Intercontinental Cup 2019: फाइनल की रेस में बने रहने के लिए उत्तर कोरिया का सामना करेगा भारत

भारत को टूर्नामेंट के पहले मैच में तजाकिस्तान ने 4-2 से मात दी थी, इस मैच में भारत 2-0 की बढ़त हासिल करने के बाद 2-4 से हार गया था.

News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 4:27 PM IST
Intercontinental Cup 2019: फाइनल की रेस में बने रहने के लिए उत्तर कोरिया का सामना करेगा भारत
भारतीय टीम का सामना उत्तर कोरिया से होगा (twitter)
News18Hindi
Updated: July 13, 2019, 4:27 PM IST
इंटरकॉन्टिनेंटल कप के फाइनल की रेस में खुद को बनाए रखने के लिए भारत शनिवार को उत्तर कोरिया का सामना करेगा. भारत और उत्तर कोरिया दोनों के लिए ही यह मैच करो या मरो जैसा होगा. दोनों में से जो भी यह मुकाबला जीतेगा वह फाइनल की रेस में बना रहेगा. भारत को टूर्नामेंट के पहले मैच में तजाकिस्तान ने 4-2 से मात दी थी. इस मैच में भारत 2-0 की बढ़त हासिल करने के बाद 2-4 से हार गया था. वहीं उत्तर कोरिया को उसके पहले मैच में सीरिया से 2-5 से हार मिली. ऐसे में दोनों ही टीमें जीत के लिए मैच बेहद अहम है.

दोनों टीमों के लिए करो या मरो की स्थिति



तजाकिस्तान के खिलाफ मुकाबले में टीम के नए कोच इगोर स्टीमाच ने आदिल खान और प्रणॉय हल्दर जैसे युवाओं खिलाड़ियों को मौका दिया था. पहले हाफ में उन्होंने अच्छा खेल दिखाया था, हालांकि टीम दूसरे हाफ में बेहद कमजोर दिखी और मुकाबला हार गईं. उत्तर कोरिया के खिलाफ मैच में बदलाव देखने को मिल सकते हैं. पहले हाफ में भारतीय टीम का डिफेंस और अटैक अच्छे सामंजस्य में दिख रहा था लेकिन दूसरे हाफ में टीम का डिफेंस पूरी तरह फ्लॉप रहा. वहीं कोरिया की टीम का डिफेंस भी काफी कमजोर है. ऐसे में सुनील छेत्री की अगुवाई में भारतीय अटैक उत्तर कोरिया को मुश्किल में डाल सकता है.

Igor Stimac,  north korea, sunil chhetri, India, Indian football team, intercontinental cup, Intercontinental Cup 2019,
भारतीय फुटबॉल टीम पहला मैच 2-4 से हार गई थी (twitter)


फीफा विश्व कप-2022 के क्वालिफायर की तैयारियों के रूप में इंटरकॉन्टिनेंटल कप जैसे टूनार्मेंट बहुत अहम हैं. ऐसे में भारतीय टीम के सहायक कोच वेंकटेश एस ने माना कि वे लगातार खिलाड़ियों का आकलन करते रहेंगे और मैच के लिए सही टीम चुनेंगे.

अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ (एआईएफएफ) ने वेंकटेश के हवाले से बताया, 'स्टीमाच के लिए सभी 23 खिलाड़ी बराबर हैं और हमारे पास हर पोजिशन के लिए बहुत सारे खिलाड़ी हैं. हमने देश के सर्वश्रेष्ठ 23 खिलाड़ी चुने हैं, हम हर किसी का उपयोग करना चाहते हैं और यह देखना चाहते हैं कि एक निश्चित स्थिति में वे कैसी प्रतिक्रिया देते हैं.'
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...