युवराज सिंह को लेकर बीसीसीआई-COA में मतभेद, बड़ा सवाल-युवी पर इतनी मेहरबानी क्यों

प्रशासकों की समिति (COA) ने कहा कि विशेष मामला मानते हुए युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को दी गई कनाडा टी-20 लीग (Canada t-20 league) में खेलने की अनुमति, हैरान बीसीसीआई (BCCI) ने कहा-नियम एक जैसे क्यों नहीं

News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 2:57 PM IST
युवराज सिंह को लेकर बीसीसीआई-COA में मतभेद, बड़ा सवाल-युवी पर इतनी मेहरबानी क्यों
युवराज सिंह कनाडा टी-20 लीग में टोरंटो नेशनल्स टीम के कप्तान थे. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: August 16, 2019, 2:57 PM IST
हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके युवराज सिंह (Yuvraj Singh) को लेकर प्रशासकों की समिति (Committee of Administrators) और बीसीसीआई (BCCI) का अलग-अलग रुख सामने आ रहा है. दरअसल, युवराज सिंह ने कनाडा टी-20 लीग (Canada T-20 League) में हिस्सा लेने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था. इसके बाद वे बीसीसीआई से अनुमति लेकर इस लीग में टोरंटो नेशनल्स (Toronto Nationals) टीम के कप्तान के तौर पर मैदान में उतरे थे.

युवराज सिंह को बीसीसीआई से अनुमति मिलने के बाद कई पूर्व क्रिकेटरों को उम्मीद जगी थी कि वे भी अब विदेशी टी-20 लीगों में खेल सकेंगे. मगर अब प्रशासकों की समिति ने साफ कर दिया है कि युवराज सिंह को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति देने का फैसला विशेष परिस्थितियों में किया गया था और अनय किसी भारतीय क्रिकेटर को आईपीएल के अलावा किसी अन्य लीग में खेलने के लिए अनुमति नहीं दी जाएगी.

सीओए के एक सदस्य ने कहा कि युवराज सिंह के मामले में जो कुछ भी हुआ, वो एक अपवाद था. हम किसी भी मौजूदा और पूर्व क्रिकेटर को विदेशी लीगों में खेलने के लिए अनुमति देने नहीं जा रहे हैं. हमने इस मुद्दे पर विचार किया, लेकिन फिर ये फैसला किया गया कि इस पर कोई कदम उठाने की फिलहाल कोई आवश्यकता नहीं है. वहीं, बीसीसीआई इस मामले में सीओए के रुख से हैरान है.

cricket, bcci, yuvraj singh, indian cricket team, t-20 league, क्रिकेट, बीसीसीआई, युवराज सिंह, भारतीय क्रिकेट टीम, टी-20 क्रिकेट, मनप्रीत गोनी, manpreet goni
युवराज सिंह ने कनाडा टी-20 लीग में खेलने के लिए हाल ही में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. (फाइल फोटो)


बीसीसीआई के अनुसार, हमारा मानना है कि सभी खिलाड़ियों के साथ समानता का व्यवहार किया जाना चाहिए. निश्चित रूप से ये सही नहीं है. जब बात खिलाड़ियों के करियर की हो तो अलग-अलग रवैया नहीं अपनाया जा सकता. बीसीसीआई के एक अधिकारी के अनुसार, कई पूर्व खिलाड़ी ऐसे हैं जो भविष्य की योजनाओं का हिस्सा नहीं हैं. ऐसे में ये फैसला उनके लिए सही नहीं हैं. अगर कोई खिलाड़ी संन्यास ले चुका है तो उसे दुनिया में कहीं भी खेलने की अनुमति दी जानी चाहिए. ईमानदारी से कहूं तो आप भौगोलिक रूप से रिटायर नहीं होते. अगर किसी लीग में संन्यास ले चुके खिलाड़ियों को खिलाया जाता है तो ये आईसीसी की समस्या है. मगर जहां तक सीओए के इस यू-टर्न की बात है तो ये गलत है.

इंटरव्यू शुरू, आज शाम 7 बजे होगा टीम इंडिया के नए कोच का ऐलान, जानिये किसे मिलेगी कमान
बल्लेबाज ने अंपायर के सिर पर मारा झन्नाटेदार शॉट, हो गई मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 16, 2019, 2:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...