Home /News /sports /

युवराज सिंह के एक शतक के इंतजार में दुनिया ने देखी 409 सेंचुरी

युवराज सिंह के एक शतक के इंतजार में दुनिया ने देखी 409 सेंचुरी

Photo: PTI

Photo: PTI

भले ही युवराज को टीम इंडिया में जगह बनाने के साथ सेंचुरी बनाने में इतना वक्त लगा हो, लेकिन वक्त के साथ क्रिकेट में कई नायाब रिकॉर्ड बने. इनमें से कुछ के तो गवाह टीम इंडिया के क्रिकेटर बने.

    कटक वनडे में युवराज सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ 150 रनों की धमाकेदार पारी खेलकर जता दिया कि अब भी उनमें रनों की भूख बची हुई है. इस पारी में युवी अपने पूरे रंग में दिखे और इंग्लैंड के गेंदबाजों की जमकर धुनाई की.

    युवराज ने 150 रनों की पारी में 127 गेंदों का सामना किया. इस पारी में युवराज ने 21 चौके और तीन छक्के जड़े. इस दौरान युवराज का स्ट्राइक रेट 118.11 था. युवी की इस पारी की बदौलत भारत ने 50 ओवर में छह विकेट खोकर 381 रन बनाए और 15 रनों से रोमांचक जीत दर्ज की.

    पिछले छह साल में युवराज का यह पहला अंतरराष्ट्रीय शतक है. 2011 के वर्ल्ड कप में युवराज ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ 113 रनों की पारी खेली थी. इन दो शतकों में करीब 5 साल, 9 महीने और 30 दिन का अंतर रहा.

    2011 वर्ल्‍ड कप के बाद की 17 पारियों ने युवराज ने सिर्फ 18.32 की औसत से रन बनाए थे. इस दौरान उन्‍होंने सिर्फ दो अर्द्धशतक लगाए.

    युवराज के लिए यह सेंचुरी बेहद खास
    ऐसे में युवराज सिंह के लिए यह सेंचुरी बेहद मायने रखती है. खासकर इससे टीम इंडिया अब नए मनोबल के साथ जून में होने वाली आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में मैदान में उतरेगी.

    दिलचस्प बात यह है कि छह साल में युवराज के शतक के बीच क्रिकेट की दुनिया में भी बहुत कुछ बदला है. भले ही युवराज को टीम इंडिया में जगह बनाने के साथ सेंचुरी बनाने में इतना वक्त लगा हो, लेकिन वक्त के साथ क्रिकेट में कई नायाब रिकॉर्ड बने. इनमें से कुछ के तो गवाह टीम इंडिया के क्रिकेटर बने.

    मार्च 2011 के वर्ल्ड कप में वेस्टइंडीज के खिलाफ युवराज के शतक (113) और अब जनवरी, 2017 में कटक वनडे में इंग्लैंड के खिलाफ सेंचुरी (150) के बीच क्या-क्या क्रिकेट की दुनिया में हुआ. एक नजर इन नायाब रिकॉर्ड पर.

    1. इस दौरान अंतरराष्ट्रीय वनडे मैचों में कुल 409 शतक लगे.
    2. इन शतकों में अकेले विराट कोहली ने 22 शतक जड़े.
    3. 14 भारतीय बल्लेबाजों ने भी सेंचुरी जमाई.
    4. यहां तक इस दौरान एक नहीं, बल्कि दो बार दोहरे शतक लगे.
    5. 26 भारतीय क्रिकेटरों ने इंटरनेशनल वनडे मैच में डेब्यू किया.
    6. वनडे में अलग-अलग मुल्कों में 62 कप्तान बने.
    7. सचिन तेंदुलकर, माइकल क्लार्क, वीरेंद्र सहवाग, शेन वाट्सन, कुमार संगकारा, महेला जयवर्धने, डेनियल विटोरी, ग्रीम स्मिथ, जहीर खान, ब्रेट ली सहित कई दिग्गजों ने क्रिकेट को अलविदा कहा.

    ये रिकॉर्ड भी युवी के नाम
    इसी मैच में महेंद्र सिंह धोनी एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 200 छक्के जड़ने वाले दुनिया के पांचवें बल्लेबाज बने, जबकि युवराज सिंह ने इंग्लैंड के खिलाफ सर्वाधिक रन बनाने का सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड अपने नाम किया.

    धोनी ने 134 रन की पारी खेली और इस दौरान छह छक्के लगाए. अपना 285वां मैच खेल रहे धोनी के नाम पर अब 203 छक्के दर्ज हो गए हैं. वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले भारतीय और दुनिया के पांचवें बल्लेबाज हैं.

    पाकिस्तान के शाहिद अफरीदी ने सर्वाधिक (351) छक्के लगाए हैं. अफरीदी के बाद श्रीलंका के सनथ जयसूर्या (270), वेस्टइंडीज के क्रिस गेल (238), धोनी और न्यूजीलैंड के ब्रैंडन मैकुलम (200) का नंबर आता है. धोनी ने इनमें से सात छक्के एशिया एकादश के लिए लगाए हैं. भारत के लिए धोनी ने 196 छक्के जड़े हैं और इस तरह से उन्होंने तेंदुलकर के 195 छक्के का रिकॉर्ड भी तोड़ा.

    करियर का सर्वोच्च स्कोर
    भारत के लिए वनडे में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले बल्लेबाजों में धोनी और तेंदुलकर के बाद सौरव गांगुली (189), युवराज (150), वीरेंद्र सहवाग (131), सुरेश रैना (120) और रोहित शर्मा (117) का नंबर आता है.

    युवराज ने 150 रन बनाए जो उनके करियर का सर्वोच्च स्कोर है. वह इंग्लैंड के खिलाफ 150 रन की संख्या तक पहुंचने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज हैं. अपनी इस पारी के दौरान युवराज ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे में अपने कुल रनों की संख्या 1478 रन पर पहुंचाई, जो नया रिकॉर्ड है.

    युवराज ने तेंदुलकर (1455 रन) के रिकॉर्ड को तोड़ा. इनके बाद धोनी (1400 रन) का नंबर आता है. युवराज ने इंग्लैंड के खिलाफ चौथा शतक लगाकर विराट कोहली के तीन शतकों के रिकॉर्ड को भी तोड़ा.

    युवराज ने अपने करियर का सर्वोच्च स्कोर बनाया. इससे पहले उनका उच्चतम स्कोर 139 रन था, जो उन्होंने 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में बनाया था. युवराज और धोनी ने चौथे विकेट के लिए 256 रन जोड़े जो इंग्लैंड के खिलाफ किसी भी टीम की तरफ से नया रिकॉर्ड है.

    इंग्लैंड के खिलाफ सबसे बड़ी भागीदारी
    यह वनडे में चौथे विकेट के लिए दूसरी बड़ी साझेदारी और भारत-इंग्लैंड के बीच किसी भी विकेट के लिए सबसे बड़ी भागीदारी है. धोनी और युवराज ने वनडे में दसवीं बार शतकीय साझेदारी निभायी. यह पांचवीं भारतीय जोड़ी है, जिसने वनडे में दस या इससे अधिक शतकीय साझेदारियां निभायी हैं.

    सौरव गांगुली और तेंदुलकर ने सर्वाधिक 26 शतकीय साझेदारियां निभायी हैं. धोनी ने अपनी पारी के दौरान भारतीय सरजमीं पर 4000 वनडे रन भी पूरे किए. वह तेंदुलकर (6976) के बाद यह कारनामा करने वाले दूसरे बल्लेबाज हैं.

    Tags: Yuvraj singh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर