Love Story : कोच की बेटी से 13 साल चला अफेयर, फोन टूटने से सामने आया खूबसूरत सच, ऐसी है छेत्री की कहानी

सुनील छेत्री और उनकी पत्नी सोनम छेत्री
सुनील छेत्री और उनकी पत्नी सोनम छेत्री

सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) अपने बचपन के कोच सुब्रत भट्टाचार्य की बेटी से प्यार करते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2020, 3:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय फुटबॉल टीम के पोस्टर बॉय सुनील छेत्री (Sunil Chhteri) दिखने में जितने सरल और साधारण लगते हैं मैदान पर उतने आक्रमक और तेज हैं.  अगर बात करें प्यार की तो इस मामले में छेत्री छिपे रुस्तम हैं. छेत्री के फुटबॉल जीवन में उनके कोच सुब्रत भट्टाचार्य (Subrat Bhattacharya) का अहम रोल रहा जिन्होंने उन्हें मोहन बगान (Mohan Bagan) में खेलते हुए ट्रेन किया. अपने प्रदर्शन के दम पर ही वह पहले भारतीय टीम में जगह बना पाए और फिर कप्तान भी बने. जहां उनके करियर की डोर कोच सुब्रत के हाथों में थी वहीं प्यार की डोर वह सुब्रत की ही बेटी सोनम के हाथ सालों पहले थमा चुके थे. हालांकि इस बारे में सोनम के पिता और सुनील के कोच सुब्रत को 13 साल तक पता नहीं लगा.

15 साल की छोटी सी उम्र में छेत्री के प्यार में थी सोनम
सोनम बहुत छोटी सी उम्र से ही छेत्री को पसंद करती थी. इसकी वजह भी उनके पिता ही थे जो घर आकर सुनील के खेल की जमकर तारीफ करते थे. सोनम को सुनील से बात करने की इच्छा हुई तो उन्होंने अपने पिता के फोन से नंबर ले लिया. उन्होंने छेत्री के नंबर पर मैसेज किया और लिखा, 'हाय, मैं सोनम हूं, मैं आपकी बड़ी फैन हूं और आपसे मिलना चाहती हूं'. छेत्री (Sunil Chhetri) सोनम (Sonam Chhetri) से मिलने के लिए मान गए लेकिन मिलकर जब उन्हें पता चला कि सोनम 15 साल की हैं तो उन्होंने कहा,' तुम अभी बच्ची हो, तुम्हें पढ़ाई करनी चाहिए'. छेत्री (Sunil Chhetri) ऐसा कहकर वहां से चले गए लेकिन बातचीत करना बंद नहीं किया. सोनम कोच सुब्रत की बेटी हैं यह पता लगने में छेत्री को काफी समय लग गया.

कोच के कारण सोनम को छोड़ना चाहते थे छेत्री
एक दिन कोच सुब्रत (Subrat Bhattacharya) का फोन खराब हो गया और उन्होंने छेत्री (Sunil Chhetri) से फोन ठीक कराने को कहा. सोनम (Sonam Chhetri) ने अपने पिता को कॉल किया तो छेत्री (Sunil Chhetri) को पता चला वह जिससे बात करते हैं वह उनके कोच की बेटी है. छेत्री डर गए कि कहीं इसका असर उनके करियर पर न पड़े. इस कारण उन्होने सोनम से बात न करने का फैसला किया. हालांकि छेत्री (Sunil Chhetri) सोनम को दिमाग से नहीं निकाल पाए और दोनों की बातचीत फिर से शुरू हो गई. धीरे-धीरे दोनों मिलना शुरू किया.



छेत्री (Sunil Chhetri) ने बताया कि वह साल में केवल दो या तीन बार ही मिल पाते थे. मिलते समय वह ध्यान रखते थे कि किसी को इस बारे में पता न चले. हालांकि वक्त के साथ-साथ यह रिश्ता और गहरा होता गया. छेत्री ने सोनम के साथ अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए कहा, 'जब मेरे पास कुछ नहीं था तब वह मेरे साथ थी. जब मैं पहली बार जीता तब वह मेरे साथ थी, मेरी पहली हार में वह मेरे साथ थी. मैं उनके बिना अपनी जिंदगी के बारे में नहीं सोच सकता. सोनम कहती हैं कि वह आज भी मेरी सबसे बड़ी फैन है.'

13 साल बाद कोच के सामने किया रिश्ते का खुलासा
जब छेत्री ने फुटबॉल जगत में अपना नाम बना लिया अपनी पहचान बना ली उसके बाद उन्होंने तय किया कि वह सोनम के साथ रिश्ते को आगे बढ़ाएंगे. छेत्री (Sunil Chhetri) ने कोच से बात करने की ठानी. उन्होंने कोच को बताया कि वह और सोनम (Sonam Chhetri) एक-दूसरे से प्यार करते हैं और शादी करना चाहते हैं. कोच ने दोनों के रिश्ते को कबूला. सगाई के समय छेत्री ने घुटने के बल बैठकर सोनम को रिंग पहनाई थी. साल 2017 में दोनों शादी के बंधन में बंध गए.

Love Story : पहले कोच बने फिर हमसफर, अंजू के सपनों के लिए छोड़ दिया अपना करियर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज