होम /न्यूज /खेल /

CWG 2022: विनेश फोगाट को सस्पेंड होना पड़ा, फिर लड़कों के साथ शुरू की ट्रेनिंग, ये है वापसी की कहानी

CWG 2022: विनेश फोगाट को सस्पेंड होना पड़ा, फिर लड़कों के साथ शुरू की ट्रेनिंग, ये है वापसी की कहानी

Commonwealth Games 2022: विनेश फोगाट ने कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार तीसरा गोल्ड मेडल जीता. (PTI)

Commonwealth Games 2022: विनेश फोगाट ने कॉमनवेल्थ गेम्स में लगातार तीसरा गोल्ड मेडल जीता. (PTI)

Commonwealth Games 2022: विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) के लिए टोक्यो ओलंपिक बेहद खराब रहा था और वे पहले ही राउंड में बाहर हो गई थीं. लेकिन कॉमनवेल्थ गेम्स में उन्होंने लगातार तीसरी बार गोल्ड मेडल जीता.

बर्मिंघम. टोक्यो ओलंपिक में खराब प्रदर्शन के बाद करियर के सबसे बुरे दौर से गुजरने वाली भारतीय पहलवान विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) ने कॉमनवेल्थ गेम्स में अपना दबदबा कायम करते हुए गोल्ड मेडल के साथ शानदार वापसी की. उन्होंने लगातार तीसरे गेम्स में गोल्ड जीता. 2014 और 2018 में भी वे गोल्ड जीतने में सफल रही थीं. विनेश के लिए पिछले 12 महीने काफी तनाव भरे रहे, लेकिन परिवार का साथ मिलने और अभ्यास करने के तरीके में बदलाव ने उनके करियर को एक बार फिर से सही राह दी. टोक्यो ओलंपिक में शीर्ष वरीयता प्राप्त खिलाड़ी के रूप में पहुंची विनेश पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गई थीं. इसके बाद चोट और कुश्ती महासंघ के साथ तकरार ने उन्हें मानसिक रूप से काफी नीचे धकेल दिया. उन्हें सस्पेंड तक कर दिया गया था. भारत को रेसलिंग में कुल 12 मेडल मिले.

27 साल की विनेश फोगाट को पिछले साल कोहनी की सर्जरी करानी पड़ी और फिर अपने अभ्यास के तरीके को बदलना पड़ा. उन्होंने अंडर-15 वर्ग के लड़कों के साथ अभ्यास किया. उन्होंने शनिवार को गेम्स में 53 किग्रा का गोल्ड मेडल जीतने के बाद कहा, ‘अगर मेरा प्रशिक्षण सही चल रहा होता है, तो मैं मानसिक रूप से भी ठीक महसूस करती हूं.’ कॉमनवेल्थ गेम्स में तीसरी बार गोल्ड मेडल जीतने वाली विनेश ने कहा कि इस मेडल के लिए मैंने कितनी मेहनत की है, यह सिर्फ मुझे पता है. पिछले 12 महीनों में मैंने जो कुछ किया है, उसे देखते हुए यह पदक बहुत खास है.

नहीं मिल पा रही थी ट्रेनिंग
विनेश को कॉमनवेल्थ गेम्स की टीम में जगह बनाने के लिए ट्रायल जीतने के लिए कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा था. विनेश की विजयी वापसी पर नेशनल कोच जितेंद्र यादव ने कहा कि उसे पहले जरूरत के मुताबिक प्रशिक्षण नहीं मिल रहा था. अब इसमें बदलाव हुआ है और मेरे हिसाब से यही अंतर है. विनेश के अलावा पुरुष कैटेगरी में रवि कुमार दहिया और नवीन ने भी शनिवार को गोल्ड जीता. इससे पहले बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया और साक्षी मलिक ने भी गोल्ड जीता था.

CWG 2022: कुश्ती में भारत ने 6 गोल्ड जीते, पूजा सिहाग को ब्रॉन्ज मेडल … Medal Tally LIVE

विनेश ने 53 किग्रा कैटेगरी के अंतिम मुकाबले में श्रीलंका की चामोडिया केशानी मदुरावलागे डॉन को मात दे करके 4-0 से जीत दर्ज की. सामंथा ली स्टीवर्ट के खिलाफ विनेश का पहला मुकाबला कठिन था, लेकिन वे जीतने में सफल रहीं. इसके बाद विनेश का सामना नाइजीरिया की मर्सी बोलाफुनोलुवा एडेकुरोये से हुआ, जिसकी कठिन चुनौती का इस भारतीय पहलवान ने बखूबी सामना किया. बर्मिंघम कॉमनवेल्थ गेम्स की बात करें तो, कुल भारतीय 12 पहलवान इसमें उतरे और सभी ने मेडल भी जीते. इसमें 6 गोल्ड, एक सिल्वर और 5 ब्रॉन्ज मेडल शामिल है.

Tags: Commonwealth Games, Cwg, Vinesh phogat, Wrestling

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर