लाइव टीवी

नहीं रहा वह दिग्गज जिसने बदली थी मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन फ्रांस में फुटबॉल की दिशा

News18Hindi
Updated: March 27, 2020, 4:21 PM IST
नहीं रहा वह दिग्गज जिसने बदली थी मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन फ्रांस में फुटबॉल की दिशा
लॉकडाउन हटने के बाद वुहान में फुटबॉलर्स ने सप्ताह में एक बार अभ्यास करना शुरू कर दिया है (सांकेतिक फोटो )

माइकल हिडैल्गो (Michel Hidalgo) का 87 साल की उम्र में प्राकृतिक कारणों की वजह से निधन हो गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2020, 4:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फ्रांस के बेहतरीन फुटबॉलर्स मे शुमार माइकल हिडैल्गो (Michael Hidalgo) का गुरुवार रात को निधन हो गया. 87 साल के हिडैल्गो  (Michael Hidalgo) बढ़ती उम्र की बीमारियों के कारण परेशान थे और फ्रांस (France) के मारसिले स्थित अपने घर में उन्होंने आखिरी सांस ली.

साल 1984 में फ्रांस ने पहली बार यूरोपियन चैंपियनशिप जीती जिसके कोच हिडैल्गो थे. उन्होंने लेस ब्लेयूस के साथ आठ साल का समय बिताया. उनकी टीम में माइकल प्लातिनू (Michael Platinu) एलेन गिरेस और जॉन टिगाना जैसे खिलाड़ी थे. इसी टीम ने साल 84 में घरेलू जमीन पर हुई यूरोपियन चैंपियनशिप में स्पेन (Spain) को फाइनल में 2-0 से मात देकर जीत हासिल की थी. यह उस टीम की पहली बड़ी जीत थी.

बतौर कोच और खिलाड़ी काफी सफल रहे हैं हिडैल्गो
इससे पहले साल 1978 में उनके कोच रहते ही फ्रांस 12 साल में पहली बार वर्ल्ड कप में पहुंचा था. इसके बाद साल 1982 वर्ल्ड कप में वह सेमीफाइनल में पहुंचे थे. सेमीफाइनल में वेस्ट जर्मनी ने उन्हें पेनल्टी शूटआउट में मात दी थी. बतौर खिलाड़ी भी उनका करियर काफी शानदार रहा. 1933 में पैदा होने के बाद वह स्पेन से फ्रांस आ गए. वह मोनाको की ओर से खेलते हुए दो बार फ्रेंच कप और दो बार लीग टाइटल जीतने में कामयाह रहे.



अब्दुल लतीफ का भी हुआ निधन


भारत की फुटबॉल टीम के पूर्व खिलाड़ी अब्दुल लतीफ (Abdul Lateef) का निधन हो गया है. वे लंबे समय से बीमार थे. देश की फुटबॉल टीम के पूर्व मिडफील्डर अब्दुल लतीफ का सोमवार को गुवाहाटी में निधन हो गया. उनके परिवार में एक बेटा और दो बेटियां हैं. अब्दुल लतीफ 1970 के बैंकॉक एशियन गेम्स  (Asian Games) की टीम के प्रमुख सदस्य थे. उन्होंने एशिया कप क्वालीफायर 1968 और मर्डेका कप 1969 में भारत का प्रतिनिधित्व किया था. उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि उस आखिरी भारतीय टीम का हिस्सा होना था जो एशियन गेम्स में पदक जीती थी.

तुर्की के लगाए गए आरोपों पर भड़का IOC, कहा-समय पर देश लौट गए थे सभी खिलाड़ी

इंटरनेशनल ओलिंपिक समिति की लापरवाही! एक साथ खतरे में पड़े 350 मुक्‍केबाज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 27, 2020, 4:21 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading