Home /News /sports /

ड्रेसिंग रूम में खुशी थी, हैरानी नहीं: रोहित

ड्रेसिंग रूम में खुशी थी, हैरानी नहीं: रोहित

रोहित शर्मा ने कहा कि धोनी द्वारा फाइनल में श्रीलंका पर अंतिम ओवर में जीत दिलाने की घटना से भारतीय ड्रेसिंग रूम में खुशी थी।

रोहित शर्मा ने कहा कि धोनी द्वारा फाइनल में श्रीलंका पर अंतिम ओवर में जीत दिलाने की घटना से भारतीय ड्रेसिंग रूम में खुशी थी।

रोहित शर्मा ने कहा कि धोनी द्वारा फाइनल में श्रीलंका पर अंतिम ओवर में जीत दिलाने की घटना से भारतीय ड्रेसिंग रूम में खुशी थी।

    पोर्ट ऑफ स्पेन। भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने गुरुवार को कहा कि कप्तान महेंद्र सिंह धोनी द्वारा त्रिकोणीय श्रृंखला के फाइनल में श्रीलंका पर अंतिम ओवर में जीत दिलाने की घटना से भारतीय ड्रेसिंग रूम में खुशी थी, लेकिन हैरानी नहीं क्योंकि धोनी ने 'बार-बार' यह कारनामा किया है। धोनी ने शमिंदा इरांगा द्वारा फेंकी गई पारी के अंतिम ओवर में चार गेंदों पर 16 रन जुटाकर भारत को रोमांच से भरपूर फाइनल मुकाबले में एक विकेट के अंतर से जीत दिला दी। भारत को अंतिम ओवर में जीत के लिए 15 रन बनाने थे।

    फाइनल में 58 रनों की अहम पारी खेलने वाले रोहित ने मैच के बाद कहा कि हम खुश थे लेकिन हैरान नहीं क्योंकि यह बताने की जरूरत नहीं कि धोनी ने कई बार इस तरह के रोमांच को जिया है और लगभग हर मौके पर शांत रहते हुए टीम को जीत दिलाई है। यह मौका भी हमारे लिए पिछले कई मौकों की तरह था। धोनी ने 152 रनों पर सात विकेट गिर जाने के बाद भुवनेश्वर कुमार, विनय कुमार और इशांत शर्मा के साथ बड़े सुनियोजित तरीके से भारतीय पारी को आगे बढ़ाया।

    विनय के 182 के कुल योग पर आउट होने के बाद लगा कि भारत यह मैच हार जाएगा लेकिन धोनी ने इशांत को अपना विकेट बचाए रखने के लिए प्रेरित किया और इस तरह से हालात को अपने पक्ष में किया कि उन्हें इरांगा द्वारा फेंके जाने वाले अंतिम ओवर में बल्ले का जौहर दिखाने का मौका मिले। अंतिम ओवर में भारत को जीत के लिए 15 रनों की जरूरत थी। शमिंदा इरांगा द्वारा फेंके गए उस ओवर की पहली गेंद बेकार चली गई लेकिन स्ट्राइकर पर जमे धोनी ने आपा नहीं खोया और दूसरी गेंद पर शानदार छक्का लगाया।

    इसके बाद धोनी ने इरांगा की तीसरी गेंद पर एक और चौका लगाया और फिर चौथी गेंद पर छक्का लगाकर दो गेंदें शेष रहते ही अपनी टीम को नामुमकिन-सी दिखने वाली जीत दिला दी। कप्तान को इस शानदार पारी के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया। अपनी पारी के बारे में रोहित ने कहा कि क्वींस पार्क ओवल मैदान की पिच शॉट्स खेलने के लायक नहीं थी। इसलिए मैंने अपने शॉट्स को अंतिम क्षणों में खेलने का फैसला किया। मैं अंतिम क्षण तक बल्लेबाजी करना चाहता था लेकिन ऐसा नहीं हो सका। अच्छी बात यह रही है कि पारी के अंतिम क्षणों में पिच ने धोनी का साथ दिया और हमें एक शानदार जीत मिली।


    Tags: Cricket, India, Mahendra Singh Dhoni, Rohit sharma, West indies

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर