जिसे भारत के लिए खेलना था वर्ल्ड कप अब भुखमरी से लड़ रही है जंग, दाने-दाने को हो गई मोहताज

जिसे भारत के लिए खेलना था वर्ल्ड कप अब भुखमरी से लड़ रही है जंग, दाने-दाने को हो गई मोहताज
अंडर17 महिला फुटबॉल टीम का कैंप फिलहाल बंद है

सुधा अंकिता (Sudha Ankita) फीफा अंडर17 वर्ल्ड कप (Fifa U17 World Cup) के ट्रेनिंग कैंप का हिस्सा हैं

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) को इस साल फीफा अंडर17 वर्ल्ड कप (Fifa U17 World Cup) का आयोजन करना था. हालांकि कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण इसे टाल दिया गया है. भारतीय टीम इसके लिए ट्रेनिंग कैंप की शुरुआत कर चुकी थी जिसमें से संभावित 18 चुने जाने थे. जिन खिलाड़ियों का चयन लगभग तय था उनमें रांची की सुधा अंकिता भी शामिल थीं. अंकिता हाल ही में टर्की में अभ्यास मैच खेल कर लौटी हैं. हालांकि जो खिलाड़ी इस समय वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होती वह फिलहाल गांव में अपने परिवार के साथ दाने-दाने के लिए गांव वालों की मदद की मोहताज है. सुधा का पूरा परिवार भूख से जंग लड़ रहा है. पिछले साल कोल्हापुर (महाराष्ट्र) में जूनियर नेशनल चैंपियनशिप के दौरान सुधा का चयन इंडिया कैंप में हुआ था.

कोरोना वायरस में काम ठप्प पड़ने से बढ़ीं मुश्किलें
सुधा के पिता का निधन कुछ साल पहले हो गया था. इसके बाद सुधा की मां अपनी दोनों बेटियों के साथ दानापुर आ गईं और लोगों के घरों में काम करना शुरू किया. इसी तरह दोनों बेटियों का खर्च उठाती थीं. वह मिशनरी स्कूल के शिक्षकों के घर पर काम करती थीं जिससे खाने का इंतजाम हो जाता था. हालांकि अब उनकी स्थिति ऐसी है कि वह एक वक्ते के खाने के लिए भी गांव वालों पर निर्भर है. खाना तब बनता है जब कोई उन्हें राशन दे जाए. ऐसे समय में जब सुधा को डाइट की जरूरत है तो वह एक समय के खाने के लिए भी तरह रही हैं. लॉकडाउन के कारण काम ठप्प हो गया है.

ललिता तिर्की ने हिंदुस्तान को बताया कि उन्होंने कुछ दिन पहले राशन कार्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन किया था. अप्रैल के बाद उन्हें 10 किलो चावल मिला. हालांकि अब उन्हें वह भी नहीं मिल रहा है. मदद के लिए सुधा दो घंटे का सफर करने अपने मामा के घर खोडहा गांव गई थीं, लेकिन वहां से भी खाली हाथ लौट आई. हालांकि उम्मीद की जा रही है कि उन्हें जल्द ही मदद मिलेगी. गुमला जिले का फुटबॉल संघ उनकी मदद के लिए आगे आने वाला है.
हर हाल में आईपीएल रद्द कराना चाहता है पाकिस्तान, आईसीसी बैठक से पहले चली ये 'नापाक' चाल



न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड का बड़ा फैसला, कोरोना से हुए नुकसान की भरपाई के लिए उठाया यह कदम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज