लाइव टीवी

खिलाड़ी की बिमारी बनी विरोधियों के लिए परेशानी, क्लब के मालिक ने की जमकर आलोचना

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 11:30 PM IST
खिलाड़ी की बिमारी बनी विरोधियों के लिए परेशानी, क्लब के मालिक ने की जमकर आलोचना
ईस्ट बंगाल आई लीग की बड़ी टीम है

पंजाब एफसी (Punjab FC) के मालिक रंजीत बजाज (Ranjit Bajaj) ने गुरुवार को खिलाड़ी और उनके क्लब की आलोचना की

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 11:30 PM IST
  • Share this:
नयी दिल्ली. ईस्ट बंगाल (East Bengal) के मेहताब सिंह (Mehtab Singh) को चेचक (Chicken Pox) होने के कारण उनके क्लब को उन्हें अन्य खिलाड़ियों से अलग रखना चाहिए था लेकिन इसके उलट उन्हें हाल में आईलीग (I-League) मैच में खेलने की अनुमति दी गयी.

इसमें कोई दो राय नहीं कि मैच में उनकी भागीदारी से ईस्ट बंगाल (East Bengal) के उनके साथी, विरोधी टीम के खिलाड़ी और इससे भी बढ़कर वे बच्चे जोखिम में पड़े जो मैच से पहले खिलाड़ियों के साथ मैदान में उतरते हैं. चेचक (Chicken Pox) संक्रामक रोग है.

ईस्ट बंगाल के अधिकारियों ने दिया जवाब
इस संबंध में जब ईस्ट बंगाल (East Bengal) के अधिकारियों से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मैच के एक दिन बाद इस खिलाड़ी के कोलकाता (Kolkata) लौटने के बाद ही उनके रोग की पहचान की गयी. पंजाब एफसी (Punjab FC) के खिलाफ यह मैच सात दिसंबर को लुधियाना के गुरू नानक स्टेडियम में खेला गया जो 1-1 से बराबर छूटा. मेहताब (Mehtab Singh) इस मैच में खेले थे.

punjab fc, sports news, i league, punjab fc
ईस्ट बंगाल और पंजाब एफसी के बीच यह मुकाबला 1-1 से ड्रॉ हो गया था


पंजाब एफसी (Punjab FC) के मालिक रंजीत बजाज (Ranjit Bajaj) ने गुरुवार को खिलाड़ी और उनके क्लब की आलोचना की और इसके उन्होंने ‘बेवकूफाना और बेहद गैरजिम्मेदाराना’ हरकत करार दिया.

रंजीत बजाज ने जताई नाराजगीउन्होंने पीटीआई से कहा, ‘यह बेवकूफाना और बेहद गैरजिम्मेदाराना हरकत है. उसने न सिर्फ मेरे खिलाड़ियों और अपने साथियों को जोखिम में डाला बल्कि हमारे छह सात साल के बच्चों को भी जोखिम में रखा जो मैच से पहले खिलाड़ियों के साथ मैदान पर आते हैं. यह साहसिक नहीं बेवकूफाना हरकत है. ’

रंजीत बजाज की टीम मिनर्वा पंजाब ने साल 2017-18 में आईलीग का खिताब जीता था


रंजीत बजाज (Ranjit Bajaj) ने कहा, 'हां वह खिलाड़ी मैच खेल रहा था. टीम के साथ गए मेरे बच्चों को अगर चिकन पॉक्स हुआ तो उनके माता-पिता को क्या जवाब दूंगा. मैं अभी नहीं जानता हूं कि मेरे खिलाड़ियों को चिकन पॉक्स है या नहीं. अगर ऐसा होता है तो मेरी टीम कैसे खेलेगी. मुझे पता चला कि उनके पास सेंट्रल डिफेंडर की जगह के लिए कोई अच्छा खिलाड़ी नहीं था लेकिन यह कोई कारण नहीं हो सकता.'

तो इसलिए सानिया मिर्जा की बहन अनम की शादी में नहीं आए जीजा शोएब मलिक

टीम इंडिया के 5 खिलाड़ियों पर भारी पड़ा ये गेंदबाज, 8 विकेट लेकर मचाया कहर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 11:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर