लाइव टीवी

यशस्वी जायसवाल: पेट पालने के लिए बेचे गोल-गप्पे, अब पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप में ठोका शतक

News18Hindi
Updated: February 4, 2020, 9:43 PM IST
यशस्वी जायसवाल: पेट पालने के लिए बेचे गोल-गप्पे, अब पाकिस्तान के खिलाफ वर्ल्ड कप में ठोका शतक
यशस्वी जायसवाल ने ठोका शतक

यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) आईसीसी अंडर 19 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बने

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2020, 9:43 PM IST
  • Share this:
पोचेफ्स्ट्रूम. आईसीसी अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ टीम इंडिया के बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal Century) ने शानदार शतक ठोका. यशस्वी जायसवाल ने 113 गेंदों में अपना शतक पूरा किया. जायसवाल ने 113 गेंदों में नाबाद 105 रन बनाए. उन्होंने छक्के से अपना शतक पूरा किया. बता दें इस वर्ल्ड कप में ये यशस्वी जायसवाल का पहला शतक है. शतक लगाने के साथ-साथ यशस्वी जायसवाल इस टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बन गए हैं. यशस्वी अंडर 19 वर्ल्ड कप में पहले बल्लेबाज हैं जिसने 300 रनों का आंकड़ा छुआ है. उन्होंने श्रीलंका के रविंदु रशांता को पीछे छोड़ा. यशस्वी जायसवाल के शतक की मदद से भारत ने पाकिस्तान को सेमीफाइनल मैच में 10 विकेट से हरा दिया. भारत इस जीत के साथ अंडर 19 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंच गया.

cricket news, sports news, indian cricket team, jasprit bumrah, disha patani, क्रिकेट न्यूज, खेल, इंडियन क्रिकेट टीम, दिशा पाटनी, जसप्रीत बुमराह
यशस्वी जायसवाल ने पाकिस्तान के खिलाफ नाबाद 105 रन बनाए


यशस्वी जायसवाल का संघर्ष
बता दें यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) का अंडर 19 वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन उन लोगों के लिए मिसाल है जो हमेशा गरीबी और कम संसाधनों का रोना रोते रहते हैं. यशस्वी जायसवाल...ये खिलाड़ी मुंबई के मुस्लिम यूनाइटेड क्लब के गार्ड के साथ तीन साल तक टेंट में रहा. यशस्वी ने महज 11 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया था और वो क्रिकेटर बनने के लिए मुंबई आ गए थे. दो भाइयों में छोटे यशस्वी उत्तर प्रदेश के भदोही के रहने वाले हैं. उनके पिता वहीं एक छोटी सी दुकान चलाते हैं. यशस्वी, कम उम्र में ही क्रिकेट का सपना लेकर मुंबई पहुंच गये थे. उनके पिता के लिए परिवार को पालना मुश्किल हो रहा था इसलिए उन्होंने एतराज़ भी नहीं किया. मुंबई में यशस्वी के चाचा का घर इतना बड़ा नहीं था कि वो उसे साथ रख सकें. इसलिए चाचा ने मुस्लिम यूनाइटेड क्लब से अनुरोध किया कि वो यशस्वी को टेंट में रहने की इजाज़त दें.

यशस्वी जायसवाल का संघर्ष


यशस्वी (Yashasvi Jaiswal) ने एक इंटरव्यू में बताया था, 'इससे पहले मैं काल्बादेवी डेयरी में काम करता था. पूरा दिन क्रिकेट खेलने के बाद मैं थक जाता था और सो जाता था. एक दिन उन्होंने मुझे ये कहकर वहां से निकाल दिया कि मैं सिर्फ सोता हूं और काम में उनकी कोई मदद नहीं करता.' इसके बाद यशस्वी जायसवाल ने तीन साल टेंट में बिताए. जहां बारिश के वक्त छत टपकती थी. यशस्वी ने कभी अपनी संघर्ष भरी जिंदगी की खबर मां-पिता को नहीं दी क्योंकि अगर उन्हें पता चलता तो वो उसे मुंबई से वापस बुला लेते और उनके क्रिकेटर बनने का सपना टूट जाता. बता दें यशस्वी दिन में क्रिकेट खेलते थे और रात के वक्त गोल-गप्पे बेचते थे. लेकिन इसके बावजूद कई रातों को उन्हें भूखा सोना पड़ता था.

यशस्वी (Yashasvi Jaiswal) ने एक इंटरव्यू में संघर्ष के दिन याद करते हुए कहा था, 'राम लीला के समय मेरी अच्छी कमाई हो जाती थी. मैं यही दुआ करता था कि मेरी टीम के खिलाड़ी वहां न आएं. लेकिन कई खिलाड़ी वहां आ जाते थे. मुझे बहुत शर्म आती थी. मैं हमेशा अपनी उम्र के लड़कों को देखता था. वो घर से खाना लाते थे. मुझे तो ख़ुद बनाना था और ख़ुद ही खाना था. दोपहर और रात का खाना टेंट में मिलता था इसके अलावा नाश्ता दूसरों के भरोसे होता था. टेंट में मैं रोटियां बनाता था. वहां बिजली नहीं थी इसलिए हर रात कैंडल लाइट डिनर होता था.' इतने संघर्षों के बावजूद इस खिलाड़ी ने पहले मुंबई की टीम में जगह बनाई. वो इंडिया की अंडर 19 टीम में शामिल हुए और अब उन्होंने अपने बल्ले से अंडर 19 वर्ल्ड कप में कोहराम मचा दिया है.
यशस्वी जायसवाल का अंडर 19 वर्ल्ड कप में धमाल


पांच मैच, तीन अर्धशतक, एक शतक
यशस्वी जायसवाल मौजूदा टूर्नामेंट में जबरदस्त लय में हैं. अंडर19 वर्ल्ड कप में उन्होंने अब तक पांच मैच खेले हैं, जिनमें तीन में वे अर्धशतक लगा चुके हैं, जबकि पाकिस्तान के खिलाफ उन्होंने बेहतरीन शतक जड़ा. इस टूर्नामेंट में यशस्वी के बल्ले से ऐसे रन निकले हैं.
- श्रीलंका के खिलाफ 74 गेंद पर 59 रन बनाए, 8 चौके.
- जापान के खिलाफ 18 गेंद पर नाबाद 29 रन की पारी खेली. 5 चौके, 1 छक्का.
-तीसरे मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ 77 गेंद पर नाबाद 57 रन बनाए. 4 चौके, 2 छक्के.
- ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ क्वार्टर फाइनल में 82 गेंदों पर 62 रन की पारी खेली. 6 चौके, 2 छक्के.

ये आंकड़े देख साफ है कि यशस्वी जायसवाल का भविष्य उज्ज्जवल है और जल्द ही उन्हें विराट कोहली की कप्तानी में खेलते हुए भी देखा जा सकता है.

INDvsPAK : पाकिस्तान के खिलाफ इस करिश्माई कैच ने पलट दी बाजी, Video वायरल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 7:41 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर