Home /News /sports /

अनुष्का ही नहीं,वीरु की मां का भी बना था मजाक

अनुष्का ही नहीं,वीरु की मां का भी बना था मजाक

क्रिकेट को दिलोजान से चाहने वाले, अच्छा खेलने वाले खिलाड़ी को सिर आंखों पर बिठाते हैं जबकि खराब प्रदर्शन करने वालों के भरे चौराहे पुतले तक जला डालते हैं।

क्रिकेट को दिलोजान से चाहने वाले, अच्छा खेलने वाले खिलाड़ी को सिर आंखों पर बिठाते हैं जबकि खराब प्रदर्शन करने वालों के भरे चौराहे पुतले तक जला डालते हैं।

क्रिकेट को दिलोजान से चाहने वाले, अच्छा खेलने वाले खिलाड़ी को सिर आंखों पर बिठाते हैं जबकि खराब प्रदर्शन करने वालों के भरे चौराहे पुतले तक जला डालते हैं।

    नई दिल्ली। भारत में क्रिकेट लोगों के दिल में बसता है और क्रिकेटर दिलों पर राज करते हैं। क्रिकेट को दिलोजान से चाहने वाले देश में दिल से अच्छा खेलने वाले खिलाड़ी को रातों-रात सिर आंखों पर बिठाते हैं जबकि क्रिकेट को हल्के में लेकर खराब प्रदर्शन करने वालों के भरे चौराहे पुतले तक जला डालते हैं।

    ऐसे में दिग्गज खिलाड़ि‍यों से भरी भारतीय टीम इस बात को बखूबी जानती है कि अच्छा खेलेंगे तो इनाम मिलेगा और खराब प्रदर्शन पर मजाक उड़ेगा। यही वजह है कि वर्ल्ड कप 2015 के सेमीफाइनल में बुरी तरह आउट हुए भारतीय टीम के तेज-तर्रार बल्लेबाज विराट कोहली और उनकी गर्लफ्रेंड अनुष्का शर्मा का सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर बेहद मजाक बनाया जा रहा है। खास बात यह है कि इससे पहले वीरेंद्र सहवाग और उनकी मां का भी मजाक बनाया गया था।

    यूं बन रहा अनुष्का कोहली का मजाक:

    सोशल मीडिया साइट्स पर कोहली की लाइफ में अनुष्का की एंट्री और विराट के खराब प्रदर्शन को जोड़ दिया है। ट्विटर, फेसबुक और वॉट्सएप में तरह-तरह कमेंट पढ़ने को मिल सकते है। अनुष्का को पनौती तक कहा गया है। जैसे एक विज्ञापन पर मजाक उड़ाते हुए ट्वीट किया गया है कि उन्हें पांच मिनट में कोहली चाहिए, इसलिए उनकी इच्छा पूरी हो गई। किसी ने लिखा है कि अनुष्का का प्यार कितना सच्चा है। वह कोहली का एक रन देखने सिडनी तक आईं।

    वीरेंद्र और उनकी मां का ऐसा बना था मजाक:
    साल 2003 के वर्ल्डकप में जब वीरेंद्र सहवाग नहीं चले तो क्रिकेट प्रेमियों ने उनके टेलिकॉम कंपनी के एक विज्ञापन में, जिसमें मैदान पर खेलते हुए उनकी मां का फोन आता है, उनका खासा मजाक बनाया गया था। जब वे आउट होते थे तो कहा जाता कि वे इसलिए चले गए क्यों कि उनकी मां का फोन आया था। कमाल था कि उन दिनों सोशल मीडिया नहीं था बावजूद इसके लोग एसएमएस के जरिये सहवाग का मजाक उड़ाते थे।

    विज्ञापनों ने यूवी को भी नहीं बख्शा था:

    क्रिकेट प्रेमी जानते हैं कि युवराज सिंह भी एक समय खराब फॉर्म से जूझ रहे थे तब विज्ञापनों के अलावा उनके चल रहे अफेयर से भी वे क्रिकेट प्रेमियों के निशाने पर थे। इसके अलावा मोहम्मद अजरुद्दीन हो, अजय जडेजा हो, राहुल द्रविड हो या भारत रत्न सचिन तेंदुलकर, भारतीय क्रिकेट प्रेमियों ने अच्छे प्रदर्शन पर सभी को सिर आंखो पर बिठाया और खराब प्रदर्शन पर किसी को नहीं बख्शा।

    Tags: Anushka sharma, Virat Kohli

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर