ZIM vs PAK: पाक कप्तान बाबर आजम ने कहा- मेरे पास फैसले लेने का हक, मैनेजमेंट सिर्फ राय देता है

ZIM vs PAK: दो मैचों की टेस्ट सीरीज कल से शुरू हो रही है. (AFP)

ZIM vs PAK: दो मैचों की टेस्ट सीरीज कल से शुरू हो रही है. (AFP)

बाबर आजम (Babar Azam) को लेकर पाकिस्तान के पूर्व खिलाड़ी सवाल उठाते रहते हैं. उनका कहना है कि वे खुद फैसले नहीं ले सकते. लेकिन पाकिस्तान के कप्तान ने इस दावों का खंडन किया है. दो मैचों की टेस्ट सीरीज (ZIM vs PAK) 29 अप्रैल से शुरू हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 7:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पाकिस्तान के शीर्ष बल्लेबाज बाबर आजम (Babar AZam) ने बुधवार को इस आलोचना को खारिज किया कि बतौर कप्तान उनके पास कोई अधिकार नहीं है और मुख्य कोच मिसबाह उल हक के फैसलों पर वह अमल करते हैं. हाल ही में पूर्व कप्तान शोएब मलिक ने ट्वीट में इशारा किया था कि बाबर खुद फैसले नहीं लेता है. कुछ और पूर्व कप्तानों और खिलाड़ियों ने भी बाबर को स्वतंत्र फैसले लेने की सलाह दी थी.

बाबर ने एक वर्चुअल प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘मुझे समझ में नहीं आता, लेकिन बार-बार मीडिया में ऐसा कहा जाता है कि मेरे पास अधिकार नहीं है और मैं खुद फैसले नहीं लेता.’ उन्होंने कहा, ‘मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि टीम चयन और अन्य मामलों में मेरे पास पूरा अधिकार है. मैंने मैदान पर सारे फैसले लिए हैं और अंतिम एकादश मैं तय करता हूं. प्रबंधन अपनी राय देता है. बतौर कप्तान मुझे अपनी जिम्मेदारियों का अहसास है.’

कोच के साथ कोई दिक्कत नहीं

बाबर आजम ने कहा कि कोच के साथ उन्हें किसी तरह की दिक्कत नहीं है. उन्होंने कहा कि टीम मैनेजमेंट सभी खिलाड़ियों को सपोर्ट कर रहा है. सभी खिलाड़ी खुश हूं. हालांकि कई पुराने दिग्गज खिलाड़ियों ने लिमिटेड ओवर क्रिकेट के लिए नए कोच की मांग की है. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में भी इसे लेकर बहस चल रही है. पाक को जिम्बाब्वे के खिलाफ टी20 मैच में शर्मनाक हार मिली थी.
यह भी पढ़ें: IPL 2021: आईपीएल का प्रदर्शन इंटरनेशनल टी20 से बिल्कुल उलट, टी20 वर्ल्ड कप में यही अहम होगा

जिम्बाब्वे को घरेलू मैदान का फायदा मिलेगा

पाकिस्तान और जिम्बाब्वे के बीच दाे मैचों की टेस्ट सीरीज 29 अप्रैल गुरुवार से शुरू हो रही है. इससे पहले टी20 सीरीज पाक ने 2-1 से जीती थी. टेस्ट सीरीज को लेकर बाबर आजम ने कहा कि घर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेली सीरीज में उतरने वाले खिलाड़ियाें को ही मौका दिया जाएगा. जिम्बाब्वे की टीम भले ही रैंकिंग में काफी नीचे हो. लेकिन हम उसे हल्के में नहीं लेंगे. उसके पास घरेलू मैदान का अनुभव है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज