इस खिलाड़ी को नहीं पता है अपने पिता का नाम, अब दुनिया कर रही है सलाम !

इस चैंपियन खिलाड़ी ने इतनी गरीबी देखी है कि आप उसकी कल्पना भी नहीं कर पाएंगे


Updated: July 11, 2018, 10:07 AM IST
इस खिलाड़ी को नहीं पता है अपने पिता का नाम, अब दुनिया कर रही है सलाम !
इस खिलाड़ी को नहीं है अपने पिता का नाम, अब दुनिया कर रही है सलाम !

Updated: July 11, 2018, 10:07 AM IST
रूस में चल फीफा वर्ल्ड कप में फ्रांस ने 12 साल बाद फाइनल में जगह बना ली. फ्रांस ने मजबूत टीम बेल्जियम को 1-0 से मात देकर ये कारनामा किया. फ्रांस की ओर से एकलौता गोल डिफेंडर सैमुअल उम्तीती ने किया. उनके गजब के हेडर ने बेल्जियम के गोलकीपर को छकाया और फ्रांस की फाइनल सीट पक्की कर दी.

फ्रांस के हीरो सैमुअल उम्तीती का जीवन बेहद संघर्षमय रहा है. उम्तीती का जन्म 14 नवंबर 1993 को कैमरून में हुआ. बड़ी बात ये है कि उम्तीती को अपने पिता का नाम नहीं पता. उम्मतीती की मां ने ये कभी नहीं बताया कि उनके पिता कौन हैं.

उम्तीती जब दो साल के थे तो उनकी मां रिफ्यूजी के तौर पर फ्रांस आ गई. इसके बाद उम्तीती ने फ्रांस में ही फुटबॉल का ककहरा सीखा.



उम्तीती को कैमरून से भी फुटबॉल खेलने का मौका मिला था. कैमरून फुटबॉल एसोसिएशन ने महान फुटबॉलर रोजर मिला को उम्तीती के पास भेजा था. रोजर मिला ने उम्तीती को कैमरून के लिए वर्ल्ड कप में खेलने की गुजारिश की थी. हालांकि उम्तीती ने इससे इनकार कर दिया.

करियर के शुरुआती दौर में उम्तीती एक स्ट्राइकर थे, इसके बाद वो मिडफील्ड में खेलने लगे लेकिन बाद में उन्होंने डिफेंडर की पोजिशन पक्की कर ली. अब वो अपने करियर के अंत तक इसी पोजिशन पर खेलना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें:

16 सालों तक 'मौत' को चकमा देता रहा टीम इंडिया का ये खिलाड़ी, और लगा डाले 86 शतक!

अपने से 18 साल बड़े इस क्रिकेटर के प्यार में पागल थी ये बॉलीवुड एक्‍ट्रेस
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर