लाइव टीवी

एमएस धोनी के संन्‍यास को लेकर युवराज सिंह ने मारा ताना

भाषा
Updated: November 4, 2019, 11:18 PM IST
एमएस धोनी के संन्‍यास को लेकर युवराज सिंह ने मारा ताना
एमएस धोनी के साथ युवराज सिंह.

युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने वर्ल्‍ड कप (World Cup) में खेलने वाले विजय शंकर (Vijay Shankar) को टीम इंडिया (Team India) में दोबारा नहीं चुनने पर चयन समिति पर हमला बोला.

  • Share this:
मुंबई. पूर्व भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने सोमवार को दावा किया कि देश के कई क्रिकेटर अपना स्थान गंवाने के डर से थके होने के बावजूद विश्राम नहीं लेते और उम्मीद जताई कि सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) के बीसीसीआई अध्यक्ष (BCCI President) बनने के बाद इसमें बदलाव आएगा. वहीं युवराज सिंह से जब महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) के भविष्‍य को लेकर उठ रहे सवालों पर पूछा गया तो उन्‍होंने भारतीय टीम की चयन समिति पर ताना कसते हुए कहा, 'अपने महान चयनकर्ताओं से पूछो.' निजी लीग में खेलने के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने वाले युवराज ने खिलाड़ियों के संघ का भी समर्थन किया. उच्चतम न्यायालय से नियुक्त लोढ़ा समिति की सिफारिशों के अनुसार खिलाड़ियों का संघ ‘इंडियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन’ पहले ही गठित कर दिया गया है.

युवराज ने पत्रकारों से कहा, ‘हम इसके हकदार हैं क्योंकि कई बार हमें क्रिकेट खेलने के लिए कहा जाता है जबकि हम ऐसा नहीं चाहते. हमें इस दबाव में खेलना होता है कि अगर हम नहीं खेलते हैं तो हमें बाहर कर दिया जाएगा. खिलाड़ियों पर से यह दबाव खत्म होना चाहिए कि अगर वे थके हुए हैं या चोटिल हैं उन्हें तब भी खेलना होगा.’

युवराज सिंह को यो-यो टेस्ट देने के लिए कहा गया था जिसे उन्होंने पास भी किया था.


भारतीय क्रिकेटर्स को जगह गंवाने का डर!

युवराज ने ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल का उदाहरण दिया जिन्होंने मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित मसले के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विश्राम लिया और बोर्ड ने उनका समर्थन किया. उन्होंने कहा, ‘हमारे खिलाड़ी ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि उन्हें अपनी जगह गंवाने का डर रहता है. इसलिए खिलाड़ियों का संघ बेहद महत्वपूर्ण है.’

'गांगुली के आने से बदलेंगी चीजें'
युवराज ने कहा कि सौरव गांगुली के अध्यक्ष बनने के बाद बीसीसीआई में आमूलचूल परिवर्तन होने की संभावना है और अब खिलाड़ियों की भी सुनी जाएगी. उन्होंने कहा, ‘सौरव के अध्यक्ष बनने के बाद भारतीय क्रिकेट में कई नई चीजें होंगी. प्रशासकों की नजर में क्रिकेट और क्रिकेटरों की नजर में क्रिकेट में दोनों में काफी अंतर है. एक बेहद सफल कप्तान क्रिकेटरों के हितों को ध्यान में रखेगा जहां खिलाड़ियों की बातें भी सुनी जा सकती हैं. ऐसा पहले नहीं हुआ. अब वह क्रिकेटरों की बात भी सुनेंगे कि वे क्या चाहते हैं.’
Loading...

harbhajan singh, suryakumar yadav, team india number 4, indian cricket team number 4 spot, हरभजन सिंह, सूर्यकुमार यादव, इंडियन क्रिकेट टीम, टीम इंडिया नंबर 4, युवराज सिंह, yuvraj singh
युवराज सिंह टीम इंडिया में चौथे नंबर की जगह को लेकर पहले भी कड़ी टिप्पणी करते रहे हैं. (फाइल फोटो)


'हमें बेहतर चयनकर्ताओं की जरूरत'
युवराज सिंह ने एमएसके प्रसाद की अध्‍यक्षता वाली भारतीय क्रिकेट टीम की चयन समिति पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा, ‘हमें निश्चित तौर पर बेहतर चयनकर्ताओं की जरूरत है. चयनकर्ताओं का काम आसान नहीं होता है. जब भी वे 15 खिलाड़ियों का चयन करेंगे तब ऐसी बातें होंगी कि उन 15 खिलाड़ियों का क्या होगा जो टीम में जगह बनाने में नाकाम रहे. यह मुश्किल काम है लेकिन मेरी समझ में आधुनिक क्रिकेट को लेकर उनकी सोच उस स्तर तक नहीं है जैसी होनी चाहिए थी.’

'3-4 पारियां देकर खिलाड़ी नहीं बना सकते'
युवराज ने वर्ल्‍ड कप में खेलने वाले विजय शंकर को टीम इंडिया में दोबारा नहीं चुनने पर भी चयन समिति पर हमला बोला. उन्‍होंने कहा, 'बीच में विजय शंकर था और अब वह गायब है. आप उसे खिलाते हैं और फिर उसे हटा देते हैं. आप कैसे खिलाड़ी बनाएंगे? आप 3-4 पारियां देकर खिलाड़ी नहीं बना सकते. किसी खिलाड़ी को लंबे समय तक मौका देना होता है.'

यह भी पढ़ें-

युवराज सिंह ने चयनकर्ताओं पर बोला हमला, कहा- हमें बेहतर लोगों की जरूरत
दिल्‍ली की हवा से दो बांग्‍लादेशी क्रिकेटर्स को उल्‍टी, पंत खांसी से परेशान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 10:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...