लाइव टीवी

लगातार हार के बाद चेन्नइयन एफसी ने छोड़ा कोच जॉन ग्रेगरी का साथ

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 4:37 PM IST
लगातार हार के बाद चेन्नइयन एफसी ने छोड़ा कोच जॉन ग्रेगरी का साथ
चेन्नईयन एफसी दो बार आईएसएल खिताब जीत चुका है

चेन्नइयन एफसी (Chennaiyin FC ) आईएसएल (ISL) के मौजूदा सीजन में सबसे निचले स्थान पर है

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 4:37 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. इंडियन सुपर लीग (Indian Super League) में दो बार की चैंपियन चेन्नइयन एफसी (Chennaiyin Fc) ने शनिवार को मुख्य कोच जॉन ग्रेगरी (John Gregory) से नाता तोड़ने का फैसला किया जिनके मार्गदर्शन में टीम ने 2017-18 सत्र में खिताब जीता था. इंग्लैंड के 65 बरस के ग्रेगरी (John Gregory) के कोच रहते 2018-19 सत्र में टीम अंकतालिका में सबसे नीचे रही. मौजूदा सत्र में भी छह में से एक ही मैच जीत सकी है. दो ड्रॉ रहे और तीन मैच गंवाए.

क्लब ने किया ग्रेगॉरी के हटने का ऐलान
कल्ब ने बयान जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा, 'क्लब जॉन को उनकी सेवाओं के लिए शुक्रिया कहता है. उन्होंने शानदार काम करते हुए हमें दूसरी बार आईएसएल सुपर लीग खिताब जीते. इस जीत के साथ ही हम एफसी कप के लिए  क्वालिफाई करने वाला पहला आईएसएल क्लब बने और पहली बार एशियाई स्तर पर खेले. हम उनकी कोचिंग में ही 2019 सुपर कप के फाइनल में पहुंचे थे.'

isl, football news, chennayin fc,
जॉन ग्रेगरी दो साल से चेन्नइयन एफसी के कोच हैं


बयान में आगे लिखा गया, 'यह फैसला जॉन के साथ बातचीत के बाद किया गया और सभी इसमें शामिल हैं. सबसे बात करने के बाज ही टीम के भले के लिए फैसला किया गया.' साल 2018 में जीत हासिल करने के बाद अगले सीजन में टीम एफसी कप के लिए क्वालिफाई करने में नाकाम रही थी. हालांकि इसके बावजूद टीम ने ग्रेगॉरी में भरोसा दिखाया और उनका करार एक साल तक बढ़ा दिया.

कोच ने दे दिया था टीम से अलग होने का इशारा
ग्रेगॉरी (John Gregory)  ने टीम से अपने अलग होने का इशारा तभी दे दिया था जब टीम 10 नवंबर को बेंगलुरु एफसी से 0-3 हार गई थी. उन्होंने मैच के बाद कहा था कि अभी समय है कोई और टीम की जिम्मेदारी संभाले. उन्होंने अपने बयान में कहा था, 'मुझे लगता है कि अब समय आ गया है कि मैं टीम के मालिक के साथ बैठकर आगे के बारे में बात करूं. उन्होंने हमेशा मेरा समर्थन किया है लेकिन हम इस तरह जारी नहीं रख सकते. अभी हमें ब्रेक के बाद 14 गेम खेलने है लेकिन मुझे नहीं लगता इस तरह से कोई बदलाव आने वाला है. कुछ करना होगा. मैंने दो साल तक यह जिम्मेदारी उठानी है और यह आसान नहीं है.'
Loading...

सरफराज अहमद का खुुलासा, दिमाग पर पड़ने लगा था पाकिस्तानी टीम की कप्तानी का असर

वॉर्नर के तिहरा शतक जड़ते ही रोईं उनकी पत्नी, आंसूओं के पीछे टॉयलेट कांड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 4:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...