लाइव टीवी

खेल जगत को लगा झटका, बिजली गिरने से भारत के बड़े खिलाड़ी की हुई मौत

भाषा
Updated: October 20, 2019, 5:54 PM IST
खेल जगत को लगा झटका, बिजली गिरने से भारत के बड़े खिलाड़ी की हुई मौत
मैदान पर यह हादसा सुबह साढ़े सात बजे के करीब हुआ

अभिजीत गांगुली (Abhijit Ganguli) मैदान पर खिलाड़ियों को ट्रेनिंग दे रहे थे, तभी तेज बारिश शुरू हो गई. बिजली गिरने से दो खिलाड़ी भी चोटिल गए.

  • Share this:
धनबाद (झारखंड). पूर्व संतोष ट्रॉफी (Santosh Trophy) खिलाड़ी अभिजीत गांगुली (Abhijit Ganguli) की बिरसा मुंडा स्टेडियम (Birsa Munda Stadium) में दैनिक अभ्यास सत्र के दौरान बिजली गिरने से मौत हो गई, जबकि दो अन्य फुटबॉलर घायल हो गए. पुलिस ने यह जानकारी दी. 53 साल के गांगुली धनबाद रेलवे डिवीजन के फुटबॉल कोच हैं. वह स्टेडियम में लड़कों और लड़कियों को कोचिंग दे रहे थे, जब सुबह साढ़े सात बजे के करीब बारिश शुरू हो गई. उन पर और दो अन्य खिलाड़ियों पर बिजली गिर गई. मौजूदा राष्ट्रीय खिलाड़ी रवि लाल हेम्ब्राम (Ravi Lal Hembram) और चंदन टुडू (Chandan Tudu) इससे उबर गए, जबकि गांगुली बेहोश हो गए. उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. गांगुली के परिवार में एक बेटा, पत्नी और मां हैं. उन्होंने 1993 में संतोष ट्रॉफी राष्ट्रीय फुटबॉल चैंपियनशिप (Santosh Trophy National Football Championship) में बिहार टीम का प्रतिनिधित्व किया था. अभिजीत 1990 में सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर्स में से एक थे.

Abhijit Ganguli, Birsa Munda Stadium, Santosh Trophy National Football , sports news, अभिजीत गांगुली
अभिजीत गांगुली 53 साल के थे. गांगुली के परिवार में एक बेटा, पत्नी और मां हैं.


राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ियों को किया तैयार
इसके बाद रेलवे में उनकी नौकरी लग गई और उन्होंने कई सालों तक इंटर जोनल रेलवे चैंपियनशिप में ईस्टर्न रेलवे फुटबॉल टीम का प्रतिनि‌धित्व किया. इसके बाद वह धनबाद रेलवे डिवीजन के कोच बन गए. गांगुली बिरसा फुटबॉल क्लब में युवा ‌खिलाड़ियों की प्रतिभा निखारते थे. उनकी टीम इस सत्र में  जिला सीनियर लीग चैंपियनशिप में तीसरे पायदान पर रही थी.

धनबाद फुटबॉल एसोसिएशन (Dhanbad Football Association) के सचिव फैयाज अहमद ने दुख जताते हुए कहा कि इस शहर ने एक शानदार कोच खो दिया. वह एक संपूर्ण और समर्पित कोच थे. उन्हाेंने न सिर्फ रविलाल टूडु और संगीता कुमारी जैसे दो राष्ट्रीय खिलाड़ियों को तैयार किया, बल्कि झारखंड इंटर डिस्ट्रिक चैंपियन‌शिप में धनबाद की टीम को फाइनल तक पहुंचाया, जहां टीम रनर अप रही. डिस्ट्रिक्ट स्पोर्ट्स एसोसिएशन ( District Sports Association) के सचिव रणजीत केसरी ने कहा कि यह खेल जगत के लिए एक दुखद घटना है. खासतौर पर इस राज्य के फुटबॉल प्रेमियों के लिए यह बड़ा नुकसान है.

यह भी पढ़ें-

ढाई साल बाद पहली बार किसी टूर्नामेंट का फाइनल खेलेंगे एंडी मरे
Loading...

लाइव मैच में खुल गया महिला खिलाड़ी का हिजाब, विरोधी टीम ने मदद कर जीता दिल
दिल्ली में हाफ मैराथन में दिखा लोगों को जोश, बेलिहू और गेमेचू फिर बने चैंपियन


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 20, 2019, 5:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...