• Home
  • »
  • News
  • »
  • sports
  • »
  • जहीर की नकल में अपनी अक्ल खो बैठा: ईशांत

जहीर की नकल में अपनी अक्ल खो बैठा: ईशांत

ईशांत शर्मा ने कहा है कि जहीर खान जैसे सितारा खिलाड़ियों की नकल करने में वह अपनी अक्ल भूल बैठे थे जिसके कारण उन्हें डेढ़ वर्ष तक टीम से बाहर रहना पड़ा और वापसी के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी।

ईशांत शर्मा ने कहा है कि जहीर खान जैसे सितारा खिलाड़ियों की नकल करने में वह अपनी अक्ल भूल बैठे थे जिसके कारण उन्हें डेढ़ वर्ष तक टीम से बाहर रहना पड़ा और वापसी के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी।

ईशांत शर्मा ने कहा है कि जहीर खान जैसे सितारा खिलाड़ियों की नकल करने में वह अपनी अक्ल भूल बैठे थे जिसके कारण उन्हें डेढ़ वर्ष तक टीम से बाहर रहना पड़ा और वापसी के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी।

  • Share this:
    डोमिनिका। वेस्टइंडीज दौरे के जरिए भारतीय टीम में जोरदार वापसी करने वाले तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने कहा है कि जहीर खान जैसे सितारा खिलाड़ियों की नकल करने में वह अपनी अक्ल भूल बैठे थे जिसके कारण उन्हें डेढ़ वर्ष तक टीम से बाहर रहना पड़ा और वापसी के लिये कड़ी मेहनत करनी पड़ी।

    अपनी तूफानी गेंदबाजी के कारण 'राजधानी एक्सप्रेस' के नाम से मशहूर ईशांत ने कहा, उन दिनों मैं अपने वरिष्ठ तेज गेंदबाज जहीर की नकल कर रहा था। वह बेशक एक अच्छे गेंदबाज हैं, लेकिन मुझे उनकी नकल नहीं करनी चाहिये थी। मैंने यह गलती की। उन्होंने कहा, मैंने जहीर की नकल तब शुरू की जब दक्षिण अफ्रीका की टीम भारतीय दौरे पर आयी थी। मैं गेंद को स्विंग कराना चाहता था, लेकिन इसके कारण मैं अपनी स्वाभाविक गेंदबाजी भूल बैठा। श्रृंखला में धमाकेदार प्रदर्शन के साथ अब तक 18 विकेट ले चुके ईशांत ने कहा, जब मैं स्वाभाविक तरीके से गेंदबाजी करता हूं तो मेरी गेंद खुद ही इनस्विंग करने लगती है। यह मेरा प्लस प्वांइट रहा है। मैं नकल के चक्कर में यह भी छोड़ बैठा था। नकल करना मेरी सबसे बड़ी भूल थी।

    दिल्ली के ईशांत ने कहा, मैं पूरी लेंथ से गेंद स्विंग करना चाहता था, लेकिन इसके कारण मेरे दौड़ने का तरीका और मेरी गेंदबाजी सब बुरी तरह प्रभावित हुई। अब मैंने सब ठीक कर लिया है। मात्र 19 वर्ष की आयु में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने वाले ईशांत ने वर्ष 2008 के ऑस्ट्रेलियाई दौरे में अपनी इनस्विंग गेंदों से रिकी पोंटिंग के छक्के छुड़ा दिये थे, लेकिन उसके एक वर्ष बाद ही उनकी गेंदबाजी धारदार नहीं रही और अंतत: वह भारतीय टीम से बाहर हो गये।

    वेस्टइंडीज में एक टेस्ट में दस विकेट लेने वाले एकमात्र भारतीय तेज गेंदबाज ईशांत ने कहा, अब मैं अपनी लय में हूं और अपनी गेंदबाजी का लुत्फ उठा रहा हूं। मैं गेंद डालने से पहले ही यह सोच लेता हूं कि मुझे क्या करने की जरूरत है। मैं अपनी गेंदबाजी, गेंद की गति और उछाल पर पूरा ध्यान दे रहा हूं। ईशांत ने कहा, इन डेढ़ वर्षों में मैंने बहुत संघर्ष किया है और टीम में वापसी के लिये बहुत कड़ी मेहनत की है। मैं अपनी लय अब बरकरार रखना चाहता हूं। फिलहाल शानदार लय में चल रहे ईशांत ने वेस्टइंडीज के खिलाफ चल रही टेस्ट श्रृंखला में अपना तूफानी प्रदर्शन जारी रखा है। उन्होंने तीसरे और अंतिम टेस्ट के पहले दिन भी सुबह के सत्र में दो विकेट झटककर वेस्ट इंडीज को नाजुक स्थिति में पहुंचा दिया।

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज