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 11 शतक भी जड़े हैं. टॉम लाथम (4017) दूसरे और रॉस टेलर (3372) रन बनाने के मामले में तीसरे नंबर पर रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.