होम /न्यूज /खेल /पुलिस से बोले विंदू-क्रिकेट पर सट्टा तो सभी लगाते हैं!

पुलिस से बोले विंदू-क्रिकेट पर सट्टा तो सभी लगाते हैं!

आईपीएल के मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी के साथ बैठे दिखे विंदू दारा सिंह पर सट् ...अधिक पढ़ें

    मुंबई। आईपीएल में फिक्सिंग की आग अभिनेता और बिग बॉस सीजन-3 विजेता विंदू दारा सिंह के दामन तक पहुंच गई है। आईपीएल के मैच में चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी के साथ बैठे दिखे विंदू दारा सिंह पर सट्टेबाजी करने और सट्टेबाजों से रिश्तों के संगीन इल्जाम लगे हैं।

    विंदू दारा सिंह के अलावा मुंबई पुलिस ने दो और लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें से एक का नाम अल्पेश पटेल है जो हवाला ऑपरेटर है। अल्पेश पटेल के पास से क्राइम ब्रांच ने 1 करोड़ 28 लाख रुपये बरामद किए हैं। अल्पेश का काम था मुंबई से दुबई पैसे भेजना। सूत्रों की मानें तो अल्पेश पटेल दुबई में डी कंपनी के सट्टेबाज सुनील दुबई के भी संपर्क में था।

    पुलिस की मानी जाए तो क्रिकेट के इस अधर्मयुद्ध में मशहूर पहलवान और अभिनेता दारा सिंह के बेटे विंदू दारा सिंह की भूमिका की पड़ताल की जा रही है। लेकिन उनकी गिरफ्तारी से फिक्सिंग का बॉलीवुड कनेक्शन सामने आ गया है। बताया जा रहा है कि सट्टेबाज रमेश व्यास से पूछताछ के बाद ही विंदू का नाम सामने आया और पुलिस ने बाकायदा सट्टेबाज और विंदू के फोन कॉल्स के रिकॉर्ड खंगालने के बाद ही विंदू को सलाखों के पीछे पहुंचाया।

    मुंबई पुलिस ने विंदू पर संगीन धाराएं लगाई हैं। उनपर IPC की धारा 465 यानि फर्जीवाड़ा करना, धारा-466 यानि सरकारी दस्तावेज में फर्जीवाड़ा, धारा 419 यानि असली पहचान छिपाकर धोखा देना और धारा- 420 यानि धोखा देने के इल्जाम हैं। मुंबई पुलिस के सूत्र बता रहे हैं कि विंदू दारा सिंह सट्टेबाजी के आरोपों में गहरे धंस चुके हैं और इसीलिए पूछताछ के दौरान उन्होंने अपना गुनाह कबूल भी लिया है।

    सूत्रों का कहना है कि विंदू दारा सिंह पिछले 3 साल से क्रिकेट में सट्टा लगा रहे थे। सूत्रों का कहना है कि पुलिस से पूछताछ में विंदू ने आईपीएल के ही नहीं बल्कि दूसरे क्रिकेट मैचों में भी सट्टेबाजी की बात कबूल ली है। सूत्रों का कहना है कि विंदू ने पुलिस से बेबाकी से कहा है कि सभी लोग क्रिकेट में सट्टा लगाते हैं सो मैंने भी लगाया-उसमें क्या बुरा किया।

    सूत्रों का कहना है कि विंदू दारा सिंह खुद बुकी पवन जयपुर, संजय जयपुर और जुपिटर के जरिए सट्टा लगाते थे। उसने अपने 2 दोस्तों को भी सट्टा लगाने के लिए कहा था। सूत्रों का कहना है कि ये सारी बातें उसने पुलिस से पूछताछ में कबूल ली हैं।

    इतना ही नहीं अब तक की जांच में ये भी पता चला है कि चूंकि क्रिकेट के सट्टेबाज खिलाड़ियों को लुभाने के लिए मॉडलों और अभिनेत्रियों का इस्तेमाल करते थे, इसलिए विंदू दारा सिंह की गिरफ्तारी बेहद अहम है। बताया जा रहा है कि विंदू चूंकि बॉलीवुड से जुड़ा था इसीलिए पुलिस इस बात की पड़ताल भी कर रही है कि कहीं विंदू का इस्तेमाल सट्टेबाज मॉडल मुहैया करवाने के लिए तो नहीं कर रहे थे।


    विंदू दारा सिंह की गिरफ्तारी की खबर आते ही आईपीएल के 6 अप्रैल के मैच की तस्वीरें हर जगह नजर आने लगीं। ये मैच मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स के बीच हुआ था, जिसमें चेन्नई की टीम हारी थी। इस मैच में विंदू दारा सिंह धोनी की पत्नी साक्षी के बगल में बैठे-ठहाके लगाते दिख रहे थे। आखिर विंदू दारा सिंह धोनी की पत्नी के बगल में कैसे पहुंच गए। विंदू ने 9 अप्रैल को ही एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में उसपर सफाई दी थी।

    विंदू ने कहा था-मुझे उस रात हजारों फोन कॉल आए होंगे। मुझे नहीं पता था कि साक्षी के बगल में बैठने से इतने लोग मुझ पर ध्यान देंगे। मुझे नहीं पता कि आखिर कैमरा बार-बार मुझपर ही फोकस क्यों कर रहा था। मैं चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक गुरुनाथ मयप्पन के बुलावे पर गया था। मैं उन्हें अच्छे से जानता हूं। जब मैं बॉक्स में पहुंचा तो साक्षी ने मुझे बुलाया और अपने बगल में बैठने के लिए कहा। मैं धोनी और साक्षी से पिछले साल आईपीएल फाइनल के दौरान मिल चुका था। धोनी तो एक बहुत ही शांत और सज्जन आदमी हैं और साक्षी भी बहुत प्यारी हैं। उसे याद थी पिछले आईपीएल में हमारी मुलाकात। हम उस वक्त चेन्नई की जीत के लिए खिलाड़ियों की हौसलाअफजाई कर रहे थे।

    जाहिर है विंदू दारा सिंह ने भले ही उस वक्त तो आईपीएल के मैच में अपनी मौजूदगी की सफाई दे दी थी लेकिन अब उन्हें मुंबई पुलिस के सख्त सवालों के जवाब देने होंगे।

    Tags: Mumbai, Sakshi dhoni

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें