क्या टीम इंडिया दे पाएगी राजकोट में जीत का तोहफा?

News18India
Updated: January 10, 2013, 1:56 PM IST
क्या टीम इंडिया दे पाएगी राजकोट में जीत का तोहफा?
सवाल ये है कि क्या बीते महीने में लगातार हार के ग्रॉफ को रोक कर टीम इंडिया क्या क्रिकेट के दीवानों को इस बार जीत का तोहफा देने में कामयाब होगी।
News18India
Updated: January 10, 2013, 1:56 PM IST
नई दिल्ली। इंग्लैंड ने टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया को हराया और अब पांच वनडे मैचों में मुकाबले की बारी है। सीरीज का पहला मैच राजकोट में खेला जाएगा जहां घरेलू सीजन में जमकर रन बरसे हैं। सवाल ये है कि क्या बीते महीने में लगातार हार के ग्रॉफ को रोक कर टीम इंडिया क्या क्रिकेट के दीवानों को इस बार जीत का तोहफा देने में कामयाब होगी।

टीम इंडिया के सामने जीत का फॉर्मूला साफ है। बल्लेबाजों को बुरे दौर से निकलकर रन बनाने होंगे और इस वजह से पहले चार नम्बर पर बल्लेबाजी करने वाले मुंबई के अजिंक्ये रहाणे, दिल्ली के अनुभवी ओपनर गौतम गंभीर, दिल्ली के स्टार बल्लेबाज विराट कोहली और पंजाब के ऑलराउंडर युवराज सिंह पर अहम दारोमदार होगा।

चेतेश्वर पुजारा ने वनडे टीम में शामिल होने का जश्न जबरदस्त तिहरा शतक बनाकर मनाया है। लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे में सौराष्ट्र के बल्लेबाज को मौका मिलना मुश्किल है। पुजारा को शामिल करने के लिए युवराज और सुरेश रैना में से एक को बाहर बैठाना होगा और पहले मैच में ये संभव नहीं लगता। वैसे पुजारा के टीम में शामिल होने से इन दोनों बल्लेबाजों पर जबरदस्त दबाव होगा। गेंदबाजी में टीम इंडिया के लिए दिल्ली के ईशांत शर्मा, यूपी के भुवनेश्वर कुमार, बंगाल के शमी अहमद और तमिलनाडु के आर अश्विन मोर्चा संभालेंगे, जबकि पांचवे गेंदबाज की भूमिका रविंद्र जडेजा की होगी।

दूसरी ओर अगर इंग्लैंड टीम की बात करें तो कप्तान एलेस्टर कुक को ऑफ स्पिनर स्वान, स्विंग गेंदबाज एंडरसन और बल्लेबाज ट्रॉट की कमी खलेगी। ऐसे में बल्लेबाजी में कप्तान एलेस्टर कुक, केविन पीटरसन और बेल की अहम भूमिका होगी। इन तीनों के अलावा बाकी बल्लेबाज भारतीय माहौल में अधिक अनुभव नहीं रखते। अगर गेंदबाजी की बात करें तो जबकि गेंदबाजी में फिन और स्टुअर्ट ब्रॉड का सामना करना भारत के लिए आसान नहीं होगा।

राजकोट के विकेट को देखकर पेपर पर भारतीय वनडे टीम अपने विरोधी से मजबूत है। लेकिन इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हार के बाद टीम इंडिया किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहेगी। भारत को लय में लौटने के लिए बल्लेबाजों का चलना जरूरी है और ऐसे में रहाणे, गंभीर और कोहली पर अहम दारोमदार होगा।


First published: January 10, 2013
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर