लाइव टीवी

ISL 2019-20: फाइनल में एटीके के सामने होगी चेन्नई, तीसरी बार खिताब जीतने उतरेंगी दोनों टीमें

News18Hindi
Updated: March 14, 2020, 4:30 PM IST
ISL 2019-20: फाइनल में एटीके के सामने होगी चेन्नई, तीसरी बार खिताब जीतने उतरेंगी दोनों टीमें
आईएसएल का फाइनल रविवार को खेला जाएगा

एटीके (ATK) और चेन्नइयन एफसी (Chennayin FC) फाइनल में पहुंचने के बाद अब तक एक बार भी नहीं हारे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 14, 2020, 4:30 PM IST
  • Share this:
गोवा. हीरो इंडियन सुपर लीग (ISL) का छठा सीजन समाप्त होने को है. इसका अंतिम यानि फाइनल मुकाबला दो बार के चैम्पियन क्लबों-एटीके एफसी (ATK) और चेन्नइयन एफसी (Chennayin FC) के बीच शनिवार को जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम (Jawaharlal Nehru) में खेला जाएगा.

दो-दो बार यह खिताब जीतने के बाद एटीके (ATK) और चेन्नइयन अब तीसरे खिताब के साथ इतिहास में अपना नाम दर्ज कराना चाहेंगे और इसके लिए फातोर्दा में जोरदार भिड़ंत की उम्मीद है. कोरोनावायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए फाइनल मुकाबला बंद दरवाजों के बीच खेला जाएगा. इस मैच में कोई दर्शक नहीं होगा.

एटीके ने दो चरण के सेमीफाइनल में मौजदा चैम्पियन बेंगलुरु एफसी (Bengaluru FC) को हराया था जबकि चेन्नइयन एफसी (Chennayin FC) ने एफसी गोवा को हराते हुए तीसरी बार फाइनल में जगह बनाई है. दोनों क्लब लीग इतिहास में पहली बार फाइनल में आमने-सामने हैं. मजेदार बात यह है कि दोनों फाइनल में पहुंचने के बाद अब तक एक बार भी नहीं हारे हैं.



एटीके के सामने वापसी करने में माहिर चेन्नइयन एफसी



एटीके ने लगातार अच्छा प्रदर्शन करते हुए फाइनल का टिकट कटाया है वहीं चेन्नइयन (Chennayin FC) ने दूसरे हाफ के बाद वापसी करते हुए फाइनल में पहुंचने का गौरव हासिल किया. नए मैनेज ओवेन कोएल ने दिसम्बर की शुरुआत में इसका चार्ज सम्भाला था और तब से इस टीम ने आठ मैच जीते. कोएल के आने से पहले चेन्नइयन एफसी ने सिर्फ एक मैच जीता था.

अब कोएल ने चमत्कार कर दिखाया है. चेन्नइयन एफसी के लिए नेरीजुस वाल्सकिस (Nerijus Valskis) काफी अहम साबित होंगे क्योंकि इस खिलाड़ी के नाम 14 गोल हैं. वह तथा रफाएल क्रीवेलारो (Rafael Crivellaro) ने इस टीम के लिए कई मौकों पर अहम प्रदर्शन करते हुए हार को जीत में बदला है. विंगर लालियानजुआला चांग्ते (Lallianzuala Chhangte) भी इस टीम के लिए अहम कड़ी हैं. खासतौर पर बीते तीन मैचों में उनका प्रदर्शन सराहनीय रहा है. वह प्लेऑफ के दोनों लेग में गोल करने वाले पहले भारतीय बन चुके हैं.

कोएल ने कहा, ‘मेरे मन में एटीके के लिए काफी सम्मान है. इनके पास कई क्वालिटी खिलाड़ी हैं. हम अपने स्टाइल के मुताबिक खेलेंगे क्योंकि हम मानते हैं कि इसी तरह हम मैच जीत सकते हैं. हम दबाव में हैं क्योंकि हम फाइनल में हैं और हम दबाव में रहना चाहते हैं क्योंकि दबाव में ही हम अच्छा खेलते हैं. यह टीम जब फोकस्ड रहती है और अपने खेल पर ध्यान लगाती है तो हमारी क्वालिटी निखरकर सामने आती है.’

रॉय कृष्ण टीम की सबसे बड़ी ताकत
दूसरी ओर, एटीके मुख्य रूप से रॉय कृष्णा (Roy Krishna) और डेविड विलियम्स (David Williams) की कलाकारी पर आश्रित होगा. रॉय के नाम 15 गोल हैं और वह गोल्डन बूट की दौड़ में मजबूती से शामिल हैं. विलियम्स भी इस सीजन में समान रूप से खतरनाक दिख रहे हैं. बेंगलुरू के खिलाफ प्लेऑफ में विलियम्स ने दो गोल किए थे. इसके अलावा मिडफील्ड में इदु गार्सिया और जेवियर हर्नांदेज की अहम भूमिका होगी. विंग बैक प्रबीर दास इस टीम के शानदार अटैकिंग ऑप्शन बनकर सामने आए हैं.

साल 2014 में एटीके को खिताब दिलाने वाले कोच एंटोनियो हाबास ने कहा, ‘हमें फाइनल का लुत्फ लेना होगा और इसे जीतना होगा साथ ही हमें विपक्षी टीम का सम्मान भी करना होगा. हमारे पास अपनी उपयोगिता साबित करने के लिए 90 मिनट होंगे और यह बात जेहन में रखना होगा कि किसी किसी खिलाड़ी को अपने पूरे करियर में दोबारा आईएसएल फाइनल खेलने का मौका नहीं मिलेगा.’

एटीके का मनोबल ऊंचा है क्योंकि उसने लीग स्तर पर चेन्नइयन को हराया है लेकिन इससे मैच के परिणाम पर कोई असर शायद ही पड़े क्योंकि शनिवार को जो जीतेगा वही सिकंदर कहलाएगा और अपना नाम इतिहास में दर्ज कर सकेगा.

BCCI से नहीं मिला अबतक इनाम, लेकिन भारतीय वायुसेना ने किया इस क्रिकेटर का सम्मान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फुटबॉल से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 14, 2020, 2:06 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading