इस बड़े क्रिकेटर ने आईसीसी से की मांग- छक्का मारने वाला बल्लेबाज उठाकर लाए बॉल!

युजवेंद्र चहल की आईसीसी से अजीबोगरीब मांग

युजवेंद्र चहल की आईसीसी से अजीबोगरीब मांग

आईसीसी (ICC) कोरोना वायरस खत्म होने के बाद क्रिकेट के कई नियम बदल सकती है, इस मुद्दे पर एक बड़े गेंदबाज ने उसे एक अजीबोगरीब सलाह दे दी है

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 29, 2020, 6:44 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से क्रिकेट पूरी तरह ठप है. ऐसा माना जा रहा है कि जब ये महामारी खत्म हो जाएगी, उसके बाद क्रिकेट के कई नियम बदले जाएंगे, जिसमें आईसीसी (ICC) गेंदबाजों को गेंद पर थूक या लार का इस्तेमाल करने से रोक सकती है. अगर ऐसा होता है तो इस नियम से बल्लेबाजों को फायदा और गेंदबाजों को और नुकसान पहुंच सकता है. क्योंकि तेज गेंदबाजों थूक और लार की मदद से ही गेंद को चमकाते हैं जिसकी वजह से वो हवा में स्विंग करती है. आईसीसी इससे पहले लार के इस्तेमाल पर रोक लगाए, गेंदबाजों ने इसके खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी है. कई गेंदबाज कह रहे हैं कि उन्हें लार की जगह दूसरी चीज के इस्तेमाल की इजाजत मिलनी चाहिए. हालांकि टीम इंडिया के लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने आईसीसी को एक अजीबोगरीब सलाह दे दी है.

युजवेंद्र चहल की अजीब सलाह
गेंद पर लार के इस्तेमाल पर बैन लगने की खबरों के बीच युजवेंद्र चहल (Yuzvendra Chahal) ने भी आईसीसी को एक सुझाव दिया है. टीम इंडिया के इस लेग स्पिनर ने मजाक ही मजाक में कहा कि आईसीसी कोरोना वायरस खत्म होने के बाद एक नियम और बनाए. युजवेंद्र ने कहा, 'आईसीसी को ये नियम भी बनाना चाहिए कि जो बल्लेबाज छक्का मारेगा, वही गेंद लेकर आएगा' स्पोर्ट्स तक से बातचीत में चहल ने कहा, 'अगर गेंद में लार का इस्तेमाल बंद हो जाएगा तो तेज गेंदबाजों को स्विंग नहीं मिलेगी और स्पिनरों को ड्रिफ्ट नहीं मिल पाएगी. ऐसे में बल्लेबाज और ज्यादा छक्के लगाएंगे.'

बता दें वैसे ही क्रिकेट के नियम बल्लेबाजों की मदद करते हैं. पिच काफी ज्यादा पाटा बनाई जाती हैं, इसके अलावा पावर प्ले और दो ओर से नई गेंदों के इस्तेमाल की वजह से रिवर्स स्विंग बंद हो गई. इससे बल्लेबाज को काफी फायदा मिलता है. यही वजह है कि युजवेंद्र चहल ने मजाक ही मजाक में आईसीसी पर तंज कसा है.
ये नियम भी बदल सकते हैं


वैसे सिर्फ गेंद पर लार लगाने के नियम ही नहीं दूसरी कई और चीजों में बदलाव किया जा सकता है. जैसे कि खिलाड़ी विकेट के बाद होने वाले जश्न को बदल सकते हैं. इसके अलावा ड्रिंक्स ब्रेक में खिलाड़ी अलग-अलग बोतलों से पानी पी सकते हैं. यही नहीं ड्रेसिंग रूम में खिलाड़ियों के बैठने के तौर-तरीके भी बदल सकते हैं. सवाल ये है कि ये सब चीजें संभव हैं या नहीं.

विवाद: ग्लेन मैक्ग्रा ने इस बल्लेबाज को दी गला काटने की धमकी, मैदान पर...
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज