होम /न्यूज /खेल /वीरू-गंभीर-जहीर फिर फेल, कैसे आएंगे टीम में?

वीरू-गंभीर-जहीर फिर फेल, कैसे आएंगे टीम में?

शिमोगा में वेस्टइंडीज-ए के साथ जारी चार दिवसीय अनाधिकारिक टेस्ट मैच के पहले दिन जहीर गेंदबाजी करते हुए 20 ओवरों में एक विकेट हासिल कर सके जबकि दूसरे दिन गंभीर मात्र 11 रनों पर पवेलियन लौट गए।

शिमोगा में वेस्टइंडीज-ए के साथ जारी चार दिवसीय अनाधिकारिक टेस्ट मैच के पहले दिन जहीर गेंदबाजी करते हुए 20 ओवरों में एक विकेट हासिल कर सके जबकि दूसरे दिन गंभीर मात्र 11 रनों पर पवेलियन लौट गए।

शिमोगा में वेस्टइंडीज-ए के साथ जारी चार दिवसीय अनाधिकारिक टेस्ट मैच के पहले दिन जहीर गेंदबाजी करते हुए 20 ओवरों में एक ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली। युवराज सिंह ने चैलेंजर ट्रॉफी में धमाकेदार प्रदर्शन के साथ भारतीय टीम में वापसी कर ली है लेकिन तीन अन्य धुरंधरों गौतम गंभीर, जहीर खान और वीरेंद्र सहवाग के लिए वापसी आसान नहीं दिख रही है। उम्मीद की जा रही थी कि गंभीर, जहीर और सहवाग ऑस्ट्रेलिया के साथ होने वाली सात मैचों की एकदिवसीय श्रृंखला के अंत के चार मैचों के लिए वापसी करने में सफल रहेंगे लेकिन फिलहाल गंभीर और जहीर के लिए इसकी कोई उम्मीद नहीं दिख रही है।

    शिमोगा में वेस्टइंडीज-ए के साथ जारी चार दिवसीय अनाधिकारिक टेस्ट मैच के पहले दिन जहीर गेंदबाजी करते हुए 20 ओवरों में एक विकेट हासिल कर सके जबकि दूसरे दिन गुरुवार को गंभीर मात्र 11 रनों पर और सहवाग सात रनों पर पवेलियन लौट गए। ऑस्ट्रेलिया के साथ होने वाली एकदिवसीय श्रृंखला के शुरुआती तीन मैचों के लिए टीम का चयन हो चुका है और बाकी के चार मैचों के लिए टीम का चयन रांची में होने वाले तीसरे मुकाबले के बाद किया जाएगा। वेस्टइंडीज के साथ जारी श्रृंखला के बाद वापसी की उम्मीद लगाए खिलाड़ियों को खुद को साबित करने का बड़ा मौका नहीं मिलने वाला है। इस लिहाज से गंभीर और जहीर ने एक बड़ा मौका गंवा दिया है।

    जहां तक सहवाग की बात है तो वह अब अपने नियमित क्रम की बजाय पांचवें और छठे क्रम पर खेल रहे हैं। चैलेंजर ट्रॉफी में सहवाग ने इंडिया ब्ल्यू के खिलाफ अर्धशतक लगाया था। उस पारी में उनके बल्ले की चमक दिखी थी लेकिन इसके बाद वह आठ और पांच रन ही बना सके। चैलेंजर ट्रॉफी और जिम्बाब्वे दौरे पर जा चुके कई खिलाड़ियों को इस बार भारतीय टीम में मौका मिला है। वापसी की चाह रखने वालों के लिए टीम के दरवाजे हमेशा खुले हैं लेकिन उस दरवाजे पर कौन सबसे तेज दस्तक देता है, यह मायने रखता है।

    जहीर, गंभीर और सहवाग को भारतीय टीम से बाहर हुए लंबा वक्त हो चुका है। अब तो टीम इनके बिना जीतना भी सीख चुकी है। गंभीर का स्थान रोहित शर्मा ने भर दिया है और सहवाग की जगह शिखर धवन ने ले ली है। जहां तक जहीर की बात है तो वह विदेशी परिस्थितियों में आज भी भारत के सबसे अच्छे गेंदबाज हैं। वह भुवनेश्वर कुमार जैसे गेंदबाज के साथ खतरनाक जोड़ी बना सकते हैं।

    दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए जहीर के नाम पर विचार किया जा सकता है लेकिन अपने लिए मौके बनाए बिना जहीर वापसी की अपेक्षा नहीं कर सकते क्योंकि कई युवा और होनहार गेंदबाज इन दिनों भारतीय टीम का दरवाजा खटखटा रहे हैं और युवाओं को जिस तरह से तरजीह दी जा रही है, उसे देखते हुए तो बिना अच्छा खेले, जहीर के लिए मौका पाना बेहद मुश्किल लग रहा है।

    Tags: Cricket, Gautam gambhir, New Delhi, Zaheer Khan

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें