लाइव टीवी

फुटबॉल की दीवानी इस लड़की के आगे झुक गया इस्‍लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान

News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 5:33 PM IST
फुटबॉल की दीवानी इस लड़की के आगे झुक गया इस्‍लामिक रिपब्लिक ऑफ ईरान
सहर खोडयारी.

ईरान (Iran) के महिलाओं के मैच देखने को लेकर आए बदलाव की बड़ी वजह सहर खोडयारी (Sahar Khodyari) है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 5:33 PM IST
  • Share this:
ईरान (Iran) ने कंबोडिया (Combodia) के खिलाफ होने वाले फीफा वर्ल्‍ड कप (Fifa World Cup)के क्‍वालिफायर मुकाबले के लिए महिलाओं को मैच देखने की अनुमति दी है. इसके बाद 3500 महिला प्रशंसकों ने टिकट खरीदे हैं. पिछले महीने एक महिला फैन सहर खोडयारी (Sahar Khodayari)  ने भेष बदलकर मैच देखने की कोशिश की थी लेकिन सुरक्षाबलों ने उन्‍हें पकड़ लिया था. इसके बाद उन्‍होंने बेइज्‍जती से परेशान होकर खुद को आग लगा ली थी. इसके एक सप्‍ताह बाद उनकी मौत हो गई थी. ऐसे माहौल में फीफा ने क्‍वालिफायर मैच को लेकर ईरान के प्रशासन से बात की थी जिसमें उसे महिलाओं को मैच देखने की अनुमति देने का भरोसा दिलाया गया था.

1979 में ईरान में महिलाओं पर लगी थी पाबंदी
बता दें कि ईरान में 1979 में इस्‍लामिक क्रांति होने के बाद से पुरुषों के मैच महिलाओं को देखने पर पाबंदी थी. इस्‍लामिक क्रांति के नेताओं का कहना था कि महिलाओं को आधे-अधूरे कपड़े पहने पुरुषों को देखने से बचना चाहिए. ईरान के महिलाओं के मैच देखने को लेकर आए बदलाव की बड़ी वजह सहर खोडयारी है. उनकी मौत के बाद से ईरान पर काफी दबाव बढ़ा है. फीफा ने अभी अपने इवेंट से जुड़े मैचों को लेकर साफ किया कि इनमें महिलाओं से किसी तरह का भेदभाव नहीं किया जाएगा.

ईरान में महिलाओं पर पुरुष टीम के मैच देखने पर बैन है.


ब्‍ल्‍यू गर्ल के नाम से मशहूर हुई सहर
बता दें कि 29 साल की सहर अपने पसंदीदा फुटबॉल टीम का मैच स्‍टेडियम में देखना चाहती थी. इसके लिए उन्‍होंने भेष बदला और पुरुषों के कपड़े पहने. साथ ही अपने सिर पर नीले रंग की विग लगाई. लेकिन स्‍टेडियम पहुंचने से पहले ही वे गिरफ्तार कर ली गईं. अपने क्‍लब के नीले रंग की वजह से मौत के बाद वह ब्‍ल्‍यू गर्ल के नाम से मशहूर हो गई.

चुटकियों में बिके 3500 टिकट
Loading...

ईरान की सरकारी न्‍यूज एजेंसी इरना ने बताया कि महिलाओं के सेक्‍शन की 3500 टिकट चुटकियों में बिक गई. ईरान और कंबोडिया के बीच मुकाबला 78 हजार दर्शकों की क्षमता वाले आजादी स्‍टेडियम में खेला जाएगा. फीफा ने बताया था कि शुरुआत में महिलाओं के लिए 4600 टिकट जारी किए जाएंगे लेकिन अब उसका मानना है कि डिमांड को देखते हुए टिकटों की संख्‍या को बढ़ाना होगा.

महिलाओं के इंतजाम देखने डेलिगेशन भेजेगा फीफा
मैच से पहले महिलाओं की सुविधाओं को मॉनिटर करने के लिए फीफा एक डेलिगेशन भी भेजेगा. ईरान में महिलाओं को पुरुषों के मैच देखने के अधिकार को लेकर काम कर रहे 'द ओपन स्‍टेडियम' ग्रुप ने बताया कि मैच की टिकटों को लेकर ईरान के फुटबॉल बोर्ड ने कोई घोषणा नहीं की. महिला फैंस को सोशल मीडिया के जरिए टिकटों की बिक्री शुरू होने का पता चला था.

महिलाओं के पुरुषों के मैच देखने पर लगा बैन पिछले साल अस्‍थायी तौर पर हटाया गया था. नवंबर 2018 में तेहरान में एशियन चैंपियंस लीग के फाइनल में कुछ महिलाओं को मैच देखने की अनुमति दी गई थी. लेकिन ईरान और सीरिया के बीच जून में खेले गए मैच को देखने पर रोक लगा दी गई थी.

वीरेंद्र सहवाग के कमेंट से रवींद्र जडेजा हुए नाराज! गुस्‍से में दिया ऐसा जवाब

क्‍या रोहित के इस बयान के बाद पंत के लिए बंद हो गए टीम इंडिया के दरवाजे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 5:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...