युजवेंद्र चहल को थी इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट टीम में चुने जाने की उम्मीद, कही दिल की बात

युजवेंद्र चहल ने ने 31 फर्स्ट क्लास मैचों में 84 विकेट झटके हैं   (AP)

युजवेंद्र चहल ने ने 31 फर्स्ट क्लास मैचों में 84 विकेट झटके हैं (AP)

जब भी भारत के फ्रंटलाइन स्पिनर जैसे रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा चोटिल होते हैं, दूसरे खिलाड़ियों को मौका दे दिया जाता है, लेकिन चहल को नहीं.

  • Share this:

नई दिल्ली. भारतीय लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) जल्द से जल्द भारतीय टेस्ट टीम में जगह बनाने को लेकर आशान्वित हैं. इतने वर्षों में, चहल ने कई युवा खिलाड़ियों को लाल गेंद के प्रारूप में अपने अवसरों का लाभ उठाते देखा है, लेकिन 30 वर्षीय चहल के लिए टेस्ट क्रिकेट में अभी भी कोई जगह नजर नहीं आ रही है. हरियाणा के स्पिनर का फर्स्ट क्लास क्रिकेट में शानदार रिकॉर्ड रहा है. उन्होंने 31 मैचों में 84 विकेट झटके हैं, लेकिन चयनकर्ता लगातार उन्हें अनदेखा कर रहे हैं. जब भी भारत के फ्रंटलाइन स्पिनर जैसे रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा चोटिल होते हैं, दूसरे खिलाड़ियों को मौका दे दिया जाता है, लेकिन चहल को नहीं.

वाशिंगटन सुंदर, कुलदीप यादव, शाहबाज नदीम और अक्षर पटेल ने वर्ष 2021 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच खेला. यहां भी चहल को मौका नहीं मिल पाया. युजवेंद्र चहल ने अपने टेस्ट करियर को लेकर स्पोर्ट्स तक से बात की और कहा कि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद टेस्ट टीम में आने की उनकी संभावना है. उन्होंने कहा, ''जाहिर है, आप सफेद जर्सी पहनना चाहते हैं. अगर कोई आपको टेस्ट खिलाड़ी कहे तो इससे बड़ी कोई तारीफ नहीं है. पिछले 3-4 सालों में मैंने 10 प्रथम श्रेणी मैचों में 50 विकेट चटकाए हैं, जिनमें से दो इंडिया ए गेम्स रहे.''

युजवेंद्र चहल बोले, अगर रवींद्र जडेजा पेसर होते तो ही मैं और कुलदीप टीम में साथ खेल पाते

अश्विन और जडेजा पिछले पांच से छह वर्षों के दौरान विशेष रूप से घर पर भारत के लिए अभूतपूर्व रहे हैं. टेस्ट में निचले क्रम के बल्लेबाजों का योगदान कितना उपयोगी है, इस पर विचार करते हुए भारतीय चयनकर्ताओं का स्पिन ऑलराउंडरों को पसंद आम बात है. चहल की बल्लेबाजी में असमर्थता भी उन्हें अभी तक टेस्ट टीम में शामिल नहीं किए जाने का एक कारण हो सकता है. सुंदर और पटेल ने अपना डेब्यू किया. उन्होंने बल्ले और गेंद दोनों से भारत के लिए असाधारण रूप से अच्छा प्रदर्शन किया.
चहल ने कहा, ''आपने देखा कि अक्षर आए और अच्छा प्रदर्शन किया. अश्विन, जडेजा और कुलदीप पहले से ही यहां हैं. इसलिए आपको लगता है कि 3-4 खिलाड़ी पहले से ही गिनती में हैं और आपके लिए मौका मिलना मुश्किल होगा. खासकर जब वे इतना अच्छा प्रदर्शन कर रहे हों. अश्विन भैया ने 400 टेस्ट विकेट पूरे किए और जड्डू पा ने 250 से अधिक विकेट लिए हैं. उन्हें देखकर आपको लगता है कि मौका पाने के लिए आपको और सुधार करना होगा.''

सूर्यकुमार यादव ने बताया 'स्कूप शॉट' खेलने का तरीका, आकाश चोपड़ा बोले- डर नहीं लगता

लेग स्पिनर को आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल के लिए कॉल-अप की उम्मीद नहीं थी, लेकिन वह इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के लिए टीम में शामिल होने की उम्मीद कर रहे थे. चहल ने कहा, ''नहीं, इस बार मुझे कॉल की उम्मीद नहीं थी, लेकिन हां जब इंग्लैंड ने भारत का दौरा किया और हमारे कुछ स्पिनर घायल हो गए तब मुझे कहीं ऐसा लगा कि मेरा नाम मेरा शायद आ जाए.''

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज