Sparkassen Chess Trophy: विश्वनाथन आनंद खिताब के काफी करीब, अंतिम बाजी में ड्रॉ की जरूरत

विश्वनाथन आनंद ने 61 चाल तक चली बाजी में अंक बांटकर 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है. pc @ManikaRaikwar twitter

विश्वनाथन आनंद (Viswanathan Anand) ने चार बाजियों के मैच में रूस के व्लादीमीर क्रैमनिक के खिलाफ तीसरी बाजी ड्रॉ खेली. भारतीय स्टार ने 61 चाल तक चली बाजी में अंक बांटकर 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है.

  • Share this:
    डोर्टमंड. पूर्व विश्व चैंपियन विश्वनाथन आनंद (Viswanathan Anand) ने स्पार्कसन शतरंज ट्रॉफी की चार बाजियों के मैच में रूस के व्लादीमीर क्रैमनिक के खिलाफ तीसरी बाजी ड्रॉ खेली. भारतीय स्टार ने 61 चाल तक चली बाजी में अंक बांटकर 2-1 से बढ़त हासिल कर ली है. इससे वह आखिरी बाजी में बेहतर स्थिति के साथ उतरेंगे, जिसमें उन्हें केवल ड्रॉ की जरूरत है.

    इस इंग्लिश डिफेन्स बाजी में आनंद सफेद मोहरों से खेल रहे थे. एक बार वह बेहतर स्थिति में भी थे और उन्होंने रूसी खिलाड़ी पर दबाव बना रखा था. क्रैमनिक ने हालांकि हार नहीं मानी और आखिर में बाजी ड्रॉ कराने में सफल रहे. इन दोनों पूर्व विश्व चैंपियन के बीच बुधवार को दूसरी बाजी भी ड्रा रही थी। भारतीय दिग्गज ने मंगलवार को पहली बाजी में जीत दर्ज की थी.

    यह भी पढ़ें : 

    Tokyo Olympics 2020: ऑस्ट्रेलियाई दल प्रमुख ने कहा, कोविड संक्रमित खिलाड़ियों के नहीं बताए गए नाम

    एंडरसन और ब्रूक्सबी में होगा हॉल ऑफ फेम ओपन का खिताबी मुकाबला

    इस मुकाबले में खिलाड़ी ‘कैसलिंग’ नहीं कर सकते हैं. क्रैमनिक ने खेल को अधिक रोचक बनाने के लिये इस तरह का प्रारूप तैयार किया है. ‘कैसलिंग’ राजा को बचाने और हाथी को सक्रिय खेल में शामिल करने के लिये एक विशेष चाल होती है. शतरंज में केवल ‘कैसलिंग’ करते समय ही खिलाड़ी एक चाल में दो मोहरों को चल सकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.