650 से ज्यादा विकेट लेने वाला गेंदबाज संभालता है बच्चे, पत्नी चलाती है घर

650 से ज्यादा विकेट लेने वाला गेंदबाज संभालता है बच्चे, पत्नी चलाती है घर
जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान ग्रेम क्रीमर संभालते हैं बच्चे, पत्नी करती है काम

एक ऐसा गेंदबाज जिसकी फिरकी (Leg Spinner) ने बड़े-बड़े बल्लेबाजों को परेशान किया, वो आज घर पर रहकर बच्चों की देखभाल करता है

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. एक ऐसा गेंदबाज जिसने अपनी फिरकी से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 365 विकेट चटकाए. जिसने लिस्ट-ए क्रिकेट में 226 वनडे विकेट लिये, यही नहीं टी20 क्रिकेट में भी उसने 83 विकेट अपने नाम किये, वो क्रिकेटर आज देश छोड़कर पराए मुल्क में रहता है. यही नहीं ये खिलाड़ी अपनी टीम का कप्तान भी रहा और उसकी अगुवाई में टीम को कामयाबियां भी मिली लेकिन अब वो खिलाड़ी महज 33 साल की उम्र में क्रिकेट छोड़ चुका है और यही नहीं वो कोई काम भी नहीं करता. बात हो रही है जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान और लेग स्पिनर ग्रेम क्रीमर (Graeme Cremer) की, जिनकी कहानी बेहद दिलचस्प है.

कौन हैं ग्रेम क्रीमर?
एलेक्जेंडर ग्रेम क्रीमर (Graeme Cremer) जिम्बाब्वे के पूर्व लेग स्पिनर हैं, उनका जन्म 19 सितंबर, 1986 को हरारे में हुआ था. क्रीमर ने साल 2005 में जब वो सिर्फ 18 साल के थे तब अपना टेस्ट डेब्यू किया था और साल 2009 में वो पहला वनडे मैच खेले थे. क्रीमर को एक टेस्ट मैच स्पेशलिस्ट के तौर पर देखा जाता था लेकिन उन्होंने खुद को वनडे और टी20 में भी साबित किया. जिम्बाब्वे के इस लेग स्पिनर ने 19 टेस्ट में 57 विकेट झटके और वनडे में उन्होंने 96 मैचों में 119 विकेट लिये. टी20 में क्रीमर ने 29 मैचों में 35 विकेट लिये.

ग्रेम क्रीमर रह चुके हैं जिम्बाब्वे के कप्तान




ग्रेम क्रीमर ने की जिम्बाब्वे की कप्तानी


ग्रेम क्रीमर (Graeme Cremer) ने साल 2016 में जिम्बाब्वे की कप्तानी भी संभाली. भारत के खिलाफ उनकी टीम तीन मैचों की वनडे सीरीज जरूर हार गई लेकिन टी20 मैच में जिम्बाब्वे ने भारत को मात दी थी. बतौर कप्तान क्रीमर ने जिम्बाब्वे को श्रीलंका के खिलाफ पहली बार वनडे सीरीज जिताई. फाइनल मैच में जिम्बाब्वे ने श्रीलंका के खिलाफ 300 से ज्यादा का स्कोर खड़ा किया. 16 जुलाई, 2017 को क्रीमर ने श्रीलंका के खिलाफ कोलंबो टेस्ट में 5 विकेट लिए और वो ये कारनामा करने वाले जिम्बाब्वे के पहले कप्तान भी बने. लेकिन साल 2018 में जिम्बाब्वे की टीम साल 2018 क्रिकेट वर्ल्ड कप क्वालिफायर टूर्नामेंट को जीतने में नाकाम रही, जिसके बाद क्रीमर को कप्तानी से हटा दिया गया. इसके बाद क्रीमर ने क्रिकेट भी छोड़ दिया और यही नहीं वो हरारे छोड़कर दुबई बस गए.

अब घर को संभालते हैं क्रीमर
जनवरी 2019 को ग्रेम क्रीमर (Graeme Cremer) दुबई बस गए, जहां वो अपने परिवार को संभालते हैं. क्रीमर की पत्नी मेरना मूरे एक पायलट हैं और वो एमिरेट्स के लिए काम करती हैं. क्रीमर अब घर की देखभाल करते हैं और उनकी पत्नी घर चलाती है.

1983 वर्ल्ड कप पर बनी फिल्म में दिग्गज क्रिकेटर्स के बेटे निभा रहे पिता का रोल

वर्ल्ड कप में भिड़ गए थे अफगानिस्तान-पाक के फैंस, खिलाड़ी भी हुए थे शिकार
First published: June 4, 2020, 9:03 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading