आप जल्द ही रोहित शर्मा को भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी करते देखेंगे: किरण मोरे

भारत में स्प्लिट कैप्टंसी का मुद्दा पिछले काफी वक्त से चल रहा है (AP)

भारत में स्प्लिट कैप्टंसी का मुद्दा पिछले काफी वक्त से चल रहा है (AP)

विराट कोहली ने भारत को द्विपक्षीय सीरीज में रिकॉर्ड तोड़ जीत दिलाई है, लेकिन आईसीसी और आईपीएल ट्रॉफी वह अभी तक नहीं जीत पाए हैं. वहीं, दूसरी तरफ रोहित शर्मा ने आईपीएल के पांच खिताब जीते हैं. उनकी कप्तानी में भारत ने एशिया कप और निदहास ट्रॉफी भी जीती है.

  • Share this:

नई दिल्ली. पूर्व भारतीय क्रिकेटर किरण मोरे (Kiran More) को पूरा विश्वास है कि विराट कोहली (Virat Kohli) जल्द ही रोहित शर्मा के लिए कुछ प्रारूपों में भारतीय टीम (Indian Cricket Team) का नेतृत्व करने का मार्ग खोलेंगे. पूर्व की पर-बल्लेबाज इस मामले पर अपनी राय देते हुए कहा कि आगामी दौरे के बाद तस्वीर और साफ हो जाएगी. यानी अक्टूबर-नवंबर में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप से ठीक पहले. भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से विराट कोहली-रोहित शर्मा की कप्तानी की बहस चल रही है. कई लोगों का मानना ​​है कि कोहली को व्हाइट बॉल क्रिकेट टीमों की जिम्मेदारी रोहित शर्मा (Rohit Sharma) को सौंपनी चाहिए, जिनका आईपीएल में शानदार रिकॉर्ड है. दूसरी तरफ क्रिकेट पंडित और प्रशंसक कोहली के शानदार अंतरराष्ट्रीय आंकड़ों की तरफ इशारा करते हैं, जिनमें विराट ने सिर्फ सेमीफाइनल और फाइनल में मात खाई है.

किरण मोरे ने तर्क दिया कि कोहली ने अपने करियर का एक बड़ा हिस्सा महेंद्र सिंह धोनी के अधीन बिताया है, और उनकी तरह, वह भी निकट भविष्य में जिम्मेदारी साझा करने पर विचार कर सकते हैं. मोरे ने इंडिया टीवी को दिए इंटरव्यू में कहा, ''मुझे लगता है कि बोर्ड का विजन इन चीजों को आगे बढ़ाता है. मुझे विश्वास है कि रोहित शर्मा को जल्द ही मौका मिलेगा. विराट कोहली एक चतुर कप्तान हैं, जो एमएस धोनी के नेतृत्व में खेले हैं. वह कब तक वनडे और टी20 की कप्तानी करना चाहते हैं? वह भी सोचेंगे. इंग्लैंड दौरे के बाद आप इन फैसलों के बारे में और जानेंगे.''

इंग्लैंड दौरे से पहले कपिल देव ने दी ऋषभ पंत को खास सलाह, की रोहित शर्मा से तुलना

विराट कोहली ने भारत को द्विपक्षीय सीरीज में रिकॉर्ड तोड़ जीत दिलाई है, लेकिन आईसीसी और आईपीएल ट्रॉफी वह अभी तक नहीं जीत पाए हैं. वहीं, दूसरी तरफ रोहित शर्मा ने आईपीएल के पांच खिताब जीते हैं. उनकी कप्तानी में भारत ने एशिया कप और निदहास ट्रॉफी भी जीती है. किरण मोरे ने आगे कहा कि तीनों प्रारूपों में अंतरराष्ट्रीय टीम की कप्तानी करना कोई आसान काम नहीं है. उन्होंने कोहली के इस प्रयास की तारीफ की, लेकिन दावा किया कि कप्तानी का उनका एक त्याग आने वाली पीढ़ियों के लिए एक मिसाल कायम करेगा.

किरण मोरे ने कहा, ''स्प्लिट कैप्टंसी भारत में काम कर सकती है. भारतीय टीम के भविष्य के बारे में सीनियर खिलाड़ी क्या सोचते हैं, यह बहुत महत्वपूर्ण है. विराट कोहली के लिए एक साथ तीन टीमों की कप्तानी करना इतना आसान नहीं है और साथ ही उन्हें अच्छा प्रदर्शन भी करना होगा. और मैं इसका श्रेय उन्हें देता हूं क्योंकि कप्तानी करते और जीतते हुए हर प्रारूप में प्रदर्शन करते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि एक समय ऐसा भी आएगा जब विराट कोहली कहेंगे 'अब बहुत हो गया, रोहित को टीम का नेतृत्व करने दो'.

उन्होंने कहा, ''यह वास्तव में बहुत अच्छा होगा. और यह भारतीय क्रिकेट के लिए एक बहुत बड़ा संदेश है, जो पीढ़ियों तक मिसाल बनेगा. यह सम्मान की बात है कि अगर रोहित शर्मा अच्छा कर रहे हैं तो उन्हें मौका दिया जाना चाहिए. मुझे लगता है कि विराट कोहली ऐसा करके एक बड़ी मिसाल कायम करेंगे. भविष्य उनके निर्णय पर टिका होगा- वह कितना आराम चाहते हैं. अगर वह टेस्ट टीम या वनडे टीम की कप्तानी करना चाहता हैं. वो भी इंसान है, उनका दिमाग भी थक जाता है.''



मिताली राज के पिता ऑटो चालकों की कर रहे मदद, मास्क के लिए बेटी ने ही दे दी सीख

बता दें कि इंग्लैंड का आगामी दौरा विराट कोहली को एक बार और सभी के लिए अपने अधिकार पर मुहर लगाने का सुनहरा अवसर प्रदान करेगा. न्यूजीलैंड के खिलाफ उद्घाटन विश्व टेस्ट चैंपियनशिप जीतना और इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट सीरीज जीतकर वह भारतीय क्रिकेट इतिहास में अपना नाम दर्ज कर सकते हैं. हालांकि, छह टेस्ट मैचों में जीत से ज्यादा हार इस स्प्लिट कैप्टंसी के मुद्दे को एक नई आवाज दे सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज