मजबूत कतर के खिलाफ होगी भारतीय फुटबॉल टीम की अग्निपरीक्षा

 भारतीय टीम इस मैच में कतर के खिलाफ सितंबर 2019 में खेले गए मैच से प्रेरणा लेने की कोशिश करेगी  (AP)

भारतीय टीम इस मैच में कतर के खिलाफ सितंबर 2019 में खेले गए मैच से प्रेरणा लेने की कोशिश करेगी (AP)

भारत को अपना घरेलू मैच कतर की राजधानी में खेलना पड़ रहा है, क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल स्थगित किए गए ग्रुप ई के मैचों को अब एक ही स्थान पर आयोजित किया जा रहा है.

  • Share this:

दोहा. भारतीय फुटबॉल टीम की तैयारियां बहुत अच्छी नहीं रही हैं और ऐसे में एशियाई चैंपियन कतर के खिलाफ विश्व कप और एशियाई क्वॉलिफायर्स में गुरुवार को होने वाले मैच में उसकी कड़ी अग्निपरीक्षा होगी. भारतीय टीम इस मैच में कतर के खिलाफ सितंबर 2019 में खेले गए मैच से प्रेरणा लेने की कोशिश करेगी. तब भारत ने अपने से अधिक रैंकिंग के कतर को गोलरहित ड्रॉ पर रोका था. भारत के लिए हाल के समय में यह सर्वश्रेष्ठ परिणाम माना जाता है. भारत को अपना घरेलू मैच कतर की राजधानी में खेलना पड़ रहा है, क्योंकि कोविड-19 महामारी के कारण पिछले साल स्थगित किए गए ग्रुप ई के मैचों को अब एक ही स्थान पर आयोजित किया जा रहा है.

कतर के खिलाफ ड्रॉ खेलने के बाद भारत का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. दूसरी तरफ कतर पूरे आत्मविश्वास के साथ इस मैच में उतरेगा. उसने मार्च में खेले गए मैत्री मैचों में लक्समबर्ग को 1-0 से और अजरबेजान को 2-1 से हराया जबकि आयरलैंड को 1-1 से ड्रॉ पर रोका. भारत मार्च में मैत्री मैच में यूएई से ​मिली 0-6 की करारी हार के बाद इस मैच में उतर रहा है. यही नहीं भारत अच्छी तैयारियां भी नहीं कर पाया क्योंकि कोविड-19 के कारण उसे मई के शुरू में अपना राष्ट्रीय शिविर रद्द करना पड़ा था.

भारतीय टीम 19 मई को यहां पहुंची लेकिन खिलाड़ियों को वैसी सुविधाएं नहीं मिली ​जैसी उन्हें उम्मीद थी. इस पर कोच इगोर स्टिमक ने निराशा भी जतायी और कहा कि विश्व कप क्वॉलिफायर्स के लिए यह आदर्श तैयारियां नहीं हैं. भारत के लिए सकारात्मक पक्ष यह है कि वह अपनी मजबूत टीम इस मैच में उतार सकता है, क्योंकि उसके सभी प्रमुख खिलाड़ी फिट हैं.

कतर के खिलाफ 2019 के मैच में करिश्माई स्ट्राइकर सुनील छेत्री नहीं खेल पाए थे, क्योंकि वह बुखार से पीड़ित थे. उनकी वापसी से निश्चित तौर पर भारतीय टीम का मनोबल बढ़ेगा. सुनील छेत्री मार्च में दो अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैचों में भी नहीं खेल पाए थे, क्योंकि वह कोविड-19 के संक्रमण से उबर रहे थे.
लेकिन कतर की टीम कागजों पर साफ तौर पर मजबूत नजर आ रही है. वह फीफा रैंकिंग में 58वें जब​कि भारत 105वें स्थान पर है. छेत्री ने कहा, ''​कतर एशिया की शीर्ष टीमों में शामिल है. उसने हाल में यूरोपीय और दक्षिण अमेरिकी टीमों के खिलाफ अच्छे परिणाम हासिल किए. पिछली बार उनके खिलाफ हमने अंक हासिल किया था जिससे टीम का मनोबल बढ़ा है. हम जानते हैं कि इस बार वे कोई कसर नहीं छोड़ेंगे और हमें भी एकजुट होकर उनका मुकाबला करना होगा. ''

भारत ग्रुप ई में पांच मैचों में तीन अंकों के साथ चौथे स्थान पर है. वह विश्व कप में जगह बनाने की दौड़ से बाहर हो चुका है लेकिन 2023 में होने वाले एशियाई कप में जगह बनाने की दौड़ में अब भी शामिल है.कतर ने इन क्वॉलिफायर में छह में से पांच मैचों में जीत दर्ज की है. उसके पास अलमोज अली और हसन अल हायदोस के रूप में दो दमदार स्ट्राइकर हैं और वह इस समय जीत के लक्ष्य के साथ ही मैदान पर उतरेगा.

भारतीय टीम इस प्रकार है : गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, धीरज सिंह, प्रीतम कोटल, राहुल भेके, नरेंद्र गहलोत, चिंगलेनसाना सिंह, संदेश झिंगन, आदिल खान, आकाश मिश्रा, सुभाशीष बोस, उदंता सिंह, ब्रैंडन फर्नांडीस, लिस्टन कोलाको, रॉलिन बोर्गेस, ग्लेन मार्टिंस, अनिरुद्ध थापा, प्रणॉय हलदर, सुरेश सिंह, लालेंगमाविया राल्ते, अब्दुल सहल, यासिर मोहम्मद, लल्लियांजुआला छंगटे, बिपिन सिंह, आशिक कुरुनियान, ईशान पंडिता, सुनील छेत्री, मनवीर सिंह.



भारतीय समयानुसार मैच रात 10 बजकर 30 मिनट पर शुरू होगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज