लाइव टीवी

मौका मिलने पर भारतीय फुटबॉल टीम का कोच बनना चाहूंगा : डिएगो फोरलान

भाषा
Updated: October 7, 2019, 6:15 PM IST
मौका मिलने पर भारतीय फुटबॉल टीम का कोच बनना चाहूंगा : डिएगो फोरलान
उरुग्‍वे के पूर्व फुटबॉलर डिएगो फोरलान.

उरुग्‍वे (Uruguay)के स्‍टार फुटबॉलर डिएगो फोरलान (Diego Forlan) 2010 के फीफा वर्ल्‍ड कप में खिलाड़ी चुने गए थे.

  • Share this:
मुंबई: भारत में खेलने के अपने अनुभव को शानदार बताते हुए उरुग्वे (Uruguay) के स्टार फुटबॉलर डिएगो फोरलान (Diego Forlan) ने कहा कि भविष्य में मौका मिलने पर वह बतौर कोच यहां लौटना चाहेंगे. आईएसएल (ISL) में मुंबई सिटी एफसी (Mumbai City FC) के लिए खेल चुके फोरलान ने ‘भाषा’ के सवाल के जवाब में कहा, ‘निश्चित तौर पर मैं भारत फिर आना चाहूंगा. बतौर कोच ही क्यों नहीं. मेरा यहां खेलने का अनुभव शानदार रहा है. यहां के लोगों ने मेरा और मेरा परिवार का गर्मजोशी से स्वागत किया. यहां के कुछ खिलाड़ि‍यों से मेरी अच्छी दोस्ती है.’

भारत को बड़ी टीम बनने में लगेगा समय
विश्व कप 2010 के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी रहे फोरलान ने दक्षिण अमेरिका से फुटबॉल कोचिंग का लाइसेंस हासिल कर लिया है जिससे वह दक्षिण अमेरिका के अलावा भारत समेत एशिया के किसी भी देश में कोचिंग दे सकते हैं. उनका इरादा हालांकि यूरोप में कोचिंग लाइसेंस लेने का है. भारतीय फुटबॉल की तरक्की से प्रभावित मैनचेस्टर युनाइटेड और एटलेटिको मैड्रिड के इस स्टार फुटबॉलर ने कहा कि भारत को मजबूत टीमों में आने में अभी समय लगेगा और इसके लिए जमीनी स्तर पर काम करने के अलावा बेहतर बुनियादी ढांचे की जरूरत है.

भारत में प्रतिभा की कमी नहीं

अपने 13 बरस (2002 से 2015) के शानदार अंतरराष्ट्रीय करियर में कई उपलब्धियां हासिल कर चुके इस फॉरवर्ड ने कहा, ‘ऐसा नहीं है कि भारत में प्रतिभा की कमी है लेकिन कुछ पहलुओं पर काम करने की जरूरत है. भारतीय खिलाड़ियों को जितना मैंने देखा है, वे परिश्रमी हैं, फिटनेस को लेकर सजग हैं और कौशल की भी कमी नहीं है. जमीनी स्तर पर खिलाड़ियों का बड़ा पूल तैयार करने की जरूरत है.’

स्पेनिश फुटबाल लीग ला लिगा के ब्रांड दूत फोरलान टायर निर्माता कंपनी बालकृष्ण इंडस्ट्रीज लिमिटेड (बीकेटी) और ला लिगा के बीच तीन साल के आधिकारिक वैश्विक साझेदारी करार के लिए भारत आए हैं. उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा अच्छे कोच को भारत लाना होगा. हाई परफार्मेंस सेंटर भी बड़ी तादाद में खोले जाने चाहिए जिनमें आधुनिक बुनियादी ढांचा हो.’

'जहां फुटबॉल मजबूत वहां काम करना होगा'
Loading...

यह पूछने पर कि क्या भारतीय फुटबॉल सही दिशा में जा रही है, उन्होंने कहा,‘मैं आखिरी बार यहां तीन साल पहले आया था लिहाजा इस पर टिप्पणी कर पाना मुनासिब नहीं होगा लेकिन फुटबॉल की लोकप्रियता यहां बढ़ी है. इसे भुनाने के लिए उन शहरों से शुरुआत करनी चाहिए जहां क्रिकेट से ज्यादा लोकप्रिय फुटबॉल है. इसके बाद वहां से दूसरे शहरों में जाना चाहिए.’

इस साल फीफा के सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर का पुरस्कार जीतने वाले बार्सिलोना के स्टार फुटबॉलर लियोनेल मेस्सी और पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो के बीच तुलना से इनकार करते हुए उन्होंने कहा, ‘दोनों ही महान खिलाड़ी हैं और इस तरह की तुलना संभव नहीं है.’

फुटबॉल की दीवानी इस लड़की के आगे झुक गया इस्‍लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान

शोएब अख्तर ने पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद पर उठाए सवाल, कही ये बड़ी बात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 6:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...