WTC Final: विराट कोहली ने कहा- आम लोगों की तरह सोचेंगे तो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकेंगे, दबाव नहीं

विराट कोहली की नजर पहले खिताब पर है. (Virat Kohli/Instagram)

विराट कोहली की नजर पहले खिताब पर है. (Virat Kohli/Instagram)

टीम इंडिया (Team India) कुछ देर में इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हो रही है. टीम को वहां 18 से 22 जून तक वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) का फाइनल खेलना है. फाइनल में टीम न्यूजीलैंड से भिड़ेगी. इसके अलावा इंग्लैंड से भी 5 मैचों की सीरीज होनी है.

  • Share this:

नई दिल्ली. टीम इंडिया आज इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना हाे रही है. इससे पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा कि उन पर वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को लेकर किसी तरह का दबाव नहीं है. टीम पिछले 5-6 साल से कड़ी मेहनत कर रही है. आईसीसी की ओर से टेस्ट को रोमांचक बनाने के लिए 2019 में इसकी शुरुआत की गई थी. फाइनल 18 से 22 जून तक भारत और न्यूजीलैंड के बीच इंग्लैंड के साउथम्प्टन में खेला जाएगा.

विराट कोहली ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हम 5-6 साल से मेहनत कर रहे हैं. हम वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल इंजॉय करेंगे. हम लोगों की तरह सोचेंगे तो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकेंगे. उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं है. मैं भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने के लिए प्रतिबद्ध हूं. हमारे लिए सिर्फ यही मायने रखता है कि टीम एक दूसरे की कितनी मदद कर रही है.

इंग्लैंड की पिच में बारे जानते हैं

इंग्लैंड के तैयारी को लेकर विराट कोहली ने कहा कि हम पहले भी वहां खेल चुके हैं. पहले सीरीज के तीन दिन पहले ही टीम जाती थी. लेकिन इस बार हमारे पास मौका है. उन्होंने कहा कि हम सब जानते हैं कि इंग्लैंड में कैसा माहौल है. हमें खुद पर भरोसा है. हमें टीम के बारे में पता है. हम 4 प्रैक्टिस सेशन के बाद भी इंग्लैंड में खेलने को तैयार हैं. ये सब दिमाग में होता है.
लंबे अंतराल का फायदा होगा

टीम इंडिया को वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के बाद 41 दिन तक कोई मैच नहीं खेलना है. इंग्लैंड से 5 मैच की टेस्ट सीरीज 4 अगस्त से शुरू होगी. इतने लंबे अंतराल को विराट कोहली ने अच्छा माना. उन्होंने कहा कि इससे टीम को सीरीज के लिए नए सिरे से तैयारी करने का मौका मिलेगा. हम थोड़ा नॉर्मल हो सकेंगे, क्योंकि पांच मैचों की सीरीज आसान नहीं होगी. इससे हमें दोबारा तैयार हो सकेंगे.

6 जून से खिलाड़ी कर सकेंगे ट्रेनिंग



पहले 3 दिन तक कोई भी खिलाड़ी होटल से नहीं निकल सकेगा. रोजाना टेस्ट होगा. 6 जून से खिलाड़ी छोटे-छोटे ग्रुप में ट्रेनिंग कर सकेंगे. 12 जून से पूरी टीम क्वारंटाइन पूरा करने के बाद साथ में प्रैक्टिस करेगी. 18 जून से भारत और न्यूजीलैंड के बीच वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल है. विराट कोहली अपनी कप्तानी में एक भी आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत सके हैं. ऐसे में उनकी नजर खिताब पर होगी.

कोहली पहली आईसीसी ट्रॉफी जीतना चाहेंगे

अब तक बतौर कप्तान कपिल देव, सौरव गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी ही आईसीसी ट्रॉफी जीत सके हैं. अब विराट कोहली के पास भी इस लिस्ट में शामिल होने का मौका है. कपिल देव की कप्तानी में टीम इंडिया ने 1983 में वनडे वर्ल्ड कप का खिताब जीता था. सौरव गांगुली की कप्तानी में टीम 2002 में चैंपियंस ट्रॉफी में चैंपियन बनीं. वहीं महेंद्र सिंह धोनी ने 2007 में टी20 वर्ल्ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्ड और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब दिलाया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज