बार्सिलोना छोड़ने पर मेसी पर लग सकता है बैन, इस वजह से फीफा को उठाना पड़ेगा यह कदम

बार्सिलोना छोड़ने पर मेसी पर लग सकता है बैन, इस वजह से फीफा को उठाना पड़ेगा यह कदम
नई दिल्‍ली. अपनी जिंदगी के करीब 20 साल बार्सिलोना क्‍लब के साथ गुजारने के बाद दुनिया के स्‍टार फुटबॉल खिलाड़ी लियोनल मेसी ने क्‍लब का साथ छोड़ने का फैसला कर लिया है.

लियोनल मेसी (Lionel Messi) अपने पूरे करियर के दौरान केवल बार्सिलोना (Barcelona) की ओर से ही खेलते आए हैं. पिछले कुछ समय से उनके क्लब छोड़ने की चर्चा चल रही है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 27, 2020, 10:35 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. फुटबॉल की दुनिया में इन दिनों दिग्गज खिलाड़ी लियोनल मेसी (Lionel Messi) का बार्सिलोना (Barcelona) छोड़ना सबसे बड़ा चर्चा का विषय बना हुआ है. खबरों की मानें तो लियोनल मेसी क्लब छोड़ने का मन बना चुके हैं और पत्र लिखकर मैनेजमेंट को इसकी जानकारी भी दे दी है. हालांकि यह इतना आसान नहीं होने वाला है. बार्सिलोना नहीं चाहता कि मेसी उनका साथ छोड़े और अगर वह तैयार नहीं होता है तो मेसी (Lionel Messi) की स्थिति काफी खराब हो जाएगी और फीफा उन पर बैन तक लगा सकता है.

क्लब और मेसी दोनों के पास है कोर्ट जाने का विकल्प
मेसी (Lionel Messi) के साथ परेशानी यह है कि बार्सिलोना नहीं चाहता कि वह जाएं. इस वजह से वह उन्हें सीधे तरीके से ट्रांसफर नहीं लेने देगा. स्पोर्ट्स वकील ने इस स्थिति के बारे में बात करते हुए कहा, 'मेसी अर्जेंटीना की ओर से खेलते हैं और वहीं के रहने वाले हैं. इस कारण उनके मामले में स्पेनिश रूल, इंग्लिश कानून नहीं बल्कि फीफा के कानून मान्य होंगे. अगर क्बल उन्हें फ्री ट्रांसफर नहीं देता है तो खिलाड़ी औऱ क्लब दोनों में से कोई भी कोर्ट ऑफ अर्बिट्रेशन (Court Of Artibution) जा सकता है जहां आमतौर पर इस तरह के मामलों के फैसले किए जाते हैं.'

फीफा के नियमों के कारण लग सकता है बैन
निक ने आगे बताया कि एक और तरीका है जिससे मेसी बार्सिलोना छोड़ सकते हैं. वह सीधे तौर पर जाकर क्लब से कह सकते हैं कि क्लब अपनी मर्जी से छोड़ सकते हैं और छोड़ रहे हैं. हालांकि यह विकल्प उन्हें काफी महंगा पड़ सकता है. निक ने बताया, 'आमतौर पर फीफा खिलाड़ी के क्लब छोड़ने के फैसले का समर्थन करती है लेकिन अगर क्लब आगे आता है अपनी बात सही साबित करने में कामयाब होता है तो न सिर्फ खिलाड़ी (मेसी) को सारे नुकसान की भरपाई करनी होगी बल्कि फीफा के नियमों के मुताबिक उनपर कुछ समय के लिए उनपर बैन भी लग सकता है.'



20 सालों से बार्सिलोना से जुड़े  हैं मेसी
मेसी के मौजूदा करार में 826 मिलियन अमेरिकी डॉलर (करीब 62 अबर रुपये) का है और जून 2021 तक कायम रहने वाला है. इससे पहले अगर वह क्लब छोड़ते हैं तो उनके लिए मुश्किलें बढ़ना तय है. मेसी ने क्लब के साथ 2017 में करार बढ़ाया था, जो जून 2021 में खत्म होगा. 33 वर्ष के मेसी सिर्फ 13 वर्ष की उम्र में ही (Barcelona) के लिए खेलने लगे थे. यानी वो पिछले 20 वर्षों से इस क्लब का हिस्सा रहे हैं. बार्सिलोना उन्हें फीस के तौर पर हर साल 593 करोड़ रुपये देता है. मेसी ने बार्सिलोन के लिए 731 मैच खेले हैं, जिनमें उन्होंने 634 गोल किए हैं जिसमें 48 हैट्रिक्स शामिल हैं. 285 गोल्स को असिस्ट किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज