लाइव टीवी

विराट कोहली के बाद फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री बने 'वीगन', दो साल से नहीं खाई मिठाई

भाषा
Updated: October 12, 2019, 6:00 PM IST
विराट कोहली के बाद फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री बने 'वीगन', दो साल से नहीं खाई मिठाई
सुनील छेत्री अपनी फिटनेस के लिए जाने जाते हैं

पिछले साल विराट कोहली (Virat Kohli) ने ‘वीगन’ बनने का फैसला किया था जिसमें पेड़ों से मिलने वाले उत्पादों का ही सेवन किया जाता है.

  • Share this:
भारतीय फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) ने फिट रहने के लिये देश की क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) के नक्शेकदम पर चलते हुए ‘वीगन’ (Vegan) बनने का फैसला किया है जिसमें उन्होंने मांस और दूध के उत्पादों का सेवन करना छोड़ दिया है.

भारतीय कप्तान (Indian Captain) ने रिकॉर्ड 72 अंतरराष्ट्रीय गोल किए हैं. उन्होंने एआईएफएफ (AIFF) को साक्षात्कार में कहा, ‘मैं वीगन बन गया हूं, मैं अब दूध के उत्पाद और मांस का सेवन नहीं करता हूं. इससे मुझे उबरने की प्रक्रिया में काफी मदद मिली है, साथ ही पाचन भी मजबूत हुआ है. ’

2013 में मिली वीगन बनने की प्रेरणा

पिछले साल कोहली ने ‘वीगन’ बनने का फैसला किया था जिसमें पेड़ों से मिलने वाले उत्पादों का ही सेवन किया जाता है. छेत्री ने कहा कि उन्हें इस बात की जागरूकता 2013 में स्पोर्टिंग लिस्बन के साथ खेलने के दौरान मिली.

उन्होंने कहा, ‘जब मैं अमेरिका में कनसास में था तो वहां डाइट में थोड़ा सा बदलाव था लेकिन जैसा कि मैंने कहा कि मैं तब युवा था तो मैंने इस बात की गहराई को नहीं समझा. मैंने तब इसका (वीगन डाइट का) पालन किया लेकिन शिद्दत से इसे अपनाया नहीं. फिर मैं स्पोर्टिंग लिस्बन गया तो मैंने देखा कि यह यूरोप में आम सी बात है. इसके बाद ही मैं इसके बारे में थोड़ा सख्त हुआ.’

indian football team, india oman match, sunil chhetri, fifa world cup 2022 qualifiers, sunil chhetri goal, भारतीय फुटबॉल टीम, इंडिया ओमान फुटबॉल, सुनील छेत्री गोल
भारतीय फुटबॉल कप्तान चोटिल होने के कारण कतर के खिलाफ मुकाबले में नहीं उतरे थे


दो साल से छेत्री ने नहीं खाई मिठाई
Loading...

छेत्री ने फिर कहा कि उन्होंने दो-ढाई वर्ष के लिये मिठाईयों को भी छोड़ दिया था जिसके लिये उनकी पत्नी सोनम ने उनका पूरा सहयोग किया जो मांसाहारी है. उन्होंने कहा, ‘मैंने सिर्फ दो मौकों पर ही मिठाई खायी - पहली बार जब बेंगलुरू एफसी ने इंडियन सुपर लीग खिताब जीता और दूसरी बार जब हमने कतर के साथ मैच ड्रॉ कराया था.’ छेत्री ने कहा, ‘आपको समझने की जरूरत होती है कि आपके शरीर के लिये क्या अच्छा होता है. बल्कि ऐसे भी मौके आये हैं जब लोगों ने मेरे मुंह में केक का टुकड़ा डाला है लेकिन मैंने उसे खाया नहीं.’

जडेजा ने खेली 91 रन की पारी, तलवार स्‍टाइल में मनाया जश्‍न तो साथियों ने रोका

हार्दिक पंड्या को इस खूबसूरत एक्‍ट्रेस ने जज्‍बाती अंदाज में किया बर्थडे विश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 6:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...