होम /न्यूज /खेल /पढ़ें: हर चुनौती का जवाब चेतेश्वर ने सीधे बल्ले से दिया!

पढ़ें: हर चुनौती का जवाब चेतेश्वर ने सीधे बल्ले से दिया!

हैदराबाद टेस्ट के तीसरे दिन भी युवा बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा। पुजारा ने बेहतरीन बल्ले ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली। हैदराबाद टेस्ट के तीसरे दिन भी युवा बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा। पुजारा ने बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए अपने करियर का दूसरा दोहरा शतक जड़ा। पुजारा बड़ी पारियां खेलने के आदी है और उनकी इस काबिलियत को उनके पिता ने बचपन में ही पहचान लिया था।
    पूत के पाँव पालने में ही नजर आ जाते है, चेतेश्वर पुजारा के साथ ऐसा ही कुछ रहा। चार साल की उम्र मैं चेतेश्वर ने गेंद को इस तरीके से मारा कि पिता को लगा, बेटे में कुछ खास है।

    चेतेश्वर को क्रिकेट खून में मिला। पिता को लगा कि कहीं उनका पुत्रमोह तो ऐसा नहीं बोल रहा सो खुद एक क्रिकेटर रहे पिता ने अपने दोस्त करसन घावरी से संपर्क किया। घावरी ने चेतेश्वर को मुंबई बुलाया और बालक के हुनर को देख चौंक गए। चेतेश्वर की जिंदगी ने यहां से उड़ान भरी और आहिस्ते आहिस्ते वो मैराथन पारियों के उस्ताद बनते चले गए। अंडर 14 में चेतेश्वर ने एक बार तीन दिन के एक मैच मैं 306 रन ठोके, पूरी टीम आउट, लेकिन दूसरे छोर पर चेतेश्वर नाबाद रहे।

    बैटिंग तो निखरती चली गई लेकिन निजी जिंदगी ने वक्त वक्त पर नौजवान का इम्तेहां लिया। मां की मौत और फिर फिटनेस की दोहरी मार, क्रिकेट से दूरी ने तकनीक का इम्तेहां लिया, लेकिन पिता अरविंद और बेटा चेतेश्वर हिम्मत हारने वालों में नहीं थे। चेतेश्वर के पिता ने उसकी गलती को वीडियो फूटेज देखकर पकड़ा।

    पिता की बातों को सर आंखों पर रखकर चेतेश्वर ने क्रिकेट में दोबारा जिंदगी शुरू की और टीम इंडिया का कैप नजदीक आता चला गया। चेतेश्वर को टीम इंडिया की अगली दीवार के तौर पर देखा जा रहा है। विदेशी पिचों पर पुजारा की परख बाकी है लेकिन अब तक पेश की गई हर चुनौती का जवाब चेतेश्वर ने बेहतरीन तरीके से सीधे बल्ले से दिया है।

    Tags: Cheteshwar Pujara, Cricket, Rajkot

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें