लाइव टीवी

यशस्वी ने वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने का वादा निभाया, पर कोच का गिफ्ट लेने से किया इनकार, ये है वजह

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 1:59 PM IST
यशस्वी ने वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने का वादा निभाया, पर कोच का गिफ्ट लेने से किया इनकार, ये है वजह
यशस्वी को क्रिकेटर बनने के लिए निजी जीवन में बहुत संघर्ष का सामना करना पड़ा. (फाइल फोटो)

यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) को पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन और सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए 'मैन ऑफ द वर्ल्ड कप' चुना गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 1:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय अंडर 19 टीम (India U19 Team) साउथ अफ्रीका (South Africa) में हुए वर्ल्ड कप (ICC Cricket World Cup) को जीतने से चूक गई. टीम ने पूरे टूर्नामेंट में अजेय रहते हुए फाइनल में जगह बनाई लेकिन वह अपने खिताब का बचाव नहीं कर सकी. टीम के खिलाड़ी इस हार से काफी निराश हैं और इसे उबरने की कोशिश में लगे हैं. इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने के लिए भारत (India) के सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) को 'मैन ऑफ द टूर्नामेंट' का अवॉर्ड दिया गया. हालांकि यशस्वी (Yashasvi Jaiswal) को अपने इस प्रदर्शन की खुशी से ज्यादा टीम की हार का दुख है जिस कारण उन्होंने अपने कोच से तोहफा लेने से मना कर दिया.

under 19 world cup, india vs bangladesh, Yashasvi Jaiswal, ravi bishnoi, cricket, sports news, अंडर 19 वर्ल्ड कप, भारत बनाम बांग्लादेश, क्रिकेट, स्पोर्ट्स न्यूज, यशस्वी जायसवान, रवि बिश्नोई
टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने और तीन अहम विकेट लेने यशस्वी जायसवाल को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट चुना गया


कोच से तोहफे में कार लेने से किया इनकार
यशस्वी के कोच ज्वाला सिंह (Jwala Singh) ने उनसे वादा किया था कि अगर वह टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाते हैं तो उन्हें तोहफे में कार दी जाएगी. जब यशस्वी वापस भारत (India) लौटे तो कोच ने उन्हें कार की पेशकश की. इसके जवाब में यशस्वी ने कहा कि उन्हें नई कार नहीं चाहिए. उन्होंने अपने कोच से कहा कि वह अपनी पुरानी कार उन्हें दे दें और खुद नई गाड़ी खरीद लें.

Yashasvi Jaiswal, under 19 world cup final, india vs bangladesh, cricket, sports news,
भारत के सलामी बल्लेबाज यशस्वी ने फाइनल मैच में 88 रन की पारी खेली थी


यशस्वी (Yashasvi Jaiswal) के कोच ज्वाला सिंह (Jwala Singh) ने बताया कि उन्हें मालूम था कि भारी किट बैग लेकर हर रोज स्टेडियम जाना यशस्वी के लिए मुश्किल होता है इसलिए उन्होंने काफी पहले ही उन्हें कार देने का फैसला कर लिया था. हालांकि तब यशस्वी 18 साल के नहीं हुए थे. पिछले साल जब वह 18 साल के हुए तब वर्ल्ड कप की तैयारियों में काफी व्यस्त थे. कोच ज्वाला सिंह ने वर्ल्ड कप के लिए साउथ अफ्रीका जा रहे यशस्वी से वादा किया कि अगर वह टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाते हैं तो उन्हें तोहफे में कार देंगे.

राहुल द्रविड़ की सलाह आई कामयशस्वी ने अपने कोच राहुल द्रविड़, आशीष कपूर और वसीम जाफर को उनकी सलाह के लिए धन्यवाद दिया. यशस्वी ने बताया कि टूर्नामेंट से पहले उनकी कोच राहुल द्रविड़ से बातचीत हुई थी. कहा, 'राहुल सर ने कहा कि बतौर बल्लेबाज मेरी जिम्मेदारी है कि मैं हालात के हिसाब से खुद को बदलूं. टीम की जरूरत के हिसाब से अपना खेल बदलूं. उनकी इस बात ने ही वर्ल्ड कप में मुझे बड़े शॉट खेलने में मदद की.'  वहीं पाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले से पहले उन्होंने वसीम जाफर से बात की जिन्होंने उन्हें अहम सलाह दी थी.

यशस्वी ने फाइनल मुकाबले के बारे में बात करते हुए कहा कि उन्होंने मैच में गलत शॉट खेला जिसका उन्हें अफसोस है. यशस्वी ने कहा, 'मैं बहुत बेकार शॉट खेला जिसकी उस समय कोई जरूरत नहीं थी. बॉल मेरी उम्मीद से ज्यादा तेज आई, इससे पहली गेंद काफी धीमी थी. मुझे दुख है हम हारे लेकिन यह खेल का हिस्सा है. हार के बाद सभी धीरे-धीरे सब ठीक हो गया. अगर हम उस मुकाबले में टॉस जीतते तो शायद परिणाम कुछ और हो सकता था.'

यशस्वी जायसवाल ने वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ ठोका था शतक


भारत के लिए खेलने के सपने के करीब भी नहीं पहुंचे हैं यशस्वी
इस वर्ल्ड कप टूर्नामेंट में यशस्वी  (Yashasvi Jaiswal) ने सबसे ज्यादा 400 रन बनाए और 'मैन ऑफ द वर्ल्ड कप' रहे. यशस्वी ने वर्ल्ड कप की 6 पारियों में (59, 29*, 57*, 62, 105* और 88) कुल 400 रनों का योगदान दिया. इस दौरान 5 बार उन्होंने 50 से अधिक रन बनाए. इसके अलावा उन्होंने 3 विकेट भी अपने नाम किए.

यशस्वी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि वह पूरी तरह क्रिकेट पर ध्यान दे रहे हैं. उन्होंने कहा, 'इस उम्र में ध्यान भटकने के बहुत मौके आते हैं लेकिन आप जैसा सोचोगे वैसा बनोगे. मेरे बहुत से साथी खिलाड़ी मुझे कहते हैं कि मैं भी सोशल मीडिया पर आ जाऊं, पर मुझे इसका कोई कारण समझ नहीं आता. बचपन से ही मुझे पता है कि मुझे क्या करना है. मैंने अपना घर, सारा आराम सभ छोड़ दिया ताकि मैं वहां पहुंच सकूं जहां पहुंचना चाहता हूं. मैं अभी टीम इंडिया के लिए खेलने के अपने सपने के करीब भी नहीं पहुंचा हूं.'

ये भी पढ़ें :-

20 साल पहले क्रिकेट की दुनिया में फिक्सिंग से भूचाल लाने वाले संजीव चावला को ब्रिटेन से भारत लाया गया

वर्ल्ड कप जिताने वाले कप्तान ने पत्नी से लिया तलाक, इस लड़की से चल रहा है अफेयर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 11:53 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर