अपना शहर चुनें

States

टी-20 विश्व कप: आयरलैंड से 7 विकेट से जीता ऑस्ट्रेलिया

कोलंबो स्थित प्रेमदासा स्टेडियम में बुधवार को खेले गए ग्रुप बी के एक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने आयरलैंड को सात विकेट से हराकर जीत के साथ श्रृंखला में आगाज किया।
कोलंबो स्थित प्रेमदासा स्टेडियम में बुधवार को खेले गए ग्रुप बी के एक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने आयरलैंड को सात विकेट से हराकर जीत के साथ श्रृंखला में आगाज किया।

कोलंबो स्थित प्रेमदासा स्टेडियम में बुधवार को खेले गए ग्रुप 'बी' के एक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने आयरलैंड को सात विकेट से हराकर जीत के साथ श्रृंखला में आगाज किया।

  • Share this:
कोलंबो। कोलंबो स्थित प्रेमदासा स्टेडियम में बुधवार को खेले गए ग्रुप 'बी' के एक मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने आयरलैंड को सात विकेट से हराकर जीत के साथ श्रृंखला में आगाज किया। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए आयरलैंड की टीम ने निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 123 रन बनाए। इसके जवाब में खेलने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम ने शेन वॉटसन की नाबाद अर्धशतकीय पारी की बदौलत 29 गेंद रहते सात विकेट से जीत हासिल कर ली।

124 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया की ओर से डेविड वार्नर और वॉटसन ने पारी की शुरुआत की। दोनों ने पहले विकेट के लिए 60 रन जोड़े। आठवें ओवर में वार्नर 26 रन बनाकर आउट हुए। जॉर्ज डॉकरेल की गेंद पर केविन ओ'ब्रायन ने उनका कैच लपका। उन्होंने 23 गेंदों का सामना किया और चार चौके लगाए।

वॉटसन ने 51 रनों की तेज पारी खेल टीम की जीत सुनिश्चित की। उन्होंने 30 गेंदों का सामना किया और इस दौरान पांच चौके और तीन छक्के लगाए। वह बड़े ही दुर्भाग्यपूर्ण तरीके से रन आउट हुए। माइक हसी के रूप में ऑस्ट्रेलिया का तीसरा और आखिरी विकेट गिरा। हसी ने 11 गेंदों पर 10 रन बनाए। केविन ओ'ब्रायन की गेंद पर वह एलबीडब्लू करार दिए गए।



इससे पहले आयरलैंड की ओर से केविन ओ'ब्रायन ने सबसे अधिक 35 रन बनाए जबकि नियाल ओ'ब्रायन ने 20 रनों की पारी खेली। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए सबसे अधिक 52 रन जोड़े। आयरलैंड की शुरुआत बहुत ही खराब रही। पारी की पहली ही गेंद पर सलामी बल्लेबाज कप्तान विलियम्स पोर्टरफील्ड बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। वॉटसन की गेंद पर वह मिशेल स्टार्क के हाथों लपके गए।
चौथे ही ओवर में आयरलैंड को दूसरा झटका लगा जब 15 रन के कुल योग पर पॉल स्टर्लिग भी चलते बने। स्टार्क की गेंद पर इस बार वॉटसन ने उनका कैच लपका। वह सात रन ही बना सके। उन्होंने 12 गेंदों का सामना किया और एक चौके लगाया। एड जॉयस के रूप में आयरलैंड को तीसरा झटका लगा। उस समय टीम का स्कोर 25 रन था। जॉयस ने 18 गेंदों का सामना किया और तीन चौकों की मदद से उन्होंने 16 रन बनाए। ग्लेन मैक्सवेल की गेंद पर डेविड वार्नर ने उनका कैच लपका।

स्कोर बोर्ड में अभी आठ रन और जुड़े थे कि गैरी विल्सन भी अपना विकेट गंवा बैठे। ब्रेड हॉग की गेंद पर वह एलबीडब्लू आउट करार दिए गए। उन्होंने पांच गेंदों का सामना किया और पांच रन बनाए। केविन ओ'ब्रायन और नियाल ओ'ब्रायन ने पांचवें विकेट के लिए 52 रन जोड़कर टीम को मुश्किलों से निकालने की भरपूर कोशिश की।

अंतिम ओवरों में अलेक्स क्यूसैक और निगेल जोन्स भी कुछ रन बटोरने में सफल रहे। क्यूसैक ने नाबाद 15 रन बनाए जबकि जोंस ने नाबाद 14 रन बनाए। दोनों के बीच नाबाद 22 रनों की साझेदारी हुई। ऑस्ट्रेलिया की ओर से वॉटसन सबसे सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने तीन विकेट हासिल किए जबकि स्टार्क के खाते में दो विकेट गए। मैक्सवेल और हॉग को एक-एक विकेट मिला।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज